मैं कामुक कामदेव

मेरे दोस्त जिन्होंने मेरा नाम कामदेव रखा हुआ है, मेरे बारे में जानते हैं की लडकिया या औरते पटाने में मैं माहिर हूँ! वो, जानते हैं कि, मुझे उन्हें पटाने में ज्यादा वक़्त नहीं लगेगा और उसके बाद शायद वो भी उनसे मजे ले सके!

एक बार मैंने एक औरत को इन्टरनेट से, डेटिंग वेबसाइट पर कांटेक्ट किया और दोनों के ईमेल पर कम्युनिकेशन से, हम दोनों का फ़ोन पर बात करना शुरू हो गया! उसके बाद हम दोनों ने मिलने का भी प्लान किया और हम एक दुसरे को पसंद भी आ गये! हम दोनों अब weekends पर मिलते पब्स में शराब पीते, डिस्क में जाते, डांस (नाच) करते और लाइफ को एन्जॉय करने लगे! एक बार उस लड़की के घर वालो को कहीं, शहर से बाहर जाना था तो उसने मुझे, पहले ही इतला कर दिया और हम दोनों ने एक पूरा दिन और रात एक साथ बिताने का प्लान बना डाला!

मैं उसके घर गया और दोनों ने शराब पीते-पीते खाना बनाया, फिर दोनों एक साथ नहाये! गुसलखाने में ही एक दुसरे को चूमा, सम्भोग किया और फिर खाना खाया! खाना खाने के करीब एक घंटे बाद 11 बजे, हम दोनों ने फिर शराब पीनी शुरू की और इस बार शायद शराब का नशा कुछ ज्यादा असर दिखा रहा था!

शराब पीने के बाद मैं और कामुक हो गया, उसका यौन उसकी जवानी को दर्शा रहा था!, फिर उसने गाने चला दिए और अब मैं उसकी गोरी चिकनी पतली कमर को पकड़कर नाच कर रहा था! मेरा स्पर्श उसे और कामुक बना रहा था! उसकी पतली चिकनी कमर और नाच के साथ उसके ठुमके, मुझे मदहोश कर रहे थे! जब मुझसे रहा नहीं गया तब मैं अपने घुटनों के बल बैठ गया, और उसकी कमर को पकड़कर उसकी नाभि को चूमने लगा! वो और कामुक हो गयी, फिर मैंने उसे नंगा कर उसके पूरे बदन को चूमना शुरू किया!

आज उसका आकृषित बदन मुझे अपनी और, और ज्यादा आकृषित कर रहा था! अब शायद रुकना नामुमकिन था, और आख़िरकार उसने मुझे पकड़कर जबरदस्ती अपने अन्दर फनाह करने पर मजबूर कर दिया! मैं कामदेव आज भी उस कन्या के कांटेक्ट में हूँ और समय समय पर हम दोनों एक दुसरे को आकृषित कर एक दुसरे को आनंद देते रहते हैं!