बॉस की बीवी लंड की प्यासी

antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta हाय दोस्तों , मेरा नाम राहुल हे. मेने बहोत सारी स्टोरीज रीड की हे एंड आई एन्जोयेड नाउ. इस तरीके से मेने सोचा क्यू ना में भी अपनी बीती सुनाऊ और अपनी स्टोरीज आप लोगो के बिच रख्खू. में उम्र ३० इयर्स हे. मेरी शादी हो चुकी हे. एक लड़का हे. अब में अपनी स्टोरी बताता हूँ. ये स्टोरी ६ साल पहले की हे. में अपने शहर वलसाड(गुजरात) में रहता हु और वाही परके एक फर्म में काम करता था.

अपने ऑफिस स्टाफ में एक सीनियर था मेरे ऑफिस जॉइन करने के ४ मंथ के बाद उस ने जॉब छोड़ दिया और में वह पर अकेला ऑफिस स्टाफ में था. ऑफिस का सारा काम करता था. मेने आपको अपने बॉस के बारे में बताया नहीं. वो के काफी अच्छे इंसान हे वो उनकी उम्र ४२ इयर्स होगी एक बीवी हे उसकी उम्र ३५ हे और उसका एक लड़का हे वो सुबह ऑफिस १० am आते थे. और ७ pm को घर जाते थे. क्यू की उनको अस्थमा था इस लिए वो घर पे खाने के लिए जाते नहीं थे. घर से उनकी नोकरानी दे जाती थी. इस बिच मेरे बोस की तबियत ख़राब हो गयी.

इस लिए वो ऑफिस नहीं आते थे. इस लिए मुझे ऑफिस काम से उनके घर पर जाना पड़ा. में पहली बार उनके घर गया उनका घर मेरे घर के रास्ते में हे पर में आज तक घर गया नहीं था जब में उनके घर पहोंचा और डोर बेल बजाया थोड़ी देर में दरवाजा खुला तो सामने एक पारी जेसी लेडी ने दरवाजा खोला तो में उसको देखता ही रह गया. वो काफी गोरी और स्लिम बॉडी थी. उसका फिगर परफेक्ट ३६-२४-३६ था उसने प्लान लाइट ब्लू कलर्स की साड़ी पहनी थी उसने साड़ी को अपनी दूटी (नाभि) के ३ इंच निचे से पहना था. में उसे देखता ही रह गया. उसके बूब्स यारो क्या बताऊ जेसे कोई पारी स्वर्ग से उतरी हो.

शायद भगवन ने उसे समय दे कर बनाया हो गा. तब उसने मुझे पूछा की क्या काम हे और आप कौन हे. तब में संभल गया और बोला जिग्नेस सर (नाम एज चेंज ) हे में ऑफिस के काम से आया हु. तो वो हस कर बोली ओह तो आप राहुल हे आएये ना अन्दर आइये. और वो मुझे लेकर ड्राइंग रूम में आई. जब वो चल रही थी तब गजब लग रहा था. में तो उसे देख कर अपने होस खो बेठा था. सोफे पे बिठाती हुई मुझसे बोली जिग्नेस अभी आराम कर रहे हे. थोड़ी देर ने जाग जायेंगे और वो अन्दर चली गयी. में उसके बारे में सोचने लगा की हमारे बोस की किस्मत में इतनी सुन्दर बीवी क्यों की. हमारे बोस एक सिंगल बॉडी इंसान थे. थोड़ी देर बाद वो सरबत का ग्लास लेकर आई और मुझे दे दिया. उस समय उसके ब्लाउज से उसके ब्रेस्ट काफी दिख रहे थे. मेरी नजर उस पर पड़ी वो देख कर थोडा हस कर चली गेई. में कुछ समज नहीं पाया. वो वापस आकर बोली आपके सर नहाने गए हे और वो मेरे सामने बेठ गयी.

और मेरे बारे में पूछ ने लगी. उसकी अदा देख कर में घायल हो गया. थोड़ी देर बाद मेरे बोस आये और मेरे ऑफिस का काम ख़तम किया जब जारहा था तो बॉस ने मुझे बोला ऑफिस का कुछ काम होतो अपनी भाभी रागिनी को बोल दिया हे वो ऑफिस पर आके दे देगी मेने कहा ठीक हे सर. में वह से निकला तो रागिनी भाभी मेरे पीछे पीछे आई और दरवाजा बंद करते समय बोली गुड बाय. आई वांट तो सी यू.

