मकान मालिक की बीवी की चूत मारी

antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta Chudai Hindi Sex मेरा नाम प्रवीन हे में भोपाल में रहता हूँ. और में आज फिर आपके लिए एक नयी स्टोरी लाया हूँ. तो अभी तक जो भी स्टोरीज मेने लिख्खी हे वो सब आपको बहोत पसंद आई हे मुझे बहुत सारे मेल्स आये थे उनमे से था एक मेल इसमें एक आंटी ने मुझे पूछा की तुम मेरे गुलाम बनोगे क्या..? तो मेने सोचा की चलो ये भी ट्राय करके देखते हे तो मेने हां करदी वो भोपाल में ही रहती थी तो उसने मुझे db सिटी मॉल के निचे बुलाया कहा कल तुम सुबह १२ बजे मुझे वहा मिल जाना मेने कहा की में आपको पहचानूँगा केसे उसने बोला मेने तुम्हारी पिक देख ली हे.

में कल bmw में आउंगी तो में हेरान रह गया और मेने सोचा की अगर ये bmw में आएगी मतलब बहोत आमिर होगी. तो में बहोत मचलने लगा और इमेजिन कर करके मुठ मारने लगा और रात भर में मेने ३ बार मुठ मारी. फिर सुबह जब उठा में बहोत एक्साईटेड था में झट से ११.३० पे ही मॉल के सामने पहोंच गया था. फिर १२ बजे करेक्ट एक bmw आई और मेने देखा की वो थोड़ी दूर खडी हो गयी और फिर मेने देखा की ड्राईवर सीट पे बहोत सेक्सी औरत बेठी हुई थी और फिर उसने फोन उठाया और कुछ करने लगी में कार के पास गया तो उसने उसने मुझे देख लिया उसने कहा अन्दर आ जाओ तो में उसके बगल में जा के बेठ गया. वो बहोत ही गोरी और सुन्दर औरत थी.

और बहोत ज्वेलरी पहनी हुई थी साडी भी एक दम स्टैण्डर्ड वाली फिगर बहोत बहोत सुन्दर थी पूरी उस मॉडल की जेसे ही दिख रही थी और गाल पे रोज लगाया हुआ था. और पूरी प्रिंसेस लग रही थी. फिर उसने मुझसे पूछा की तुम क्या करते हो मेने कहा की कॉलेज में हूँ तो उसने कहा की आज जो भी होगा उसके बारे में किसी को बोलेगा तो नही तो मेने कहा नही मालकिन वो ये सुनके बहोत खुस हो गयी. और उसने मेरे गाल पे एक किस किया तो मेने कहा की बस यही संगी आप उसने कहा तुम पहले मेरा काम करो उसने अपनी चूत की तरफ इसारा किया.

तो में समज गया की वो क्या चाहती हे में निचे जुका सीट से निचे फ्लोर पे बेठ गया और उसकी साडी में घुस गया और उसकी चूत के पास भी बहोत अच्छी परफ्यूम की सुगंध आ रही थी में आगे बढ़ा तो देखा की उसने चड्डी नही पहनी हे. तो में सीधा उसकी चूत में घुस गया. और उसकी चूत चाटने लगा और मेने अपनी जीभ उसकी चूत में डाल दी. वो हिलने लगी मुझे लगा की वो खुस हो रही हे. और फिर वो मेरा सर अपनी चूत पे दबाने लगी. तो में तेज़ी से जीभ अन्दर बहार करने लगा. और ऊँगली करके में उसका पानी निकालने वाला था की उससे पहले उसमे मुझे टिस्यू पेपर दिया और पानी निकलते ही में सारा पानी मुह में ही लेके पि गया और टिस्यू से उनकी चूत पूछ दी. फिर में साडी से बहार आया और हम उसके घर पहोंच गए और उसका घर बिलकुल महेल जेसा था पर आउट ऑफ़ सिटी था थोडा तो फिर उसने कार पार्क की और कहा चलो.

