Indian Sex Stories चालू लड़की ने लोडा लिया

Antarvasna Indian Sex Stories चालू लड़की ने लोडा लिया

हेलो, मैं हरिद्वार उतरांचल से हु. आज मैं आपको अपनी स्टोरी आप लोगो से शेयर करना चाहता हु. ये बात २००३ की है. मेरा नाम ज़ुलुद है और मैं एक कूल बंदा हु. मुझे सेक्स करने का जुनून है. मुझे औरतो के मम्मे और गांड में कुछ ज्यादा ही दिलचस्पी है. मेरा लोडा साढ़े छ: इंच का है. इस कहानी में जिस लड़की के साथ सेक्स करने का जिक्र कर रहा हु, उसका नाम पारुल है. उसका फिगर ३४ २८ ३८ का था और उसकी गांड तो साली बड़ी ही सेक्सी थी. उसके मम्मे भी काफी सेक्सी थे और वो एक चालू लड़की थी. चलिए, अब आपको पूरा किस्सा सुनता हु.

साल २००३ का अप्रैल का मंथ था. १० डेट को मेरे घर गीता के फादर आये और साथ में गीता भी. उन्होंने पापा से बात की. १२ तारीख से गीता के एग्जाम है और उसका सेण्टर आपके घर के पास वाले स्कूल में है. इसलिए जब तक गीता के एक्साम्स है, उसके पापा चाहते थे, कि वो तब तक हम लोगो के घर पर रुके. मेरे पापा ने हाँ कर दी. गीता का बिस्तर मेरे ही रूम में लगा दिया. पहली रात को वो पढ़ती रही और मैं कंप्यूटर पर काम करता रहा. वो रात तो ऐसे ही चुपचाप निकल गयी. अगले दिन सुबह हम दोनों का इंट्रो हुआ. उसने अपने बारे में बताया और मैने अपने बारे में, फिर शाम को हम साथ बैठकर बातें करने लगे. उसने पूछा – तुम्हारा कोई दोस्त है या नहीं. मैने मजाक में कह दिया – अभी तक तो नहीं है, अगर तुम बुरा ना मानो, तो तुम बन जाओ. पहले तो वो हंसी और फिर कहा – ठीक है और बोली – आज से तुम और मैं दोस्त है.

थोड़ी देर ऐसे ही बाते होती रही और फिर वो बोली – क्या हम एक दुसरे से फ्रेंकली बातें कर सकते है? मैने कहा – क्यों नही… अब तो हम दोनों दोस्त है. फिर उसने कहा – सेक्स के बारे में तुम्हारी क्या थिंकिंग है. उसके मुह से ये सुनकर मैं हैरान हो गया, कि वो बोल क्या रही है? मुझे इस तरह देखकर वो बोली – तुम्हे क्या हुआ? मैने कहा – पहली बार किसी लड़की के मुह से सेक्स शब्द सुना, इसलिए थोडा अजीब लगा. उसने कहा – कॉम ओन यार, अब तो हम दोस्त है. बात वही ख़तम हो गयी. रात हो गयी थी और हम डिनर करके छत पर चले गये. हम दोनों छत पर घूम रहे थे. फिर मेरा मन कुछ हरकत करने का कर रहा था. मैने अपना हाथ उसकी गांड पर रख दिया. वो कुछ नही बोली. फिर मै अपने हाथ से उसकी गांड को सहलाने लगा. वो फिर भी कुछ नहीं बोली. ये देखकर मुझे थोड़ी हिम्मत मिली.

फिर, मैने उसको एक दिवार के सहारे लगा दिया और उसके चेहरे को अपने हाथो में ले लिया और उसको किस्सी करने लगा. वो अब भी चुप थी. ये देखकर मैं समझ गया, कि वो भी ये सब चाहती थी. फिर क्या था .. मै उसे जोर-जोर से किस करने लगा. बहुत मज़ा आ रहा था. अब मेरा एक हाथ उसके बूब्स पर था और उसका हाथ मेरे लंड पर. जैसे की गर्मियों में ९०% ऑउटफिट हाफ-पेंट और टी-शर्ट होता है; मैने भी वही पहना हुआ था. मेरा हाथ उसके बूब्स से हटकर धीरे-धीरे उसकी चूत की तरफ जा रहा था और मैने उसकी चूत को धीरे-धीरे दबाना शुरू कर दिया. थोड़ी देर बाद, वो अपने घुटनों पर बैठ गयी और उसने मेरा लोडा अपने मुह में ले लिया और उसे चूसने लगी. मैं आप लोगो को बता नहीं सकता, कि मुझे कितना मज़ा आ रहा था. बड़ी मजेदार लड़की थी वो. मुझे नहीं मालूम था, कि वो ऐसी होगी. फिर वो उठी और मैने उसे कहा – अब रूम में चलते है.