में ये सुनकर सोंच में पड गया. खेर में स्माइल दे कर निकल आया. शाम को ५.४५ pm बजे थे तब ऑफिस पर फोन आया मेने फोन रिसीव किया तो सामने से हाय, में रागिनी बोल रही हूँ. तो में बोला हां भाभी जी बोलिए तो वो बोली आप ऑफिस पर कितने बजे तक हे. मेने बोला ६.३० pm तक हु. तो वो बोली ठीक हे आपके सर ने मुझे ऑफिस का काम डोक्युमेंट दिए हे तो में देने के लिए आउंगी. मेने कहा ठीक हे. आप आइये में ऑफिस पर आपका वेट कटा हूँ. रागिनी भाभी ६.२५ pm. को आ गयी. और में देखता रह गया क्यू की उन्होंने रेड कलर की साड़ी पहनी थी. एक दम निचे से ये देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा जब वो बाते कर रही थी तब में उसकी ओर देख कर मेरा लंड पूरा ६’ का हो गया और वो थोड़ी देर में वह से चली गयी.

पूरी रात में सो ही नहीं पाया. दुसरे दिन में ऑफिस आ गया में रागिनी भाभी के खयालो में खोया हुआ था की कास एक बार चोदने को मिल जाए तो जीवन सफल हो जाएगा. उस वक्त फोन की रिंग बजी तो रागिनी भाभी की आवाज थी. वो बोली गुड मोर्निंग तो मेने भी उनको कह दिया फिर वो बोली आपके सर आपसे बात करना चाहते हे और मेरे बोस को फोन दिया. मेरे सर ने मुझसे कहा राहुल आज आई टी ऑफिस हो आना और लैटर सबमिट कर देना. मेने कहा ठीक हे सर और मेने कहा सर में आई टी ऑफिस केसे जाऊ. क्यू की ऑफिस से ३ km की दुरी पर हे. और मेने अपना बाइक अपने भाई को दिया हे तो उन्होंने कहा रागिनी अपना स्कूटर ले के आएगी उसके साथ चले जाना.तो मेने कहा ठीक हे सर.

रागिनी भाभी ठीक ११.१० am को आगई उस वक्त उसने पिंक कलर की साड़ी पहने हुए थी. उसके चेहरे पर हलकी सी मुस्कान थी. तब में स्कूटर पर पीछे से बेठ गया. उन्होंने स्कूटर स्टार्ट किया और वो ज्यादा ही पीछे की और बेठ गयी. जिस कारण मेरा लंड उसकी गांड से टकराने लगा. तो मेरे लंड में गर्मी आने लगी. वो काफी सेक्सी औरत थी और उसका फिगर एसा था की मेरे हाथ पे कंट्रोल नहीं हो रहा था. फिर भी किसी तरह से अपने पे कंट्रोल किया. भाभी इतनी पीछे आई थी की मेरा लंड पूरा भाभी की गांड में फसा था. और मेरा लंड पूरा टाइट हो गया. और ६’ का हो गया. में एसे ही बता रहा और मज़े लेटा रहा. इतनी देर में ऑफिस पहोंच गए. में अपना काम ख़तम करके वापस आया और फिर से में पीछे बेठ गया.

भाभी अपने काम से मुझे गुमाती रही. और में मज़े लेता रहा. फिर भाभी ने मुझे ऑफिस पर छोड़ते कहा बाय राहुल कभी टाइम मिले तो घर पे भी आना. ठीक हे. तो बोला ठीक हे.भाभी में जरुर आऊंगा. में समज गया की भाभी की तमन्ना क्या हे. हफ्ते बाद मेरे बॉस ऑफिस आये वो ठीक थे. दुसरे दिन ऑफिस में आये तब मेरे बोस ने मुझे कहा की ७ दिन के लिए में दिल्ही जा रहा हु. कुछ काम हो तो भाभी को बोल देना. और वो दोपहर की गाड़ी से चले गए. दुसरे दिन ऑफिस की रिंग बजी तो सामने से रागिनी भाभी बोल रही थी. भाभी बोली की राहुल केसे हो? मेने कहा बस ठीक हे. तो भाभी ने कहा क्यू क्या हुआ.. तबियत ठीक नहीं हे? तो में बोला तबियत तो बिलकुल ठीक हे. में इतना खुस हो गया की पूछो मत. में तुरंत अपना बाइक लेके वह पहोंच गया. और डोर बेल बजाया तो दरवाजा भाभी ने ही खोला. भाभी के चेहरे पर हलकी सी मुस्कान थी. भाभी को देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा. भाभी ने ब्लैक साड़ी पहनी थी. एक दम निचे से. में सोंच में पद गया की भाभी सिर्फ साड़ी ही पहनती हे. खेर मुझे इससे क्या लेना देना. भाभी बोली बेठो में सरबत लाती हूँ. में वह बेठ गया भाभी ने सरबत का ग्लास दिया और वो मेरे सामने बेठ गयी. फिर भाभी बोली राहुल तुम्हारे पास टाइम तो हे न तो मेंने हां कर कहा आपके लिए तो टाइम ही टाइम हे.

