तलाक मेरे कारण

डेटिंग वेबसाइट पर चैट करते करते एक बार मेरी मुलाकात एक ऐसी औरत से हुई Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai जो एक बड़ी ही फेमस कंपनी में ऊचे ओहदे पर कार्यरत थी! लेकिन मुझे नहीं मालूम था! काफी कम्युनिकेशन के बाद हम दोनों का फ़ोन पर बात करना शुरू हुआ!

कुछ समय बात करने के बाद उसे एहसास हो गया कि, मैं भी एक बहुत ही अच्छे खानदान से ताल्लुक रखता हूँ! अब उसका मेरा फ़ोन पर बात करना आम हो गया! वो शादीशुदा थी, उसकी 2 लडकिय भी थी! बाद में उसने बताया कि, उसका पति भी सरकारी मुलाज़िम है और सरकार के किसी ऊचे पद पर काम करता है! उसके बहुत सारी औरतो से संबंध भी हैं! लेकिन वो उसपर बहुत शक करता है, और कभी कभी तो उसे और अपनी लडकियों को मारता भी है! इसलिए वो एक दोस्त चाहती है, जिससे वो फ़ोन पर ही बात कर सके!

हम दोनों का फ़ोन पर बात करना जारी था! एक दिन जब मैं ऑफिस में था तो शाम को उसका फ़ोन आया! किसी कारणवश मैं उसका फ़ोन नहीं उठा पाया और 1 घंटे बाद जब मैंने अपने मोबाइल फ़ोन पर उसका मिस कॉल देखा तो उसी समय उसे वापस फ़ोन किया! उसने फ़ोन काट दिया, और फिर उस दिन हमारी कोई बात नहीं हुई!

अगले दिन सुबह उसका फ़ोन आय और उसने मुझे बताया कि कल शाम को जब मैंने उसे फ़ोन किया था, तो उसका पति भी उसके साथ था और उसने मेरा नंबर देख लिया! उसने उसपर मेरे साथ सम्बन्ध हॊने का लांछन लगाया! उसके मना करने पर उस रात उसने मेरी दोस्त की खूब पिटाई की! उस दिन उसने उसे इतना मारा कि, मेरी दोस्त की एक आँख काली हो गयी थी! इसके बाद मेरी दोस्त ने अपना तबादला (ट्रान्सफर) दुसरे शहर में करवा लिया और कोर्ट में seperation का केस डाल दिया! और अब वो अपना अच्छे से रह रही है!

हम दोनों 8 साल में अभी तक नहीं मिले, जब उसने मुझे 6 साल बाद अपने बारे में बताया कि, मेरे उस फ़ोन के कारण ये सब हुआ! तो मुझे अपने आप पर शर्म आयी! मैंने उससे सॉरी कहा! लेकिन उसका कहना की ये अच्छा ही हुआ क्यूंकि वो उसके साथ नहीं रहना चाहती थी! उसकी गालिया, उसके साथ जबरदस्ती सम्भोग करना उसके पति की आदत हो गयी थी! लेकिन शायद साथ मेरे फ़ोन से उसकी ज़िन्दगी बदल गयी है और अब वो बहुत खुश है!

हम दोनों आज भी बात करते हैं! लेकिन 8 सालो में अभी तक नहीं मिले! शायद यही एक सच्ची दोस्ती है, जिसमे ना कोई स्वार्थ है, न कोई छल! सिर्फ एक दुसरे के लिये प्यार, सम्मान, आदर और केयर हैं!