रोक न सका फिल्म हाल में चुद गयी

हैल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम मयंक है और मेरी इस साईट antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta Chudai Hindi Sex पर यह पहली और रियल स्टोरी है जो आज से लगभग 1 साल पहले हुई थी. सबसे पहले में आप लोगों को अपना परिचय दे दूं. मेरा नाम मयंक है और मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मेरा कलर गोरा है और मेरे लंड की लम्बाई 7 इंच की है और मोटाई लगभग 3 इंच है.
ये बात उस समय की है जब मैंने कॉलेज से पास होकर नॉएडा में जॉब जॉइन की थी. कॉलेज के टाईम में मेरी जो गर्लफ्रेंड थी उसके साथ मैंने ओरल सेक्स तो किया था, लेकिन कभी सेक्स का मौका नहीं मिला. मेरी नॉएडा में कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं थी. तो एक दिन मैंने इंटरनेट पर लड़कियों से जुड़ना स्टार्ट किया, 2-3 महीने के बाद मैंने देखा कि एक लड़की सपना का रिप्लाई आया था की आप हमेशा ऑनलाइन रहते हो, लेकिन बात नहीं करते हो. मैंने तुरंत जवाब दिया कि आप ऑनलाइन दिखते ही नहीं हो. फिर दो तीन दिन चैट पर बात करने के बाद मैंने उससे उसका नंबर माँगा और उसने अपना नम्बर दे दिया और मैंने उससे कह दिया कि वो कॉल करेगी और फिर हमने अपने नम्बर एक दूसरे को दे दिये.
फिर अगले दिन शाम को जब में टेनिस खेलने जा रहा था तो उसका कॉल आया, उसकी आवाज़ बहुत ही स्वीट थी. आवाज़ सुनकर ही मेट्रो स्टेशन पर ही मेरा लंड फनफनाने लगा. फिर उस दिन रात को जाकर मैंने उसे कॉल किया और हमने जनरल बातें की, जब मैंने पूछा कि उसका बॉयफ्रेंड है क्या? तो उसने बोला कि उसके बॉयफ्रेंड नहीं हो सकता, ये बात मुझे समझ नहीं आई और उसने समझाया भी नहीं था. फिर अगले दिन रात को जब में बात कर रहा था तो उसने बताया कि उसकी शादी 3 महीने पहले हो चुकी है और उसने पहले इसलिए नहीं बताया था, क्योंकि फिर में उससे बात नहीं करता.
दोस्तों मेरी तो हमेशा से इच्छा थी कि किसी शादीशुदा लेडीस को रगड़कर चोदूं, क्योंकि एक मेरीड लेडी में चुदाई का अनुभव होता है और गर्म भी और सेक्स से पीछे नहीं हटती है. फिर हम बात करते रहे और मुझे वो और अच्छी लगने लगी, वो मुझसे हर एक बात शेयर करती थी कि उसकी सास और भाभी उसे कैसे परेशान करती है और उसका पति उसका पहले किरायेदार था और फिर सबकी इच्छा से उसी से शादी हो गयी, लेकिन वो उससे बिल्कुल खुश नहीं है.
फिर इस बात के बाद, वो मुझसे और नजदीक आ गई और अपनी सेक्स लाईफ भी शेयर करने लगी. अब हम एक अच्छे दोस्त बन गए थे, वो दिल्ली में ही रहती थी और उसका पति एक गुडगाँव की टेलिकॉम कंपनी में काम करता था. उसने अपनी फोटो मुझसे शेयर की और वो दिखने में सुन्दर थी, लेकिन थोड़ी मोटी थी और बहुत बड़े-बड़े बूब्स थे. उसने मुझे अपने हनीमून के ट्रिप्स और शादी की भी फोटो शेयर की, कसम से शादी के कपड़ो में वो ऐसी लग रही थी कि उसके लहंगा को उठाकर उसकी चूत में अपना लंड फंसा कर वहीं चोद दूं. हमने अपने पहले के सेक्स अनुभव को एक दूसरे से शेयर किया और उसने भी बताया कि वो किस-किस पोज़िशन में चुदाई करना पसंद करती है. उसने बताया कि शादी के बाद उसके पति ने उसे सिर्फ़ 10-12 बार चोदा है और उसको लगता है कि उसका किसी के साथ अफेयर है और फिर ऐसे ही बातें चलती रही और एक दिन मैंने उससे कह दिया कि मुझे आपसे प्यार हो गया है आई लव यू. इस पर वो मुझे समझाने लगी कि उसकी शादी हो गई है तो यह नहीं हो सकता. फिर कुछ देर बात करने के बाद मैंने फोन रख दिया.