तो वो बोली मेरे बेडरूम में काम हे. मेने भाभी की और देखा तो उसके चेहरे पर गहरी मुस्कान थी. हम लोग वह से उठ गए और वो मुझे बेड रूम की तरफ ले गयी. चलते चलते मेने पूछा की नौकरानी नहीं हे. तो भाभी बोली उसे काम ख़तम करवाके मेने छुट्टी दे दी. और नील(बोस) का लड़का तो वो बोली स्कूल गया हे. शाम को आएगा. अभी में अकेली हूँ. ये सुनकर मेरा लंड इतना खड़ा हो गया उसको संभालना मुस्किल होने लगा. हम लोग बेडरूम में आ गए फिर भाभी बोली हमारा ये बेड हटाना हे और टीवी केस को भी हटाकर मुझे आगे लाना हे मेने काम चालु कर दिया भाभी मेरे पीछे थी टीवी केस को खीचते समय मेरा हाथ फिसल गया जिसके कारण में भाभी के ऊपर गिर पड़ा और भाभी बेलेंस कर ना सकी इसके कारण भाभी भी गिर पड़ी. में भाभी के ऊपर था और मेरा हाथ भाभी के ब्रेस्ट पर (बोल) के ऊपर था. दब गया भाभी ने ओनी आँखे बंद कर ली थी. भाभी ने कुछ कहा नहीं में भाभी के ऊपर से उठ गया. भाभी के चेहरे पर मुस्कान छाने लगी. वो बार बार मेरे लंड की तरफ देखा करती थी. इसके कारण में शर्माने लगा. मेने अपना काम पूरा कर दिया और वह से जाने के लिए बोला तो भाभी ने हस्ते हुए कहा की तुम्हे तो जाने के लिए बहोत जल्दी हे.

क्यों कोई गिर्ल्फ्रेंड वेट करती होगी. तो मेने कहा मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं हे तो भाभी मेरी और सरकते हुए बोली तो रुक जाओ. में समज गया था की भाभ क्या चाहती हे. पर मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी. करू तो क्या करो. में वह बता था उस वक्त भाभी ने कहा कोई शादी के लिए लड़की बडकी देखि की नहीं. तो में बोला की खुबसूरत लड़की मिले तो. भाभी बोली में तुम्हारी मदद करू में बोला भाभी आप इतनी खुबसूरत हो तो आपकी छोटी बहन हो तो वो जरूर चलेगी मेरी बात सुनकर भाभी जोर से हसने लगी और भाभी बोली मेरी कोई छोटी बाहें नहीं हे क्या में चल सकती हूँ. ये सुनकर मेरे में काफी हिम्मत आगयी और भाभी के पेरो के पास जाकर में हस कर बोला तो क्यों नहीं आप तो सबसे सुन्दर हो आप तो मुझे जरूर चलोगी भाभी बोली सोच लो में भाभी का हाथ पकड़ कर बोला सोच लीया भाभी शर्मा गयी और उन्होंने अपना मस्तक जुका लिया मेरे में इतनी हिम्मत आई की भाभी का मुह उठाके मेने भाभी के होटो पर किस कर दिया भाभी ने अपनी आंखे बंद करली मेने फिर भाभी को चूमना चालु करदिया तो भाभी बोली सब कुछ सोफे पे ही करने का इरादा हे क्या तो मेंने भाभी को अपनी बाहों में उठाके बेडरूम में ले गया. और भाभी को लिटा दिया और में भाभी को चूमने लगा. भाभी भी आआआआ ह्हह्ह्ह्हह्ह्हा करने लगी और आँखे बंद करके आआआअह्ह्ह्ह आआआअह्ह्ह्ह आआह्ह्ह्ह aaaahhhhh जेसी आवाजे करने लगी. फिर भाभी ने मुझे अपने ऊपर खीच लिया. और जोर जोर से मुझे चूमने लगी मुझे एसा लगा की काफी समय से भाभी तड़प रही हो.

मेने भाभी के ब्लाउज को खोल दिया. भाभी ने ब्लैक ब्रा पहनी थी. भाभी के ब्रेस्ट(बोल) काफी बड़े थे ब्रा को हटा कर में बोल से खेलने लगा. भाभी स्सस्सस्सस ह्ह्ह्हह स्स्स्साह्ह्ह्हा आआअह्ह्ह आःह्ह्ह ह्ह्हह्ह्हा आआआ की सिसकिय निकल रही थी. फिर मेने भाभी की साड़ी को खोल दिया. भाभी एक दम नंगी हो गयी. फिर मेने भी अपने कपडे हटा दिए. भाभी ने मेरे लंड की और देखा उसकी नजर थम गयी.