हम रूम में आ गयी. फिर मैने रूम लॉक कर दिया. सब सो चुके थे. जैसे ही मैने रूम लॉक किया और रूम की लाइट जलाई, वो मुझसे लिपट गयी और हम एक दुसरे को किस करने लगे. अब मैने उसका सूट उतारा और उसकी ब्रा के अन्दर हाथ डाल कर उसके बूब्स को दबाने लगा. उसने लोअर पहना हुआ था. मैने उसे बेड पर लिटाया और उसकी दोनों लेग्स कंधो पर रख ली और उसका लोअर पकड़ कर खीच लिया. अब मेरे सामने एक लड़की सिर्फ पेंटी और ब्रा में लेती हुई थी. उसने भी मेरे सारे कपडे उतार दिए और हम दोनों एक दुसरे के सामने हाफ न्यूड थे. वो ब्रा-पेंटी में थी और मैं फ्रेंची में था. अब मैने उसकी ब्रा ओपन कर दी और उसके बूब्स मेरे सामने थे. मैं उन्हें दबा रहा था और उनको बेरहमी से चूस रहा था. उसके मुह से कामुक आवाज़े निकल रही थी ऊऊऊओ अहहहहः आआअ और जोर से दबऊऊओ ….और जोर से चुसूऊओ .. अहहः मज़ा आ रहा है मेरे राजा, प्लीज …जोर से अहहाह जोर से ऊऊओ और जोर से.

अब मैने उसकी पेंटी भी उतार दी और उसने मेरी फ्रेंची भी पकड़ कर नीचे कर दी. अब हम दोनों एक दुसरे के सामने एकदम नंगे थे. पहले तो मैं उसके नंगे बदन को देखता रहा और फिर हम दोनों एक दुसरे से लिपट गये. मैने उसे बेड पर लिटाया और उसे किस करने लगा. फिर मै उसके बूब्स को दबाने लगा और चूसने लगा. उसके मुह से आवाज़े निकल रही थी. अहहहः ऊऊओ मज़ा आ रहा है और जोर से चुसो ना सिसिसिसी . ऐसे ही करते रहो. फिर मैं थोडा नीचे हुआ और उसके पेट को चूमने लगा. उसके बाद, मैं थोडा और नीचे खिसका और उसकी चिकनी जांघो को चूमने लगा. बड़ा मज़ा आ रहा था. फिर मैने उसकी चूत पर अपना हाथ रखा और उसे दबाने लगा और दबाते हुए, अपनी एक ऊँगली उसकी चूत में डाल दी. उसके मुह से आवाज़ आई सिसिसिश्हह्श्श्सीईईईई और फिर मैने अपनी जीभ को भी उसकी चूत में डाल दिया और उसकी चूत को चाटने लगा. बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर हम दोनों ६९ की पोजीशन में आ गये. मैं उसकी चूत चाट रहा था और वो मेरा लोडा अपने हाथो में पकड़कर अपने मुह में डालकर मेरा लोडा चूस रही थी. अब हम दोनों ही सेक्स के लिए तैयार हो चुके थे. अब मै उसकी दोनों टांगो के बीच बैठ गया और अपने लंड को पकड़कर उसकी चूत के एंट्रेंस पर रख दिया और एक जोर से धक्का मारा. उसके मुह से आवाज़ आई आआआआआआअ मर गयीईईईईई. लंड आधा उसकी चूत में था. उसे दर्द हो रहा था. मैने पूछा – क्या हुआ? तो उसने कहा – कुछ नहीं, करते रहो. एक नंबर की चुदककड़ थी वो. फिर मैने एक और स्ट्रोक लगाया; तो मेरा पूरा लोडा उसकी चूत में घुस गया. फिर मैं उसके ऊपर लेट गया और उसे किस करने लगा था. ताकि उसे दर्द महसूस ना हो. फिर मैंने ५-६ स्ट्रोक और मारे और मेरा पानी उसकी चूत में निकल गया. मैं उसके ऊपर लेटा रहा. थोड़ी देर में. ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा और फिर उसने कहा – कोई बात नहीं, पहली बार में ऐसा हो जाता है. अगली रात फिर से ऐसा ही हुआ और मैने जमकर उसकी चुदाई की. इस बार वो १००% सेटइसफाई थी और मैं भी. तो ये है मेरे पहले और आखिरी सेक्स की कहानी. क्युकि उसके बाद मैने कभी सेक्स नहीं किया. तब से कोई लड़की मेरी गर्लफ्रेंड नहीं बनी.