ज्योतिष को भाबिस्य दिखने गयी थी,चूत दिखा आई

मेरा असली नाम सुशीला है. शादी हुए कुछ ही दिन हुए थे antarvasna antarvassna Indian Sex Kamukta Chudai Hindi Sex मैं हनीमून में ही समझ गयी थी. उनमे ताकत नहीं है. शादी के पहले मेरी तीन सहेलिया थी. हम बहुत सेक्सी बातें करते थे. एक की शादी हुई, तो उसने बताया कि उसके पति का लौड़ा बहुत मस्त है. हज़ार- हज़ार फटके मारता है और सेक्सी विडियो भी दिखाता है. बहुत मज़ा आता है. उसने हमें छुपाकर डीविडी भी दी. हमने उस में तरह- तरह की चुदाई देखी, पर जब मेरी शादी हुई… तो मुझे मज़ा नहीं आया. जैसे- तैसे तीन महीने निकल गये.

एकदिन, हम दोनों पिक्चर देखने गये. मेरे बाजु वाला लड़का मुझे टच करने लगा. मैं इस मौके का फायदा उठाना चाहती थी. तो मैं उसकी तरफ झुक गयी. वो मुझे दबाने लगा और मैंने भी उसका हाथ दबाया. फिर आहिस्ते- आहिस्ते मेरा हाथ उसके लंड पर चला गया. वह्ह्ह्ह! क्या मस्त लंड था उसका. काफी टाइट हुआ था. इतने में इंटरवल हो गया. लाइट में हम दोनों ने एक दुसरे को देखा और मुझे बहुत मस्त पैसे वाला खानदानी लड़का लगा वो. मैं बहुत खुश हुई. इंटरवल के बाद, मेरे पति सो गये थे.

मैंने उसका लंड बाहर निकाला और वो मेरे ब्लाउज में हाथ डालकर जोर- जोर से दबाने लगा. मैं उसका लंड मुठ्ठी में पकड़कर मुठ मारने लगी. मैं जोर- जोर से मुठ मार रही थी और वो भी जोर से दबा रहा था. कहीं पति ना जाग जाए, इसलिए मैं जल्दी से जल्दी उसका पानी निकालना चाहती थी. साले का बहुत ही सख्त था. मैंने स्पीड तेज की, तो दोनों की कुर्सिया हिलने लगी. उसके बगल वाला और आगे वाले समझ गये. मैंने किसी की परवाह ना करते हुए, उसकी मुठ मारती रही. आखिर उसका पानी निकला और मेरी मुठ्ठी उसके माल से भर गयी.

मैंने साड़ी से पोछा. मैं बहुत खुश थी. जिन्दगी में पहली बार इतना मोटा लंड हाथ में पकड़ा था. मैंने इशारो में फ़ोन नंबर माँगा, उसने दिया. पिक्चर छुटा और मैं पति के साथ घर चली गयी, पर दिमाग में उसका लंड घूम रहा था. मैं बैचेन थी. सुबह पति के जाने के बाद, मैंने सोचा जो होगा देखेंगे. एकबार तो उस तगड़े लंड से चुदवा ही है. उसे फ़ोन किया, बात हुई. मैंने उसे घर बुलाया. वो आया. मैंने दरवाजा बंद कर लिया. उसने तुरंत मुझे बाहों में भर लिया. हम दोनों एकदुसरे को चूमने लगे. मैंने उसकी पेंट उतारी और लंड को बाहर निकाल कर चूसने लगी.

मैंने डीविडी में जो जो देखा था, वो सब मैं उससे करवाना चाहती थी. लेकिन पहले चूत में लंड धुकाना चाहती थी. वो मेरे बूब्स चूसने लगा. मैंने देरी नहीं की और साड़ी ऊपर उठाई, अंडरवियर निकाला और सो गयी. वो मुझे नंगी करना चाहता था. मैं बोली – पहले धुकाव और उसका लंड अन्दर जाने लगा. मैं चिल्लाने लगी अहहहहः अहहहः ऊऊऊओह्हह्हह्हह्हह ओवोवोव्वोवूव अर्र्र्रर्र्र कितना मोटा है रे तेरा लंड हहहः और कितना अन्दर धुकेगा. अहहः कितना लम्बा है रे ..तेरा तो ऊऊऊ … वो बोला – तेरी चूत भी कितनी गरम है और वो जोर- जोर से दना दना दे दना दे द्न्न्दन्द्न्दन्द सुसुसुसू सुसुसुस… उसने स्पीड तेज कर दी और मेरी चूत फाड़के पिचकारी मारी. मेरी चूत भर गयी. मैं शांत हुई और उसके दबाया और चूमा. वो चले गया. अब मैं उससे और चुदवाना चाहती थी. लेकिन कहीं पकड़ी ना जाऊ. वो भी मेरे घर आने से डरता था. उसके कई दोस्त में हमारे मोहेल्ले में रहते थे. तो वो आते हुए डरता था.

