चुद गई वर्षा मेडम

antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta वर्षा मेडम जैसे ही शहद ले के आई मैंने उनसे बोतल ले ली. वो अपनी गांड को निचे रख के मस्त बैठ गई और मैंने शहद निकाल के उनके चुन्चो पर लगाना चालू किया. उनके मुहं से सिसकी निकल पड़ी जब मैंने शहद लगी चुंचियां अपने मुहं में डाली. मैं चुंचियां और निपल्स चाटने लगा. मेडम की उंगलियाँ चद्दर को मरोड़ रही थी और उनकी साँसे बढ़ने लगी थी. वो आह आह की आवाज निकाल रही थी और मैं चुन्चियों को मस्ती से चाट रहा था. फिर मैंने एक बूंद शहद उनकी नाभि में और दो बूंद उनकी चूत पर डाला. फिर मैं नाभि को चाटने लगा और अपनी ऊँगली से चूत पर शहद को मलने लगा. वर्षा मेडम की सिसकियाँ बढती ही चली गई. जब मैंने अपनी जबान को चूत में डाला तो वो मेरे बालों को पकड के अपने ऊपर दबाने लगी. मैंने पूरी जबान चूत में डाल दी और मीठे मीठे स्वाद को चखने लगा. मेडम अपनी चुंचियां पकड के दबाने लगी और वो निपल्स को कस के दबोच रही थी जैसे की उसमे से दूध निकालना हो.

मैं ५ मिनिट और उनकी चूत को चूसता रहा. मेडम बहुत ही चुदासी हो गई थी और वो आह आह ईई ईई की आवाजें अपने मुहं से निकालती जा रही थी. मैंने अब अपने लंड को मेडम के मूहं के सामने रख दिया. मेडम खूब समझती थी की खड़े लंड को क्या चाहिए होता हैं. उसने लंड को प्यार से किस किया. मैंने कहा, मेडम मुझे भी शहद का मजा दो ना.

मेडम यह सुन के हंस पड़ी और बोली, क्यूँ नहीं मेरी जान.

और उसने मेरे लंड के ऊपर शहद डाला कुछ ८-९ बुँदे. और फिर उन्होंने अपने मुहं को खोल के आधे से ज्यादा लंड को मुहं में दबा लिया. अब वो लंड को अपने मुहं में चलाने लगी थी. मुझे कितना मजा आ रहा था वो तो मैं आप को बता ही नहीं सकता हूँ. मेडम लंड को आगे पीछे कर के चूसने लगी और साथ ही में वो मेरे टट्टे भी दबा रही थी. टट्टे दबने से मुझे एक मीठा मीठा दर्द हो रहा था और मैंने मेडम के माथे को पकड़ लिया. अब मैं अपने लंड को उसके मुहं में ठोकने लगा था. मेडम के मुहं में पूरा लंड डाल के मैं उसे एक झटके में निकालने लगा. मेडम भी सटीक खिलाडी थी लंड चूसने की. वो पूरा लंड अंदर ले के बड़े ही सेक्सी तरीके से उसके ऊपर अपनी जबान को घुमाती थी. जब जबान सुपाड़े पर फिरती तो मुझे स्वर्ग सा अहसास होता था. मेडम के बाल पकड के मैं उसे अपने लंड का स्वाद अंदर तक दे रहा था. मेडम के होंठो के ऊपर लंड की चिकनाहट और शहद का मिश्रण बड़ा मस्त लग रहा था.

अब मैंने अपने लंड को मेडम के मुहं से निकाला. मेडम ने कहा. पहले धो लेते हैं नहीं तो शहद की चिपचिपाहट से मजा नहीं आयेंगा.

हमने बाथरूम जाके चूत और लंड को धोया. मैंने मेडम को चुंचियां नहीं धोने दी. मैं चुंचियां चाट के चोदने वालों में से हूँ.

अब हम फिर से बिस्तर में आ गए. मैंने अपनी ऊँगली मेडम की चूत पर रख दी और उसे जोर जोर से हिलाने लगा. मेडम की चूत फिर से पानी देने लगी और मैं चूत के दाने को पकड के उसे दबाते हुए मेडम की चूत को और भी जोर जोर से हिलाने लगा. मेडम की आहें अब बहुत ही बढ़ने लगी थी. मैं चुंचियां चूसने लगा और मेडम का हाथ मेरे लंड पर आ गया.

अब मुझे इतना मत तडपाओ, डाल दो इसे मेरे अंदर अभी…मेडम लंड को मरोड़ के बोली.

मैं फट से उठा और मेडम की चूत के ऊपर लंड को सेट कर दिया. मेडम ने अपने हाथ से डंडा पकड़ा और उसे चूत के छेद पर सेट कर दिया. मेडम की चूत बहुत ही गरम थी. मैंने जैसे ही एक झटका मारा मेडम की आह निकली और लंड को उसके इर्दगिर्द गरम गरम लगने लगा था. मेडम ने मुझे कस के अपनी बाहों में भर लिया और मैंने एक और झटके में मेडम की चूत के अंदर पुरे का पूरा लंड घुसेड दिया. मेडम को मेरा झटका इतना पसंद आया की वो मुझे लिप किस देने लगी. मैं मेडम के होंठो को चूसते हुए लंड को धीरे धीरे चूत के अंदर बहार करने लगा. मेडम की टाँगे पूरी फैला दी थी इसलिए लंड उसकी बच्चेदानी तक जाके लग रहा था और मेडम को भी बहुत ही मजा आ रहा था.

५ मिनिट आहिस्ता आहिस्ता पेलने के बाद अब मैंने लंड को मेडम की चूत में जोर जोर से डालना चालू कर दिया. मेडम की आहें बढ़ने लगी थी. मैंने चुंचियां मुहं में ली और मेडम की कमर को पकड के और भी जोर से ठोकने लगा. मेडम की चूत में मेरा लंड घर्षण डाल रहा था जिसे मेडम अपनी चूत को दबा के और भी हार्ड बना रही थी. उसके ऐसा करने से मुझे और भी उत्तेजना हो रही थी. मेडम भी अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर रगड़ रही थी जैसे. मैं और भी जोर जोर से अपने लंड को मेडम की चूत में जोर जोर से फेंटने लगा. मेडम की चूत से झाग निकल के मेरे लंड पर आ गया था. वो भी बड़ी हॉट हो गई थी अब तो और मुझे जोर जोर से चोदने को कह रही थी.

करीब १० मिनिट और चुदाई के बाद मैंने अपने लंड का पानी निकला मेडम की चूत के अंदर ही. उन्होंने अपनी चूत को मेरे लंड पर कस के दबा दिया ताकि सब पानी अंदर ही रहे. फिर मैंने उनकी चुंचियां चुसनी चालु कर दी. मेडम आह आह करती हुई अपना पानी भी निकालने लगी थी अब. जब हम दोनों का पानी मिला तो बड़ा ही मजा आया उसे और उसने मुझे फिर से लिप किस कर लिया.

अब हम दोनों उठ के नहाने चले गए. बाथटब में ही मैंने मेडम की चूत को फिर से चाटा और वही बाथरूम में मैंने एक बार और मेडम की चुदाई कर दी. उस दिन के बाद तो हम जैसे एक कपल ही हो गए हैं. जब भी उसकी चूत में खुजली होती हैं वो मुझे चोदने के लिए कहती हैं. अगर उसका घर खाली रहा तो ठीक नहीं तो वो अपना मुहं ढांक के मेरे बाइक पर होटल में भी आ जाती हैं…!