Indian Sex गुजराती भाभी की चुदाई

Antarvasna Indian Sex Stories गुजराती भाभी की चुदाई

हेलो फ्रेंड्स, आई ऍम राजा. एक कंपनी में सिविल इंजिनियर की पोस्ट पर कार्यरत हु और मेरी हाइट ६’८” है और नार्मल वेट, सांवला बदन और एक सिंपल लड़का हु. ये कहानी मेरी और भाभी की चुदाई की है और ये बात उन दिनों की है, जब मैं इंजीनियरिंग की स्टडीज ख़तम करके जॉब के लिए गुजरात भैया के पास गया था. जहाँ पर २४ साल की भाभी, प्रिया और उनकी एक ३ साल की बेटी, सोनिया रहती है. भाभी की जितनी तारीफ की जाये, उतनी कम है. भाभी बहुत सेक्सी है और उनका साइज़ ३४-३२-३६ का है और जब उनकी शादी २००४ में मेरे भैया से हुई थी, तब से हम बहुत अच्छे फ्रेंड थे. हम दोनों एक दुसरे के बहुत अच्छे दोस्त थे. हम दोनों एक दुसरे से सभी बातें शेयर करते है. गर्ल फ्रेंड्स और बॉय फ्रेंड्स से लेकर चुदाई तक हम तो चुदाई की स्टोरी भी साथ पढ़ते थे . उनकी शादी के बाद जब हम दोनों घर पर थे, तो हम दोनों ११ बजे तक बातें करते थे. दिन रात और जब भी टाइम मिलता, तभी बातें करते रहते थे. लेकिन मैने कभी भाभी को चोदने के बारे में नहीं सोचा. एक दिन इवनिंग में तयार होकर पार्टी में जा रहा था.

तो अंकल के घर गया और देखा, भाभी नहीं है और जब आंटी से पूछा तो पता चला, कि वो गुस्सा है और अन्दर रूम में है. तो मैं अन्दर ही जाने लगा. अन्दर अँधेरा था और मुझे बिस्तर का अंदाज़ा नहीं लगा और जब मैने अपने हाथ को इधर-उधर चलाया और मेरा हाथ भाभी की प्यारी चुचियो पर चला गया और मेरी पुरे बदन में करंट सा दौड़ गया. मैने अपना हाथ नहीं हटाया, क्युकि मन कर रहा था, कि इतनी प्यारी और मुलायम चुचियो को दबाता रहू और चूस चूस केर दूध निकाल दू. पर मैने कण्ट्रोल किया और भाभी एकदम शांत थी. तो फॉर मैने हाथ हटा कर पीछे किया और पूछा – क्या हुआ भाभी. भाभी बोली – कुछ नहीं, सिर में थोडा सा पेन है. मैने कहा – दवाई ले ली? भाभी ने कहा – नहीं, ठीक हो जायेगा. तो मैं वहां से चले गया और भाभी की चुदाई के बारे में सोचने लगा. चोदु कैसे, प्लानिंग करने लगा. मुझे मौके तो बहुत मिले बट डरता था, कि कहीं भाभी बुरा ना मान जाए और मैं अपना सबसे प्यारा दोस्त ना खोदु. ये सब सोचकर मैने उसे नहीं चोदा. कुछ समय बाद, मैं हायर स्टडीज के लिए बाहर चले गया और वो भी भाई के पास रहने चली गयी.

मैं भी स्टडीज में बिजी हो गया और कभी-कभी बात होती थी. फिर आफ्टर ४ इयर्स हम दोनों की मुलाकात हो ही गयी. हम दोनों बहुत ही खुश थे. हम दोनों ने मिलकर खूब एन्जॉय किया. एक दिन भैया को ऑफिस के काम से मुंबई जाना पड़ा. उसी दौरान मैने भाभी को मोबाइल में ब्लूफ्लिम देखते हुए देख लिया बट भाभी ने मुझे नहीं देखा. भाई के जाने के बाद नाईट को हम तीनो (भाभी, मैं और उनकी बेटी) १० बजे तक भाभी के रूम में टीवी देख रहे थे. भाभी ने बोला – आज सोने का प्रोग्राम नहीं है क्या? मैने बोला – आज यही सोना है. उन्होंने मुझे बोला – तुम यहाँ नहीं सो सकते हो. तुम्हारे भी यहाँ नहीं है और अगर किसी के देख लिया, तो क्या सोचेंगे? मैं उठकर जाने लगा. पीछे मुड़कर देखा, तो उनकी बेटी सो चुकी थी. मै कमरे में वापस मुद गया और उसके पास जाकर बैठ गया. मैने लाइट पहले ही बंद कर दी थी. अब मैने टीवी भी बंद कर दिया और अँधेरा हो गया और अचानक मैने भाभी को किस करने की नाकाम कोशिश की. मुझे ऐसा लगा की वो पहले से ही जान रही हो, कि मैं किस करने लंगुंगा.

