सास के भोसड़े में स्पर्म छोड़े

मेरी वाइफ का Antarvasna नाम माही है, दिल्ली की खुले विचारों की लड़की है, ५ फुट ६ इंच दीखने में प्यारी, एक दिन में और माही ड्रिंक कर रहे थे, वैसे वह सिर्फ मेरे साथ ही ड्रिंक करती है, अब तक तो उसने ऐसा ही बता रखा है. मैंने इसी दौरान माही से कहा अपनी सेक्सुअल फेंटेसी बताओ, तो वह थोड़ा जिजकी, फिर मैंने कहा चलो मैं अपनी फैंटेसी बताता हूं, तो माही कहती है आप बताओ जी. मैंने कहा थोड़ी अजीब है उसने कहा कोई नहीं, मैंने कहा तुम्हारी आंखों के सामने किसी और लड़की के साथ सेक्स करना चाहता हूं.

मेरी बात सुनकर माही थोड़ी खुल गई और थोड़ा दारु के नशे में थी. फिर वह भी अपनी सेक्सुअल फेंटेसी बताने लगी कि वह एक साथ दो मर्दों का स्वाद लेना चाहती है, उसकी बातें सुन कर मेरे अंदर का शेर जागने लगा, मैं उसके होंठों पर किस करने लगा उसको अपने बाहों में जकड़ कर उसकी गर्दन पर एक लव बाइट दिया.

अब मुज पर नशा सवार हो चुका था दारु का भी और उसके हुस्न का भी तो मैंने उसे अपने दिल की बात बताई की मैं उसके सामने उसकी मां को चोदना चाहता हूं. उसकी आंखें खुल गई जैसे अचानक सारा नशा गायब, पर पता नहीं क्या सोच कर बोली इट्स ओके. मैं पागलों की तरह उसके कपड़े निकाले जा रहा था, तभी उसने कहा कि वह मुझे उसकी मॉम को सिड्यूस करने में मदद करेगी, अगर मैं उसकी फैंटेसी में मदद करूंगा. मैंने फोरन हां कर दिया, अचानक से माही अपनी मां का रोल प्ले करने लगी, दामाद जी अपनी सास को अपनी बना लो, अपनी बेटी की सौत बना दो दामाद जी. माहि के मुंह से उसकी मां का रोल सुनकर नस नस में आग लग गई मैं उतावला होकर उसको चोदने के लिए तैयार हो गया.

अब माहि बोलती की चोदो यह चूत जिससे तुम्हारी बीवी निकली है, सौत बना दो मुझे, उसकी यह सब सुनकर मैं पागलों की तरह उसे चोदने लगा, आधा घंटा चोदने के बाद मैं लेट गया. सुबह मैंने माहि से मजाक में पूछा कल रात को क्या बक रही थी? तो उसने कहा वह सीरियस थी, मैं हेरान.. फिर उसने मुझे टिकट दिखाई शिमला की, बोली नेक्स्ट वीक हम शिमला जा रहे हैं, मैं अपनी मॉम को भी बुला लूंगी, अच्छा मौका रहेगा उन पर हाथ साफ करने का.. मुझे यकीन नहीं हो रहा था यह सच में हो रहा था.

शिमला जाने का टाइम आ गया था माही की मोम लतीका स्टेशन आई, हमें देखकर वह काफी खुश थी, मैं उनसे गले लगा, वह थोड़ा संकोच कि. मैंने कहा बेटे जैसे दामाद से मिलकर खुशी नहीं हुई? तो वह मुस्कुराई.. माही दूर से देख कर मुझे आंख मारी. फिर हम लोग ट्रेन में चल दिए, ट्रेन एसी वन था. अपना केबिन में माही की मॉम हमारे साथ बैठी थी. हंसी मजाक चल रहा था, मैं बात बात पर उनको जांघों पर हाथ रख देता था. वह शरमा रही थी. इसी बीच माही उठकर बाथरूम जा रही थी, मैंने उसकी गांड पर हाथ मारकर कहा साली तेरी गांड मोटी हो रही, तो वह खुलकर बोली हरामी तूने ही चोद कर मोटा कर दिया है, यह सुनकर माही की मॉम पानी पानी हो गई.