एकदिन, मुझे एक ज्योतिषी मिला. मैंने उसे घर बुलाया. मैंने उसे हाथ दिखाया और कई बार अपनी साड़ी नीचे गिराई. उसने मेरे हाथ अपने जांघो पर रखे. मैंने उसे सहलाकर उसका लंड टाइट कर दिया और अनजाने में लंड पर हाथ रख दिया. उसे अच्छा लगने लगा और उसके लंड फड़फड़ाने लगा. मैं दवाब बढाने लगी. फिर एकदम जब लंड खड़ा हुआ, तब मैंने उसे प्लान समझाया. वो मान गया. मैंने उसके लंड को बाहर निकाला और मुठ मारकर पानी निकाला. वो खुश हुआ. दुसरे दिन, सन्डे को वो आया और मेरे पति उस समय घर पर ही थे. वो बोला – हम हिमालय से आये है और हम तुम्हारा भविष्य देखेंगे. मेरे पति ने मुझे बुलाया और मैंने पति को बोला – दिखाईयेना. वो अन्दर आया और पति का हाथ देखने के बाद, मेरा हाथ देखा और चिंतित होकर मेरे पति को बोला. कि अगर आपको सुख सम्पति चाहिए, तो आप को एक काम करना होगा. ज्योतिषी बोला – आपके पास बहुत धन आ जायेगा. आपकी पत्नी को किसी ना किसी से करवाना होगा. हम लोग चिंता में आ गये. ज्योतिषी चले गया.

मैं पूछा – क्या सोच रहे हो? जाने दो, हमें कुछ नहीं चाहिए. चलो हम पिक्चर देखते है, हम पिक्चर गये प्लान करके और इस बार भी वो ही लड़का मेरे बगल में बैठा था. वो मुझे दबाने लगा. मेरे पति को भी डाउट आने लगा. इंटरवल में वो चले गया. मैंने पति को बोला – वो मुझे दबा रहा था. पति विचार करके बोला – दबाने दो उसे. तुम पटाओ उसे, अगर पटता है तो आज ही बुला लेंगे. मैं ना करके बोली. इंटरवल के बाद वो आया और फिर से दबाने लगा. मैंने भी उसका लंड बाहर निकाला. पति चुपचाप देख रहे थे. पिक्चर ख़तम होते ही. मेरे पति जानबूझकर जोर से बोले. अच्छा मैं यहीं से जाता हु. टी घर जा. रात में, मैं देर से लौटूंगा और वो चले गये. मैं लड़के को लेकर घर आ गयी. अब दोनों को कोई डर नहीं था.

फिर मैंने उसे बोला – आज तुमको जितना चुसना है चुसो. मैं पूरी नंगी हुई और हम दोनों एक दुसरे को दबाने लगे चूसने लगे. मेरा पति सब देख रहा था. फिर उसने चोदना शुरू किया. हजारो फटके मारे. पति को शर्म आने लगी. वो देद्नाद्न चोद रहा था. उसने आज गोली भी खायी थी. मैं भी उछल- उछल कर साथ दे रही थी. आखिर उसका पानी निकल गया. दोनों शांत हुए. मैं बोली – कल आओगे. वो बोला – हाँ और चले गया. पति अन्दर आ गये. मैं बोली – देखा मर्द. ऐसे चोदते है. आप ने जितने ३ महीने में फटके मारे है, उसने उससे ज्यादा तो एक ही चुदाई में मार डाले. मेरे पति को शर्म आई और बोला – अब तू खुश है ना. मैं बोली – बहुत खुश. वो बोला – अब हमारा धन भी ठीक हो जाएगा. तू उससे चुदवा और फिर मैंने उससे बहुत चुदवाया. फिर उसके फ्रेंड से भी ठुक्वाया. मैंने फिर कइयो से चुदवाया. फिर करीब १ साल बाद, मैं पेट से हुई और मुझे एक लड़की हुई. फिर मैंने चुदवाना शुरू किया. आज करीब ३ साल में मैंने हंड्रेड से भी ज्यादा लोगो से चुदवाया है. तीन- चारम चौदा- पंद्रह साल के लडको से भी और एक अस्सी इयर के बुद्दे से भी. अब मैं बहुत खुश हु.

अब मैं मोटी होती जा रही हु. सुंदर और सेक्सी भी. २५ की हु पर ३० की लगती हु. कई दिनों से मेरी इच्छा थी, कि बाप- बेटे दोनों से चुद्वाऊ और एकदिन हमारे नौकर का लड़का आया. करीब १८ साल का था. मेरे मुह में पानी आ गया. वो चला गया. मैं नौकर को पटाने लगी. तीन ही दिन में, उसे पटाके चुदवाया. वो करीब ५० का था और दुसरे दिन, उसके चोदने के बाद उससे बोला – तुम्हारे बेटे को भी काम पर रखो. वो समझ गया. पैसे के वास्ते, उसने उसे बुला लिया. अब वो भी काम करने लगा. मैंने बेटे को पटाया. बाप समझ गया था. मैंने उसे कुछ पैसे दिए. बाप- बेटे को बोला. जैसे मैडम जी बोलेंगी, वैसे ही करना. फिर मैंने उससे चुदवाया, बाप देख रहा था. अगले दिन, मैंने बाप – बेटे दोनों से दबवाया. मैंने उनको बोला – बारी बारी से चोदो. वो दोनों मुझे चोदने लगे. बाप बोला – पहले मुझे चोदने दे. बेटे ने कहा – आपका थोड़ी देर रुकिए, आपका जल्दी झड़ जाता है. बाप बोला – बेटे मेरा तेरे से भी स्ट्रोंग है और दोनों एकसाथ मिलकर मुझे चोदने लगे.

ऐसा आनंद मुझे पहली बार आया था. दोनों को ऐसा पटाया, कि अब एक गांड में और दूसरा मेरी चूत में लगा हुआ था. मेरा पति ये सब चुपचाप देखता है. जी बदमाशी करेगा.. उसे हम हटाते है. इस तरह आज मुझे ३ साल हो गये चुद्वाते हुए.