विदेश में गोरियों से प्यार

एक बार मुझे बाहर जाने का अवसर मिला. मेरे भाई लोग बाहर विदेश में settled हैं! जो Hindi Sex Stories Antarvasna चाहते थे कि, मैं एक बार उनके पास आकर उस देश का माहोल, संस्कृति, लोगो का रहन-सहन देखू! वो, मुझे उस देश से अवगत करवाना चाहते थे! तो इसी कारण मुझे एक दिन, वो अवसर भी मिल गया! और मैं कुछ समय के लिए बाहर चला गया!

मैं इन्टरनेट पर पहले हि, कई गोरी लड़कियों के संपर्क में था! जिसमे कई लोगो को तो 10 साल ज्यादा हो चुके थे! और उसमे से कई तो ऐसी थी, जिन्हें मुझसे मिलने की कोई उम्मीद नहीं थी! लेकिन वो वक़्त आ चुका था, और मैं अब उनसे मिलने को तैयार भी था!

वहाँ पहुचकर मैंने सबसे पहले अपने लिये एक सिम कार्ड खरीदा, फिर मैंने उन गोरियों के फ़ोन नंबर, अपने मोबाइल में फीड किये और उनसे बात करनी शुरू की! मुझसे बात करके वो तो, ना जाने पागल सी हो गयी! उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि, वो मुझसे मिल सकती हैं क्यूंकि, सात समुन्दर पार की दूरी तय करके जाना आसान नहीं था!

अब मैंने उनसे मिलने का समय निश्चित किया और मिला! पहले हम दोनों बाहर मिले, इतने समय के बाद, एक दुसरे को देखकर excited होना लाज़मी था! मिलते ही एक दुसरे को गले लगाया, openly किस किया और फिर ओपन बार में बैठ कर बियर पीने चले गये! हम लोग इसी तरह घुमते रहे, और फिर शाम को उसने मुझे अपने घर डिनर पर चलने को कहा! मैंने अपने भाई को फ़ोन किया, और बोला कि, मैं कल आयूंगा और उसे अपनी फ्रेंड की बात बता दी! उसके कुछ नहीं कहा!

रात को उसने डिनर बनाया, डिनर के साथ दोनों ने वाइन पी और फिर रात के उस माहोल को गानों के साथ रंगीन बना दिया! उस गोरी की जांघ, उसके उरोज (स्तन), उसके हिप्स और उसके होठ कातिल थे! हम दोनों कई बार जुड़े! और अगले दिन वो मुझे बीच पर ले गयी, जहां हम दोनों कपडे उतार कर रेत में लेटे रहे, बियर पी और फिर एक दुसरे को openly किस किया! हम दोनों फिर से गरम हुए, और उसने मुझे उकसाया कि मैं उसके साथ बीच पर ही जुड़ जायूं, और पहली बार ज़िन्दगी में मैंने, उस गोरी के साथ बीच पर खुले में, सम्भोग किया!

वो मेरी ज़िन्दगी का एक यादगार लम्हा बन गया! इसके बाद मैंने कई और लडकियों से जिन्हें मैं जानता था, संपर्क किया और एक अच्छा समय बिताया! आज भी वो गोरियाँ मुझे याद करती हैं, और आने के लिए फिर बुला रही हैं! और मैं भी आतुर हूँ जाने के लिये उनके पास!