मेने भाभी को चुमते हुए भाभी की नाभि को चूमा तो भाभी एक दम तस्पसी गयी और स्सस्सस्सस ह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आआआ ह्ह्ह्हह स्स्स्स करके सिसकारी निकाल दी. फिर भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा.और आगे पीछे करने लगी. भाभी बोली राहुल इसे जल्दी से मेरी चूत में गुसा दो. वारबा में मर जाउंगी. में बोला भाभी इतनी क्या जल्दी हे. तो भाभी बोली पहले इसको अन्दर गुसाके मुझे शांत कर दो बाद में तूमहे जो करना हे वो करते रहना.में अब तो तुम्हारी ही हु. तो मेने भाभी की चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा. भाभी बोली और मत तडपाओ ना डालदो. तो मेने भाभी की चूत में एक जोर से दक्का मारा. मेरा आधा लंड भाभी की चूत में चला गया. भाभी की चीख निकल गयी. और बोली निकाल दो बहोत दर्द हो रहा हे. प्लीज् निकाल दो तो मेने शांत करके उसके बोल को दबाने लगा और मेने उसका मुह को अपने मुह में भर के प्यार करने लगा थोड़ी देर बाद भाभी शांत गयी.

तो मेने फिर से धक्का लगाना चालू किया. अब भाभी को दर्द कम हो रहा था. क्यों की भाभी की चूत काफी गीली थी. भाभी ऊऊउह्ह्ह्ह आआआ ह्ह्ह्हह्ह बहोत मज़ा आ रहा हे.ऊऊऊओ स्सस्सस्स आआआ ह्ह्ह्हह्ह करो जोर से करो. ह्ह्ह्हह्ह स ह्ह्ह्हह्ह आआ ह्ह्ह्ह आआअ स्स्स्सश्ह्ह बस एसे चोदते रहो रहुक जरा जोर से छोड़ो बहोत मज़ा आ रहा हे. स्स्स्स ह्ह्ह्हह स्स्स्ससा आआ.

ऊऊऊ ऊऊऊउ स्स्स्स आआआ बहोत अच्छी तरह से चोदना आता हे कितनी को किया हे हे भाभी ने पूछा. अब तक पहली बार भाभी बोली जुट मत बोलो मेने कहा आपकी कसम मेने कहा मेने ब्लू फिल्मे ज्यादा देखि हे इस लिए सब आता हे भाभी हस पड़ी में चोद रहा था भाभी स्सस्सस्सस ह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्ह ऊऊऊओ ह्ह्हह्ह्ह्ह ऊऊऊउ cccccc स्स्स्स कसर रही थी.

करीब २० मिनट के बाद भाभी भी अपनी कमर उछाल ने लगी मुझे और मजा आने लगा. मेने भाभी को पूछा भाभी मजा आ रहा हे ना भाभी ने कहा हां बहोत मजा आ रहा हे में जोर जोर से चोद रहा था मेरी और भाभी की कामुक सक्तिया पुरे रूम में गूंज रही थी करीब ३० मिनट के बाद भाभी बोली में जड़ ने वाली हूँ तो मेने अपनी स्पीड और बढ़ाडी इस समय बेड जोर से हिलने लगा. भाभी ये देख कर हस पड़ी बोली हमारी चुदाई से बेड भी रंग में आ गया. में भी हसने लगा और में जोर जोर से धक्के पे धक्का लगता जा रहा था. भाभी और जोर से और भाभी ने मुझे बहोत जोर से भीच लिया.

में भी अपना पूरा वीर्य भाभी की चूत में निकालने लगा और हम दोनों झटके खाने लगे हम दोनों शांत हो गए तो में उठ रहा था भाभी बोली रहने देना बहोत ही अच्छा लग रहा हे ५ मिनट के बाद में फिर गरम हो गया और भाभी भी मेने फिर चोदना चालू किया भाभी इस बार ज्यादा खुलके चुदवा रही थी.

हमने ३० मिनट तक चुदाई की. उस दिन मेने भाभी को ५ बजे तक चोदा फिर भाभी बोली नील आ रहा होगा मेने भाभी को किस किया और वहासे आ गया. फिर दुसरे दिन भाभी मेने भाभी को खूब चोदा अब हमें जब भी इच्छा होती हे हम दोनों चुदाई करते हे. भाभी ज्यादातर शाम के बाद ऑफिस पर आती हे में उस समय भाभी की खूब चुदाई करता हूँ. भाभी भी मुझसे दिल से चुद्वाती हे में भी भाभी को दिल से चोदता हूँ.