में घर के अन्दर गया तो उसके पीछे पीछे. तो देखा घर में कोई नही था. फिर उसने चिल्लाया सरिता अन्दर से आवाज़ आई जी मालकिन उसकी नोकरानी आई और वो भी क़यामत ढा रही थी और वो सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज में थी उसका ब्लाउज गिला था.मालकिन ने बोला की ये आज अपन को मज़ा करने आया हे तू जा और इसको साफ़ करदे सविता ने कहा आ चल मेरे साथ चल और मुझे बाथरूम ले गयी. और फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए मेरी चड्डी भी. तो फिर मेरा लंड तन के खड़ा हो गया. तो उसने कहा इसे निचे कर मेने कहा मुझसे नहीं होगा आप ही कर दो तो उसने लंड पकड़ा और जाम से दबा दिया और मेरी चीख निकल गयी.

मेने कहा अच्छा सॉरी प्लीज् छोड़ दो फिर वो एक रेज़र ले आई और उसने मेरे लंड के पास के सारे बाल काट दिए और उसने कहा मालकिन को बाल पसंद नहीं हे फिर उसने मेरी गांड के भी बाल उदा दिए और फिर उसने शावर चालू किया और खुद ने पेटीकोट उतार दिया मेरे पास आई उसने फेस वास लिया हाथ में और मेरे लंड पे लगा के मसलने लगी.

मुझे मज़ा आ रहा था और फिर उसने और थोडा फेस वास लिया मेरी गांड के छेद में घुसा दिया और ऊँगली घुसके गांड साफ़ करने लगी और मुझे बहोत अजीब लगा तो फिर उसने कहा की मेरी गांड में भी बाल आ गए हे. तू काट दे तो उसने पेंटी उतारी जो पहले से बहोत छिप चिपी सी थी.और फिर वो जुक गयी में साफ़ करने लगा इतने में ही उसने मेरा सर अपनी गांड पे चिपका दिया और बोला चाट के साफ़ कर मेरी गांड. में उसकी गांड में जिब डालने लगा और चटोरो जेसे चाटने लगा वो तड़प रही थी फिर मेने फिर मेने उसे अपनी तरफ खिंचा और उसको किस करने लगा और वो भी मेरा साथ दे रही थी और फिर मेने अपना लंड निकाला और देर ना करते हुए उसकी चूत में डाल दिया मेरा लंड उसकी चूत में आराम से चला गया पर उसने मेरा लंड बहार निकाला और बोली मेरी चूत भी तो साफ़ करदो. और ये कहके उसने मेरे लंड पे साबुन लगा दिया और लंड फिर से चूत में डाल दिया अब लंड फिसल रहा था. पर बहोत मज़ा आ रहा था. वो भी अपनी चूत मेरे लंड पे दबा रही थी.

तो मेने और तेज चोदना सुरु किया और एक ऊँगली उसकी गांड में डाल दी फिर एक दम से निचे से आवाज़ आई म्माल्किन की कहा हो सविता जल्दी आओ. सविता मुझसे बोली जल्दी करो मालकिन बुला रही हे. तो में और तेज हो गया वो भी चूत उपर से मसलने लगी. फिर में झड गया और उसने सारा पानी पि लिया और मुझसे भी चाट चाट के अपनी चूत साफ़ करवाई.

और फिर उसने अपना पेटीकोट और ब्रा पहना और मुझे मेरा लंड पकड़ के निचे ले जाने लगी और निचे जाते ही देखा मालकिन ब्लेक ब्रा और पेंटी में सोफे पे बेठी हुई थी. और मुझे देख कर सेक्सी सी सेटन स्माइल दी और कहा यहाँ आओ. में तो उसे देख कर ही पागल हो रहा था. उसने मुझे बुलाया और मुझे घुटनी के बल अपने सामने बिठा दिया और फी उसने अपनी दोनों टाँगे फेलाई मुझे लगा की मुझे चाटने के लिए बोलेगी पर उसने पेंटी साइड की और मुजपे मूत दिया उसका सारा मूत मेरे मुह पे आ रहा था. में मुह बंद करके बेठा रहा.

