प्रेमिका को घोड़ी बनाकर चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम वसीम है. ये कहानी मेरे दोस्त फय्याज और उसकी गर्लफ्रेंड रेशमा की है. antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta Chudai Hindi Sex मेरे दोस्त फय्याज की स्टेशनरी की शॉप गर्ल्स कॉलेज के पास है, एक लड़की रेशमा उस गर्ल्स कॉलेज में पढ़ती थी और इस बीच फय्याज और रेशमा दोनों को प्यार हो गया और उन दोनों के बीच में सेक्स भी शुरू हो चुका था. रेशमा और फय्याज छुट्टियों में सेक्स एन्जॉय करते और मज़े लेते थे. रेशमा बहुत सुंदर और सेक्सी लड़की थी, गोरा गोरा रंग, गोल गोल और गोरी गोरी चूचियाँ, बड़ी और सेक्सी कमर और गोल सुडोल जांघे, कभी कभी वो स्कर्ट पहनती तो ग़ज़ब लगती थी. में जब भी फय्याज की दुकान पर जाता और रेशमा को देखता तो मेरे मुँह में पानी आ जाता और सोचता कि इसको कैसे चोदूं.
मज़े करने के लिए रेशमा को भी बुला लिया और उन दोनों ने जमकर चुदाई की. इस बीच फय्याज ने उसे एक ब्लू फिल्म दिखाई, जिसमें एक लड़की को दो लड़के चोदते है तो यह देखकर फय्याज और रेशमा दोनों ने थ्रीसम का प्लान बनाया और सोचने लगे कि किसको बुलाया जाये. फिर मेरी किस्मत चमकी और दोनों ने मुझे कॉल किया और कहा कि रेशमा की जवानी और सेक्स के मज़े लेने हो तो तुरंत आ जाओ. फिर मेरे मन की तो मुराद पूरी हुई और मानो में उड़ते हुए फय्याज के घर पहुंचा. जब में वहाँ पहुंचा तो में दंग रह गया कि रेशमा सिर्फ़ एक नाईट गाउन में सेक्सी अंदाज़ में लेटी हुई थी और फय्याज उसके लिए जूस बना रहा था.
मुझे देखकर रेशमा शरमाने की बजाये मुस्कुराने लगी और जब मैंने उससे फय्याज के बारे में पूछा तो कहने लगी कि उसे छोड़ो और मुझे चोदो. में उसकी यह बात सुनकर दंग रह गया. इतने में फय्याज जूस बनाकर ले आया और हम जूस पीने लगे.
फिर 15 मिनट के बाद फय्याज के घरवालों का फोन आया कि उसकी बहन का एक्सिडेंट हो गया है और वो तुरंत हॉस्पिटल पहुंचे. फिर फय्याज हमें छोड़कर तुरंत हॉस्पिटल चला गया और में और रेशमा अकेले रह गये. उसके जाते ही में रेशमा पर टूट पड़ा. मैंने उसे जमकर किस्सिंग और चूमना शुरू कर दिया, वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी और अपनी जुबान मेरे मुँह में डालकर किस्सिंग का मज़ा ले रही थी, वो किस्सिंग में एक्सपर्ट थी तो उस पर नशा चढ़ने लगा और उसके जिस्म से सेक्स की भूख झलक रही थी और वो बदमस्त हुई जा रही थी.
मैंने जब किस्सिंग करते-करते उसके बूब्स पर हाथ फेरा तो वो और भी मस्त हो गई और मेरे कपड़े उतारने लगी. फिर मैंने अपनी टी-शर्ट और जीन्स उतारी और उसकी गाउन के ऊपर से ही उसकी चूचियों को सहलाने लगा, में उसकी बड़ी-बड़ी और गोल-गोल गांड को जब सहलाने लगा तो मुझे लगा कि वो मखमली गांड है और मुझे बहुत मज़ा आया.
रेशमा भी अब धीरे-धीरे मेरी अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को सहला रही थी, जो कि पहले ही पूरी तरह खड़ा हो गया था, मेरा लंड 8 इंच लम्बा है और मोटा 3 इंच है. फिर अंडरवियर उतारते ही वो फनफनाते हुए बाहर आ गया और रेशमा उसे देखकर खुश हो गई और खुद ही झुककर उसे मुँह में लेकर चूसने लगी. मुझे तो इतना मज़ा आने लगा कि में बयान नहीं कर सकता. उसकी किस्सिंग की तरह लंड चूसना भी एक्सपर्ट था और में बेचैन हो गया.