फिर अगले दिन ऑफिस में उसका कॉल आया और थोड़ी देर बात करने के बाद उसने भी बोल दिया कि वो भी मुझसे प्यार करती है. फिर में खुश हो गया और उससे बात करने लगा कि मुझे उससे मिलना है, वो मुझसे पूछने लगी कि मिलने पर मुझे कैसे प्यार करोगे. इस बात पर मैंने उससे कहा कि जो भी उसकी सीमा में होगा उसे पार नहीं करूँगा. तो वो बोलने लगी कि नहीं तुम बताओ कि तुम किस हद तक जा सकते हो और बोलने लगी कि तुम बहुत शरमाते हो. मैंने उससे कहा कि वो एक बार बताये तो सही कि वो मुझे क्या-क्या करने देगी? उसके बाद देखता हूँ कि किसको शर्म आती है. फिर उसने धीरे से कहा कि वो मेरे साथ सेक्स कर सकती है और मैंने ऑफिस के मीटिंग रूम में ही उसके साथ फोन सेक्स किया और उसे बताया कि मुझे चूत को चाटने में बहुत मज़ा आता है और मिलने पर में उसे कैसी-कैसी पोज़िशन में चोदूंगा और मैंने उससे फिंगरिंग करवाई. फिर रोज रात को हम फोन सेक्स करने लगे, लेकिन सबसे अच्छी बात उसके पति की नाइट ड्यूटी रहती थी तो हम पूरी रात बात किया करते थे.
एक दिन मुझे ऑफिस में अवॉर्ड मिलना था, लेकिन दिन में उसका कॉल आया कि वो मुझसे माल में मिलना चाहती है और हमने आनंद विहार के एक मॉल में मिलने का प्लान बनाया और उसने अपनी बहन से बोल दिया था कि वो एक कॉलेज फ्रेंड से मिलने जा रही है और 2 घंटे बाद वापस आयेगी. ये सुनकर उसकी बहन उसे वहाँ ड्रॉप करके अपने बॉयफ्रेंड के साथ चली गई. में उसका इंतज़ार कर रहा था और बहुत देर तक इंतज़ार करने पर वो मुझे अचानक दिखी. फिर हमने साथ में लंच किया और मैंने उसे मूवी देखने के लिए बोला तो उसने कहा कि वो सिर्फ़ 2 घंटे के लिए आई है. इस पर में उदास हो गया तो वो बोली कि क्या हुआ?
मैंने उससे बोला कि मुझे मूवी नहीं देखनी है बस एक जगह मिल जायेगी जहाँ में तुम्हें प्यार कर सकूँ. इस पर वो मान गयी और हमने “ऐशा” नाम की मूवी पसंद की, क्योंकि उस मूवी का दूसरा हफ्ता था और उसमें भीड़ कम होती है. फिर हम मूवी हॉल में पहुँचे वहाँ जाते ही जैसे ही लाईट बंद हुई तो में उस पर टूट पड़ा और हम सबसे पीछे की सीट पर पागलों की तरह 20 मिनट तक किस करते रहे.
फिर थोड़ी देर बाद किस करते-करते मैंने अपना हाथ उसके बूब्स पर रखा और ब्लाउज के ऊपर से उसके बूब्स मसलने लगा, उसके बूब्स बहुत बड़े थे और हाथ में नहीं आ रहे थे. फिर उसने अपना हाथ मेरी पेंट के ऊपर से लंड पर रखा और उसे हल्के-हल्के से रगड़ने लगी और बोली कि अभी से इतना बड़ा कर लिया, आप अभी कुछ नहीं कर पाओगे.