शिमला में हम लोगों ने गेस्ट हाउस बुक किया था, माहि ने अपनी मॉम को कहां जा कर फ्रेश हो लो, उसकी मॉम ने भी हां कह कर चली गई. फिर माही उनको टॉवल देने के बहाने बाथरूम में घुस गई, लतीका उस टाइम कपड़े उतार चुकी थी, घबरा गई माही बोली क्या मोम बेटी से घबराती हो? आप के बूब्स पर पि के बड़ी हुई हूं, उसकी बातें सुनकर लतिका बोली अब तुम बड़ी हो गई हो, वह बात नहीं. तो माही बोली आपको और शर्मा अंकल को सेक्स करते देखा था, तब पापा से सीक्रेट छुपाई रही, अपनी दोस्त समझो मुझे.

फिर माही उनके बूब्स पर हाथ रखकर बोलती है अभी भी शेप में है, वह शर्मा जाती है, बाथरुम से आते वक्त माही बोलती है चूत शेव कर लेना, हार्दिक को पसंद है. वह समझ नहीं पाती और पूछती है मतलब? माही आंख मार कर मुस्कुरा देती है. मैं तब तक कुछ बीयर और रोस्टेड चिकन ले आता हूं, माही ट्रांसपरंट नाइटी में होती है. तब तक उसकी मोम टॉवल में बाहर आती है, माही उन्हें कहती है मोम आओ यहां बैठो महफिल सज गई है, ड्रिंक करते हैं. वैसे लतिका सिर्फ अपने हस्बेंड मतलब मेरे ससुर जी के साथ ही ड्रिंक करती है.

पर वो बोली की ड्रेस पहन कर आती हूं, मैं बोला मॉम आज सबको दोस्त समझो, और उनके हाथ पकड़ कर खींच लिया. वह शर्माते हुए बैठ गई. मैंने उन को एक ड्रिंक दिया और पीने को कहा. उनका गला सूखने लगा था वह एक बार में पी गई. माही खुश हो रही थी, वह बोली मॉम थोड़ा घबरा रही हे, तुम जाओ फ्रेश हो लो, मैं उन्हें नॉर्मल करती हूं. मैं बाथरुम चला गया, माही एक ब्लू फिल्म की डीवीडी लगा देती है उसकी मॉम देखकर कहती है यह क्या लगा दिया? माही बोलती है गलत डीवीडी लग गया, माहि दूसरी डीवीडी लेने के लिए बाहर आई.

तब उसकी मॉम ब्लू फिल्म देखने के बाद गरम हो चुकी थी, माही रूम में वापस गई और उनकी मसाज करने लगी, वह मौन करने लगी, माही ने उनको लेटाया, वह बिना अपोज़ किए उसकी बात मान रही थी. उनका टॉवेल खींच दिया, वह कह रही थी यह गलत है, तो माहि बोली आपको अंकल लोगों ने चोदा मैंने कुछ कहा? अब मुझे अपने जिस्म का स्वाद लेने दो, और उनकी चूत चाटने लगी, वैसे माही ब्लोजोब मैं माहिर थी, पर मुझे नहीं पता था वह चूत भी अच्छा चाटती है.

में कमरे में घुस गया, ये सीन देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया है मैंने अपना लंड माही के मॉम के मुंह पर लगा दिया और धक्के देने लगा, माही ने मुझे देखा और बोली जानू यह रहा तुम्हारा गिफ्ट, आओ संभालो.. मेरी तो मुराद पूरी हो रही थी. माही की मोम हलके नशे में थी, मोन करते हुए बोलने लगी दामाद जी अपनी बना लो, मेरी चूत की प्यास बुझा दो.. मैं भी अब जीभ डाल कर उनकी चूत चूसने लगा उसी बीच माही अपनी चूत उनके मुह पर रख दी और बोली चाट साली अपनी बेटी की सौत बन रही है.. आज से मेरे पति और मेरी दोनों की रखेल हे तु.. माही की यह बातें मुझ पर जादू कर रही थी, मैंने अपना स्पर्म उसकी मां के अंदर छोड़ दिया.