मैंने इस बीच उसका गाउन उतारा और उसकी गदराई हुई जवानी को देख देखकर मस्त होने लगा. जब वो बैठकर लंड चूस रही थी तो उस वक़्त वो और भी सेक्सी और कामुक लग रही थी, क्योंकि उस पर सेक्स का भूत सवार हो गया था. फिर कुछ देर बाद में 69 की पोज़िशन में आ गया और उसकी खूबसूरत, गुलाबी और बिना बालों वाली चूत को चूमने लगा और वो मेरे 8 इंच लंबे लंड को चूसने लगी. दोस्तों में बता नहीं सकता कि वो कैसा मंज़र दिख रहा था और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, वो भी मेरी चूत की किस्सिंग से मदहोश हुई जा रही थी और उफ़फ्फ़ की आवाज़ें निकाल रही थी.
फिर 10 मिनट में ही मुझे ऐसा लगा कि जैसे में झड़ने वाला हूँ तो मैंने उससे कहा कि में झड़ने वाला हूँ तो उसने और ज़ोर से और तेज़ी से लंड चूसना शुरू कर दिया और मैंने भी चूत पर किस्सिंग करने की स्पीड बढ़ा दी. फिर में तेज़ धार छोड़ते हुए उसके मुँह में ही झड़ गया और उसकी चूत ने भी पिचकारी जैसा पानी छोड़ दिया. हम दोनों इस सकिंग से बहुत थक गये थे और फिर बेड पर नंगे ही साँसे लेते हुए पड़ गये.
फिर 10 मिनट के बाद ही उसने फिर से मेरा सेक्स उभारना शुरू कर दिया और मेरे सारे जिस्म पर किस्सिंग शुरू कर दी, 2 मिनट में ही मेरा लड़ फिर खड़ा हो गया और वो राड जैसा सख़्त हो गया. फिर मैंने भी उसकी किस्सिंग और उसके प्यारे-प्यारे, गोल-गोल, गोरे-गोरे बूब्स दबाने शुरू कर दिए, वो सेक्स की जज़्बात से लाल हो गयी और सिसकारियाँ भरने लगी, धीरे-धीरे से करो, प्लीज. में अब उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा, वो दीवानी हो गई और मेरी कमर पकड़कर खींचने लगी और कहने लगी कि प्लीज मुझे मत तड़पाओ और जल्दी से मुझे चोदो, प्लीज में और बर्दाश्त नहीं कर सकती, प्लीज.
मुझे उसकी तड़प और मज़ा देने लगी और में अपने फौलादी लंड को उसकी चूत में डालने लगा, उसकी चूत गीली थी और एक ही धक्के में मेरा लंड उसकी चूत में चला गया और वो कराह उठी और वो साथ साथ मुस्कुरा भी रही थी और कह रही थी कि आज इस फौलादी लंड से चुदवाने का मज़ा आयेगा. में पूरे जोश में उसे तेज़ी से धक्के मार रहा था और उसकी ठुकाई जारी थी, वो अचानक मुझे रोककर और मुझे बेड पर धकेलकर खुद मेरे ऊपर आ गई और पूरी तेज़ी और जोश से धक्के मारने लगी.
दोस्तों में बता नहीं सकता कि वो क्या सीन था, इतनी सुंदर, खूबसूरत और सेक्सी रेशमा मेरे लंड पर बैठकर खुद चुदाई कर रही थी. कुछ देर बाद मैंने उसे रोका और उसे घोड़ी बनने को कहा तो वो डर गई कि कहीं में उसकी गांड तो नहीं मार रहा हूँ. फिर मैंने कहा कि गांड बाद में मार लूँगा, पहले इस गुलाबी चूत को तो ठंडा कर दूँ तो वो घोड़ी बन गई और मैंने उसे लगातार धक्के मारते हुए और 10 मिनट तक उसको चोदा.
मैंने उसकी पूरी 30 मिनट तक चुदाई की और फिर अचानक मुझे लगा कि में झड़ने वाला हूँ तो इस बीच वो 3 बार झड़ चुकी थी. फिर उसने मुझे उसकी गर्म चूत के अंदर ही झड़ने को कहा और में तीन चार धक्के मारते हुए झड़ गया और वो भी मेरे साथ 4 बार झड़ी और हम दोनों निढाल होकर गिर पड़े. फिर हम आधे घंटे तक ऐसे ही पड़े रहे और फिर बाथरूम जाकर साथ में बाथ किया और एक बार वहाँ भी चुदाई की.