मैंने उससे कहा कि अभी कहाँ खड़ा हुआ है ये तो अभी छोटा है. मैंने उसके बूब्स को चूसने के लिए कहा था, लेकिन शायद उसने मूवी के बीच में ठीक से सुना नहीं और सोचा कि जब वो चूसेगी तब खड़ा होगा. इसलिए उसने हाथ मेरी पेंट के अंदर डालकर लंड को मुट्टी में ले लिया तो वो बेल्ट की वजह से अच्छे से लंड को नहीं पकड़ पा रही थी. इसलिए मैंने अपनी पेंट खोल दी और अंडरवेयर नीचे कर दिया.
अब मेरा लंड आधा खड़ा हुआ पेंट के बाहर लटक रहा था. हम लोग ये सब हॉल में सबसे पीछे की सीट पर कर रहे थे और ये सोच कर ही मेरा खड़ा हो रहा था. लेकिन तभी अचानक वो झुकी और मेरे लंड के टोपे को मुँह में लेकर चूसने लगी. इतने दिनों बाद चुसाई का मजा आ रहा था और लंड को उसके मुँह में नीचे से कमर उठाकर और उसका सिर दबाकर अंदर बाहर करने लगा और फिर लंड उसके गले तक गया तो वो खांसने लगी और लंड बाहर निकाल कर बोली कि मार डालोगे क्या? मुझे अपना काम करने दो और तुम अपना काम करो.
वो फिर से झुक कर लंड और बॉल्स को चूसती रही. मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था. मैंने उससे बोला कि लंड को दोनों हाथों से पकड़कर मसलो और उस पर हल्का हल्का थूक लगाओ, में ऐसे नहीं बोल रहा कि मेरा लंड 8-10 इंच का है, लेकिन जब पूरा खड़ा हो जाता है तो 7 इंच से थोड़ा बड़ा होता है.
अब जब उसने लंड को दोनों हाथों से पकड़ा तो लंड का टोपा बाहर निकल रहा था तो उसने उस पर थूका और लिप्स पर रब करने लगी. फिर मुझे याद आया कि मेरी जेब में चॉकलेट पड़ी हुई है मैंने चॉकलेट बाहर निकाली और वो पूरी पिघल गई थी तो उसे अपने लंड पर लगा दिया और सपना से बोला कि मेडम चॉकलेट तो खा लीजिये, इस पर वो हंसने लगी और पूरी चॉकलेट चूसने और चाटने लगी. मेरा निकलने वाला था तो मैंने उससे रुकने को बोला, लेकिन एक बार मैंने उससे कहा था कि मुझे तब मज़ा आता है जब लड़की के मुँह में सारा रस निकाल दूं और उसके फेस पर लग जायें इसलिए जब मैंने उससे बोला कि मेरा निकलने वाला है.
वो मुझसे बोली कि तुम्हारी इच्छा आज पूरी हो जायेगी, इस पर में समझा नहीं और वो और ज़ोर-ज़ोर से अपने सिर को ऊपर नीचे करके मेरा पूरा लंड अंदर लेने लगी. फिर थोड़ी देर बाद में झड़ने वाला था तो में उसका सिर अपने लंड पर ज़ोर से दबाकर निकालने लगा.
मैंने ज्यादा जोश में आकर उसके मुँह में ज्यादा अंदर डाल दिया और उसकी आँखे फटी रह गई. फिर मैंने ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारकर उसके मुँह में सारा पानी निकाल दिया तो कुछ उसकी आँखों और मुँह पर लग गया. इसके बाद उसने अपनी साड़ी ऊपर की और अपने पेटीकोट से चेहरा साफ किया और रस को पी गई. अब मेरी बारी थी उसे खुश करने की, फिर में नीचे बैठ गया और उसकी साड़ी को थोड़ा ऊपर करके सिर अंदर डाल दिया और उसकी जांघो को किस करने लगा और मसलने लगा, वो बहुत उत्तेजित होने लगी थी और बोली कि ये अभी तक उसके साथ किसी ने नहीं किया है, उसका पति बस लंड चुसवाता था और बूब्स दबाते हुए उसे चोदता था.
