सेक्सी बहन को चुसाया लंड

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रशीद है और में जम्मू से हूँ में इस साईट का antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta Chudai Hindi Sex बहुत बड़ा फैन हूँ और जो स्टोरी में आप लोगों को बताने जा रहा हूँ, वो बिल्कुल सच्ची कहानी है, तो में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा स्टोरी पर आता हूँ.
मेरे दो बहनें है एक मुझसे छोटी है और उसको हम प्यार से छोटी बोलते है और एक मेरी बड़ी दीदी जो एक मस्त माल है. मेरी दीदी के ऊपर मेरी हमेशा नज़र थी, उनके फिगर का साइज़ 36-32-36 है और वो दिखने में एक पटाखा थी और मैंने छोटी को सेक्स के बारे में बचपन से ही सिखा दिया था और हम दोनों सेक्स से संतुष्ट भी थे और छोटी और में बिल्कुल पति-पत्नी की तरह ही घर में रहते थे और मेरी माँ हाऊसवाईफ है और पापा सरकारी कर्मचारी है. वो दोनों हमेशा काम में व्यस्त रहते है और छोटी और में हमेशा मेरे रूम में सेक्स करते थे.
मैंने छोटी को हमेशा मेरे लंड का जूस पीने के लिए बोला था और वो बहुत भोली है और मैंने उसको यह बोला था कि अगर वो मेरे लंड का जूस नही पियेगी तो भविष्य में बहुत प्रोब्लम आ सकती है. वो पिछले 3 साल से मेरे लंड का जूस हर रात को दूध में मिला कर पीती थी और माँ 2 दूध के ग्लास छोटी के हाथ में देती थी और छोटी हमेशा मेरे रूम में ले कर आती थी और में अपना दूध पी कर छोटी को रात में बिना कंडोम के चोदता था और सारा जूस छोटी के दूध के ग्लास में मिला देता था और वो भी बहुत जल्दी पी लेती थी और अब तो उसकी आदत हो गई है.
एक दिन क्या हुआ? पापा ऑफिस के काम से बाहर गये हुए थे और माँ एक बाबा के प्रवचन सुनने के लिए बाहर गई हुई थी. तभी पूरे घर की जिम्मेदारी मेरी बड़ी बहन ले रही थी, तो हमेशा माँ दूध देने के लिए छोटी को भेजती थी. दीदी को कुछ भी पता नहीं था और अचानक दीदी ऊपर मेरे कमरे में आई, तो देखा कि छोटी बहुत हंस रही है. दीदी ने सोचा कि क्या बात है? तो दीदी ने खिड़की से देखा, छोटी पूरी नंगी थी और में उसकी चूत को अपनी जीभ से चाट रहा था.
दीदी यह देखकर बहुत गुस्सा हो गई और कुछ नहीं बोली और आगे क्या हो रहा है देखने के लिए वो वहीं रुकी रही. फिर सब ख़त्म होने के बाद मैंने छोटी से बोला कि छोटी अब तेरा जूस पीने का टाईम हो गया है. तुम्हारा दूध का ग्लास लाओ तभी छोटी ने कपड़े पहने और दूध का ग्लास लाने के लिए दरवाजा खोला, तो दीदी बाहर खड़ी थी और शरमा भी रही थी, क्योंकि में नंगा था और छोटी को चोदने के कारण मेरे लंड पर पानी लगा हुआ था, तो बड़ी दीदी बोली तुम लोग यह सब करने के लिए एक साथ सोते हो तुम दोनों कैसे भाई बहन हो.
फिर छोटी ने दीदी से बोला कि पता है दीदी, सॉरी, लेकिन भैया मुझे पिछले 3 साल से चोदते आ रहे है और में उनके लंड का पानी पीती हूँ, ताकि मुझे भविष्य में कोई प्रोब्लम ना हो. दीदी मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी मैंने, तो सोचा आज तो मेरी वॉट लग गई. दीदी ने बोला में आज माँ को बताऊँगी कि तुम लोग क्या करते हो.