और फीर उसका मूत बंद हुआ तो उसने कहा चलो साफ करो ये सब तो मेने मन कर दिया क्यू की काम पहले मेने नहीं किया था तो मालकिन ने सविता से बोला ज़रा हंटर ले आओ. मुझे लगा मजाक कर रही होगी. पर सविता सच में हंटर ले आई. और मालकिन को दे दिया और मालकिन ने मेरी पीठ पे एक घुमा के हंटर मारा और कहा चल साले जल्दी पि ले. वेसे तेरी औकात नही हे. इसे पिने की पर फिर भी में तुम्हे दे रही हूँ मुझे बहोत दर्द हो रहा था पर मेने सोचा की चलो पि लेता हूँ तो मेने सारा मूत चाट चाट के साफ़ कर दिया और फिर मालकिन ने मुझे बुलाया और कहा अपनी गांड दिखा तो में उनके सामने पीछे होके जुक गया. जेसे मेरी गांड उसके मुह के सामने आ गयी और उनसे हज़ार हज़ार के नोट लिए और मेरी गांड में डाल दोए और बोली ये ले तेरा गिफ्ट में खुस हो गया और फिर उसने कहा की चलो मेरी चूत चाटो तो में गया और उसकी चूत कुत्तो की तरह चाटने लगा. और मुझे मज़ा आ रहा था और उसे भी.

सविता ये सब देख रही थी. और मालकिन मेरे सर को और चूत में घुसाने लगी साले घुस जा मेरी चूत में चाट इसको मादरचोद बेहेनचोद चाट आआआह्ह्ह्हह्ह चाट आआअह्ह्ह्हह्ह ऊऊऊऊऊओ ह्ह्ह्हह तो मेने चाट चाट के उनका पानी निकाल दिया और फिर सारा पानी पि लिया फिर उसने अपने दोनों पेरो से मेरा लंड पकड़ा और जमीन पे रख दिया और पैर से बताने लगी उसके फोट्स में गुदगुदी हो रही थी मुझे भी मज़ा आ रहा था और फिर उसने मुझे उठाया और मुझे कहा की चल मुझे बेडरूम में ले चल तो मेने उसे अपनी गोद में उठाया और उसे ले जाने लगा और इतने में उसने मेरे निपल्स काटना चालू कर दिया तो मुझे दर्द हो रहा था.

पर क्या कहता फिर मेने उसको बेड पे लेटा दिया और मुझे उसने कहा कम ओं बेबी. और में उनपे चढ़ गया और उसको मसलने लगा उसके बूब्स को अपने चेस्ट पे मसल रहा था. उसे भी मज़ा आ रहा था तो फिर मालकिन ने सविता को भी बोला तू भी आ जा सविता और सविता ने ब्लाउज और पेंटी उतार दी.

और वो भी हमारे साथ बेड पे अ गयी और हम टीम एक दुसरे को मसल रहे थे. किस कर रहे थे. और पता ही नही चल रहा था मेरा हाथ किसकी चूत में जा रहा हे. और कोण किस कर रहा हे. फिर मालकिन ने बोला चलो अब मुझे चोद दो तो में बेड पर उठ कर बेठा मेने मालकिन के दोनों पैर अपने कंधो पे रख्खे और अपना लंड उनकी चूत में डाल दिया. वो हिल गयी आआअह्ह्ह्हह्ह आआअह्ह्ह्हह्ह आआअआआअम साले कमीने धीरे कर ना तो में धीरे धीरे उसको चोदने लगा और सविता मालकिन को समोच करने लगी में थोडा तेज़ हो गया और मालकिन आवाज़े निकलने लगी.

ऊऊओह्ह्ह्हह ऊऊऊह्ह्ह्हह्ह य्य्य्यीएस्स य्यीएस्स्स्स स्ससीई हीही आआअह्ह्ह्हह ऊऊह्ह्ह्हह्ह कम ओं बेबी और तेज़ और तेज़ अपनी मालकिन को मज़ा दो तो में और तेज़ हो गया और थोड़ी देर में मालकिन झड गयी. पर में नही झडा था. और में मालकिन को भी फ़ोर्स नही कर सकता था. तो मेने सविता को अपनी तरफ खिंचा और उसने चूत में लंड डाल के उसे चोदने लगा और मालकिन बस देख रही थी. क्यू की वो थक गयी थी.

फिर में और सविता भी झड गए और फिर सविता ने मेरा लंड चूस के साफ़ किया और मेरे टट्टे भी चाटने लगी. और फिर वो भी लेट गयी. और फिर मेने अपने कपडे पेहने और मालकिन आई उसने मेरी चड्डी में एक हाथ डाला और ५००० रूपये रख दिए और कहा आते रेहना मेने कहा जी मालकिन और फिर में वह से चला गया.