मैंने उससे कहा कि पुरानी बातें भूल जाओ और अब बस इन्जॉय करो और मैंने सर अंदर डाल दिया और उसके पेंटी के पास चूमने और चाटने लगा. मुझसे कंट्रोल तो हो ही नहीं रहा था तो मैंने अपने दाँत से उसकी पेंटी साइड में की और चूत के लिप्स को चूसने और चाटने लगा, वो अचानक अपनी गांड उठाने लगी और मेरा सिर चूत में दबाने लगी. मैंने उससे पहले ही बोल दिया था कि चूत को शेव मत करना, क्योंकि मुझे चूत पर बाल अच्छे लगते है. जब उसने अपनी गांड उठाई तो मैंने हाथ अंदर डालकर उसकी पेंटी नीचे तक खींच ली और वापस से चूत के अंदर अपनी जीभ डाल दी और लगभग 20 मिनट तक चूसता रहा और बूब्स दबाता रहा.
फिर उसने मुझे ज़ोर से पकड़ लिया और उसकी चूत से रस निकलने लगा, जो में सारा चाट गया. अब में सीट पर बैठ गया और ब्लाउज के बटन खोलने लगा तो वो मना करने लगी, लेकिन मैंने उसे मनाया और सारे बटन खोल दिए और ब्रा को नीचे करके उसके निप्पल चूसने लगा और काटने लगा और एक हाथ से में उसकी चूत रब कर रहा था.
फिर थोड़ी देर के बाद मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और मैंने उसके सिर को पकड़कर अपने लंड पर रखा और सक करने को कहा, इस बार उसने अच्छे से चूसकर पूरे लंड को अपने थूक से भर दिया. फिर मैंने एक कंडोम खोला तो वो बोलने लगी कि यहाँ नहीं हो पायेगा, इसकी ज़रूरत नहीं पड़ेगी. फिर भी मैंने लंड पर कंडोम चढ़ा लिया और उससे बोला कि मेरे पैर के दोनों तरफ पैर डाल कर लंड पर बैठो तो थोड़ा मनाने के बाद वो मान गयी और उठकर लंड के ऊपर बैठ गई. अब मेरा लंड उसकी गांड पर टच हो रहा था, फिर मैंने उससे बोला कि ठीक से पोज़िशन करके अंदर डालो. तो उसने लंड को पकड़ा और अपनी चूत पर लगाकर बैठ गई, सच में दोस्तों पहली बार जब चूत में लंड जाता है तो क्या अहसास होता है ये पता नहीं था.
उसकी चूत मेरे लंड को जकड़े हुए थी और में उसकी पीठ को पीछे से चूम रहा था. अब वो सीट को पकड़कर धीरे-धीरे ऊपर नीचे होने लगी और में नीचे से झटके मारने लगा. मेरे सारे फ्रेंड्स ने मुझसे कहा था कि जब पहली बार चोदो तो चूत को टच करते ही पानी निकल जायेगा, लेकिन मेरा पहली बार ही मुँह में चुसवाने पर ही मेरा एक बार निकल गया था तो मेरा पानी जल्दी नहीं निकला और हम दोनों इस पोज़िशन में चुदाई करते रहे और में उसकी पूरी बॉडी को मसलते रहा.
फिर लगभग 15 मिनट के बाद मुझे लगा कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने उसे बताया तो वो एकदम से उठ गई और कुछ बोलने लगी तो में रुक गया. फिर उसने बताया कि उसे और सेक्स करना है इसलिए उसने मुझे बीच में ही रोक दिया. फिर थोड़ी देर बाद जब में वापस कंट्रोल में आ गया तो वो फिर लंड पर बैठ गई और हमने 10 मिनट तक बहुत ज़ोर से चुदाई की, लेकिन किसी ने देखा नहीं कि क्या चल रहा है और फिर में झड़ गया. लेकिन में इतना उत्तेजित था कि निकलने के बाद भी झटके मारता रहा और उसकी जांघो को मसलता रहा. फिर वो उठी और पेटीकोट से सब साफ किया और कपड़े ठीक किए, तभी उसकी बहन का कॉल आ गया कि कहाँ हो 2 घंटे 40 मिनट हो चुके है. फिर हम लोग बीच में ही मूवी छोड़कर बाहर निकले और मैंने उसे एक ऑटो में बैठा दिया और फिर वो अपने घर चली गई.