हम दोनों ने दीदी के पैर पकड़कर माफी माँगी और में अभी भी नंगा था. तभी दीदी ने बोला कि तूने ऐसी हिम्मत कैसे की बड़ी बहन के होते हुए, तभी मैंने बोला कि दीदी में समझा नहीं? दीदी बोली कि तू आज तक छोटी को जो करता आ रहा है, वो आज से मेरे साथ भी करेगा और हम दोनों दूध में मिला कर तेरा पानी पीयेगें. मेरी तो लॉटरी लग गई थी, अब तो ज्यादा जूस निकालना पड़ेगा.
फिर दीदी, छोटी और में नीचे गये और हम दोनों ने दीदी को चोदने के लिए तैयार किया. में दीदी को नहाने के लिए बाथरूम में ले गया और वहाँ उनके होंठ और चूत को पानी के साथ चाटने लगा. दीदी मेरी पहली चुदाई में पागल हो गई थी, वो बार बार मेरे बाल पकड़कर उनके बूब्स को मसल रही थी. फिर मैंने दोनों बहनों को सुहागरात के लिए तैयार किया और फिर दोनों को नहला कर सफ़ेद ब्रा और पेंटी पहना दिया. फिर दीदी 4 ग्लास दूध गर्म के लाई.
दीदी ने मुझसे बोला कि अब हम आज कुछ अलग करेंगे तू हमारी चूत का पानी अपने दूध के ग्लास में मिला कर पी. मैंने बोला ठीक है आप की मर्ज़ी. दीदी और छोटी ने अपनी चूत से पानी निकालकर मेरे दूध के ग्लास में डाल दिया और मैंने उसको पी लिया. उसके बाद मैंने छोटी से बोला कि देख तुझे में 3 साल से चोद रहा हूँ, तो आज में दीदी को संतुष्ट करूँगा, तू हमारा साथ देना. तभी छोटी हमारे नीचे अपनी जीभ से मेरे लंड और दीदी की चूत चाट रही थी.
फिर दीदी बोली की मेरी चूत साफ कर और दीदी ने छोटी को बोला कि मुझे ऊपर आकर किस कर, में दीदी की चूत में उंगली डालकर सेक्स करने लगा और दीदी और छोटी दोनों पागलों की तरह किस कर रहे थे. तभी मैंने अपना लंड बिना कंडोम के दीदी की चूत में डाल दिया, दीदी चिल्लाने लगी कि क्या कर रहा है? रशीद मुझे बहुत दर्द हो रहा है.
तभी छोटी बोली दीदी दर्द पहले पहले होगा, उसके बाद तो मज़ा ही मज़ा है. फिर मैंने दीदी को बहुत चोदा और दीदी पागलों की तरह चिल्ला रही थी और सिसकियाँ निकाल रही थी. फिर मैंने दीदी से बोला कि आप की गांड दिखा दो, मुझे चोदना है. फिर दीदी ने अपनी गांड पीछे कर दी, मैंने ज़ोर से धक्का दिया और चोदने लगा और दीदी बोलने लगी कि ऱशीद आज तूने मेरा दिल जीत लिया.
अब तू मुझसे जैसा बोलेगा में वैसा ही करुँगी. में आज से तेरी गुलाम हूँ और मैंने दीदी से बोला कि आपको मेरा लंड चाटना है, दीदी बोली कि उसके लिए तो में कब से बेताब हूँ, ला दे और लंड को आइसक्रीम की तरह चाटने लगी. फिर दीदी बोली कि चल रशीद मुझे और छोटी को दूध पीना है और हमें तेरे इस गर्म पानी से दूध पीला दे.
मैंने बोला कि दीदी अगर असली दूध पीना है, तो अपना मुँह खोलो और यह गर्म पानी पी लो, इसमें दूध की कोई ज़रूरत नही है और छोटी और दीदी दोनों मेरा लंड चूसने लगी और मेरे लंड का पूरा पानी पी गई. उस दिन से मेरे बेडरूम में छोटी या बड़ी बहन में से एक जरुर होती है और में अब कंडोम का इस्तेमाल करता हूँ और अपनी दोनों बहनों की चुदाई करके उन्हें संतुष्ट करता हूँ और में भी मजे लेता हूँ.