मुझे किस भी नहीं मिला और भाभी गुस्सा हो गयी बोली अभी तुम जल्दी से चले जाओ और तब मैं चले गया. ऑलमोस्ट १० मिनट बाद भाभी की कॉल आती है और वो मुझे धमकाने लगी, कि वो सब कुछ भैया को बता देंगी. हम लोगो ने तुम पर इतना विश्वास किया और तुम ऐसा कर रहे हो. मैं डर गया और सोचने लगा कि अगर सच में भैया को पता चल गया, तो गया होगा. फिर, मैं सुबह सोकर उठा, तो सोचने लगा कि उनके रूम पर कैसे जाऊ? और फिर सोचा, कि जो होना था, वो हो चूका है और भाभी के यहाँ जाकर उनसे नज़रे चुराने लगा. भाभी ने बोला – क्या हुआ? मैने बोला – कुछ नहीं. फिर भाभी ने मुझे बोला – मैं तो तुम्हे बहुत अच्छा समझती थी बट मैं क्या करू, कुछ समझ नहीं पा रही हु. अब रोज़ मैं जल्दी सोने जाने लगा और भैया २ दिन बाद वापस आ गये. भैया वापस आये, तो भाभी ने भैया से मेरे सामने ही बोला – कुछ बताना है आपको और मेरी तरफ मुस्कुराते हुए बोली – बता दू क्या? मैने अनजान बनते हुए कहा – क्या बात बतानी है. भैया ने पूछा – क्या हुआ? तो भाभी ने कहा – आपके के आजकल थोड़े शरारती हो गये है.

तो भाभी बोली – कुछ नहीं और ऐसा बोलकर बात को ताल दिया. अब भाभी मुझे अक्सर छेड़ती रहती और मैं भी पीछे नहीं हटता. एक दिन की बात, मैं खाना खा कर टीवी देखे कर सोने के लिए जाने लगा. तो मैने देखा की बाहर मेरी चप्पल नहीं है. मैने अपनी चप्पल के बारे में भाभी पूछा. भाभी पहले से ही अँधेरे से बैठी हुई थी और बोली – मुझे क्या पता? जहाँ तुम देख रहे हो, वहीँ होगी. मैने उनको बोला नहीं मिल रही है और मैं उनके पास गया तो देखा, कि वो मेरी चप्पल पहनकर और अपने पैरो को ऊपर करके बैठी थी. वो बोली – आकर निकाल लो. मैने उनके पास गया और अपनी चप्पल निकालने की कोशिश करने लगा और वो मेरी चप्पल को अपने नीचे दबाकर बैठ गयी थी. मैने अपने हाथ उनके नीचे गुसा दिए, जिससे मेरे हाथ उनकी चूतड़ से टच होने लगे और उनकी पेंटी से भी मेरे हाथ से टच हो रही थी. भाभी कुछ भी नहीं बोल रही थी. तभी मैने उनकी पेंटी की प्लास्टिक को खीच दिया. वो तब भी कुछ नहीं बोली और अब मैने उनके चूतड़ पर हाथ रख दिया और फिर उनके सेक्सी चूतड़ को सहलाकर आनंद लेने लगा.

तभी भाभी बोली – ये क्या कर रहे हो. मैने बोला – कुछ नहीं, अपनी चप्पल निकाल रहा हु और मै बहभी की प्यारी चुचियो पर हाथ लगाकर दबाने लगा और चूत को पेंटी और सलवार के ऊपर से ही अहसास किया. फिर भाभी ने मुझे सीढियों के पास ले जा के एक किस कर दी और बोली – जाओ, नहीं तो तुम्हारे भैया आ जायेंगे. मैने चले गया और थोड़ी देर बाद भाभी की कॉल आई, कि तुम बहुत ही ख़राब हो. मैं बोला – क्या हुआ? वो बोली – मस्त मौसम में गरम करके चले गये. तो मैने कहा – कोई नहीं, भाई तो है. तो भाभी ने बोला – ऐसा थोड़ी होता है, की गरम करे कोई और ठंडा करे कोई. मैं बोला – सॉरी फॉर टुडे. भाभी बोली – कोई बात नहीं, आज तुम्हे याद करके तुम्हारे भाई से चुद जाउंगी. बट कल तुम्हे बताउंगी. तो अगले दिन, मैं इंटरव्यू का बहाना करके रूम पर ही रुक गया और भाई ऑफिस चले गये. मेरी धड़कन तेज हो गयी और मैने डोर और विंडो लगा कर परदे गिरा दिए. भाभी कपडे प्रेस कर रही थी.

मैने शरारत करते हुए स्विच ऑफ कर दिया और भाभी की प्यारी चुचिया दबाने लगा. तो उनको किस करते हुए चूत को सहलाता रहा. भाभी के मुह से आवाज़े निकल रही थी अहहहः ह्ह्ह चोदो ना ..बड़े शरारती हो. तो मैने बोला – अगर मैं शरारती नहीं होता, तुम्हारी रस भरी जवानी का मज़ा कैसा चखता. तो भाभी ने मुझे कसकर बाहों में ले लिया और बोली – देवर जी आज मेरी जवानी का मजा ले लो. तो मैं भाभी की चूत चाटने लगा और भाभी मेरा लंड को मसलकर मेरे लंड का मज़ा ले रही थी और भाभी की चुदाई शुरू हो गयी और मेरा लंड उसकी चूत में ३० मिनट तक चुदाई करता रहा और उस दिन मैने उनकी ५ बार चुदाई की और हर चुदाई अलग स्टाइल में की और उनको पूरा नंगा करके चोदा. अब मैं जब भी भाभी से मिलता हु, तो भाभी की मस्त चुचिया मसलता हु और मस्त चोदता हु.