घिर गया चुदाई की दलदल में

antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta Chudai Hindi Sex हाय दोस्तों मेरा नाम कुलजीत है में पंजाब की रहने वाली हूँ और मेरी उम्र 32 साल है में अपनी लाइफ की एक सच्ची घटना लिखने जा रही हूँ यह स्टोरी आज से 1 महीने पहले की है मेरे पति आर्मी में है और मेरे एक बेटा भी है 6 साल का और में अपने बेटे के साथ अकेली रहती हूँ मेरे ससुर भी है लेकिन वो हमारे घर के बाहर के कमरे में रहते है मेरी सास मर चुकी है पति साल में एक या दो बार आते है में अकेली होने की वजह से एक स्कूल में जॉब करती हूँ स्कूल काफ़ी बडा है शहर का नामी स्कूल यह स्टोरी स्कूल के मालिक के बेटे ओर मेरे बीच के सेक्स की है जो 1 महीने पहले घटी हुई है आगे की स्टोरी अब बता रही हूँ.
मेरे मालिक का बेटा अभी 21 साल का है और वो जब भी पढाई से फ्री होता है तो वो हमारे यहा स्कूल में आता रहता है यह स्टोरी शुरू होने से पहले में अपने बारे में बता दूँ में रियल पंजाबन हूँ में बहुत स्लिम हूँ और बूब्स का साइज़ 38-34-36 है में अपनी बॉडी को बहुत मेनटेन रखती हूँ बॉडी सेक्स के पहले मेरी कोई इच्छा नही थी पराये मर्द के साथ सेक्स की लेकिन जब से यह हादसा हुआ तो बस अब हर दिन उनकी बाहों में गुज़रता है इनफेक्ट इसके बिना में भी मुझे उसने ही बताया.
अब स्टोरी पर आती हूँ इस घटना से पहले मुझे स्कूल की तरफ से एक काम मिला जो मुझे सर के बेटे के साथ मिल कर पूरा करना था ये काम था डांस कॉम्पीटिशन का इसमे हमको स्कूल की ऐसी टीम तैयार करनी थी जो पक्का इसको जीत सके और हमारे स्कूल के प्रिन्सिपल को एक लोकल स्कूल ने चेलेन्ज किया था की आपकी टीम नही जीत पायेगी तो हम डेली एक साथ काम करते और काफ़ी बात होती तो डांस भी सीखाते और एक साथ डांस भी करते उसका नाम रोहित था बट मुझे उनको रोहित सर कहना पड़ता था और वो भी तो हमारे मालिक ही थे वेसे में 32 साल की की थी और वो 21 के फिर भी चलो में ऐसे ही बुलाती थी और अब हमारे बीच बीच में बच्चो को कपल डांस भी सीखाना पड़ता जो हम एक दूसरे से चिपक कर भी करते और हम दोनो के मन में ग़लत फीलिंग नही थी में लेट नाइट तक प्लान करती रहती उनके साथ और मुझे घर में पति ना होने की वजह से कोई प्रोब्लम नही आती थी.
हमने बहुत मेहनत की और इसका रिज़ल्ट हमारी टीम जीत गयी यह एक स्टेट लेवेल का कॉम्पीटिशन था और हमारे बड़े मालिक की तरफ से एक शानदार नाइट पार्टी रखी गयी तो में उस पार्टी में साड़ी और डीप गले वाला ब्लाउज पहन के गयी मुझे मेरे टीम पार्ट्नर कही नही दिखे तो मेने बड़े सर से पूछा तो उन्होने कहा की उपर रूम में होगा में रूम में गयी तो वो मुझे गले लगकर मिले बोले कुलजीत में आज बहुत खुश हूँ खुश में भी बहुत थी मेने उनसे कहा सेम हियर सर तो हम अलग हो गये तो हम एक साथ नीचे आये हमे सभी ने बधाई दी और फिर हम डांस फ्लोर पर चले गये वहा जाकर हमने डांस किया फिर हम दोनो उनकी छत पर चले गये.
वहा पर हम बिल्कुल अकेले थे असल में उनकी छत का रास्ता उनके कमरे के बीच में से जाकर आता था वहा पर उन्होने ड्रिंक मंगवा ली एक ग्लास खुद ने उठा लिया एक मुझे दिया गाने की धुन नीचे चल रही थी ऊपर हल्की हल्की आवाज़ आ रही थी वेसे तो में पीती नही कभी लेकिन आज खुशी बहुत थी और सर ने भी ज्यादा कहा तो मेने भी ग्लास उठा लिया हम पीने लगे मेने एक ही पैक पीया पर सर ने 2-3 उन्होने कहा बधाई हो कुलजीत आपकी वजह से जीते है हम और मुझे बाहों में ले लिया हम दोनो को ड्रिंक का सुरूर था तो मेने भी कस के पकड़ लिया उनको तो हम ऐसे ही खड़े खड़े बातें करने लगे में उनकी बाहों में थी और उन्होने छोड़ रखा था फिर वो अपने हाथ से मेरी पीठ सहलाने लगे मुझे मज़ा आ रहा था हम वही पर खड़े खड़े एक दूसरे को देखने लगे बस फिर उन्होने नशे में ही मेरे होंठो पर अपने होंठ रख दिये.
फिर में भी रेस्पोंस देने लगी क्योकी मुझे भी मज़ा आ रहा था लेकिन मुझे बिल्कुल होश नही था की में पराये मर्द के साथ यह सब कर रही हूँ बस फिर क्या था हम दोनो के कदम थिरकते गये शायद उनके इसलिये की उनका पहली बार था लेकिन पराया मर्द किसी की औरत को क्यों चोदेगा और मेरे तो इसलिये क्योंकी मेने काफ़ी टाइम से किया नही था वो काफ़ी टाइम तक किस करने के बाद मुझे उठा के बेडरूम में ले गये बस मेरी साड़ी उतार दी मुझे पूरी नंगी कर दिया और खुद भी पूरे नंगे हो गये और वो मेरे बूब्स को कभी चूसता कभी काटता वो कहने लगा कुलजीत डार्लिंग तू बड़ी सुन्दर है इतनी उम्र में भी तेरा शरीर नई नवेली दुल्हन की तरह हो रहा है वो काफ़ी ज़ोर से दबा रहे थे उनका लंड खड़ा हो गया था जब मेने लंड को टच किया तो काफ़ी बडा था वो मेरे बूब्स चूसते गये और मेरी चूत को रगड़ते गये.
मुझे काफ़ी मज़ा आ रहा था फिर अचानक उन्होने मुझे कहा कुलजीत डार्लिंग आज जल्दी जल्दी करवा ले यहा कोई आ ना जाये तो वो मेरे उपर चड के लंड मेरी चूत पर रखते हुये धक्का मारा जिससे उनका आधा लंड ही गया और मेरी चीक निकल गयी काफ़ी दर्द भी हुआ मुझे फिर वो रुक गये और बूब्स ओर लिप्स चूसने लगे ऐसा उन्होने काफ़ी बार किया फिर धक्के लगाने स्टार्ट करते तो धीरे धीरे मुझे भी मज़ा आने लगा इस तरह उन्होने मुझे चोदा 2 घंटे तक फिर हम कपड़े पहन के नीचे पार्टी में आ गये यह सब हमने जानबूझ के तो नही किया था लेकिन अब हमारा दिल नही लगता था एक दूसरे के बिना। दोस्तों हमने कुल 10 बार इस महीने में सेक्स किया है