गोवा में बदल गई बीवियां – [Part 2]

मैंने कहा, कही Antarvasna जाने की क्या जरूरत हे ये बाथटब हे ना! नुसरत के हाथ को खिंच के मैं बाथटब में घुसा. उसके अन्दर पहले से ही झाग बना हुआ था. नुसरत को मैंने अन्दर लिटा दिया. उसने अपनी दोनों टांगो को ऊपर उठा के बाथटब के दोनों साइड में जो हेंडल बने हुए थे उसके ऊपर रख दिया. ऐसे करने से उसकी मस्त चूत पानी से बहार उभर आई. इस चूत के साथ क्या करना था अब वो मैं जानता था. मैंने अपने होंठो को वहां लगाने से पहले चूत के ऊपर हाथ फेरा. नुसरत को गुदगुदी सी हुई और वो सिहर उठी. मैंने धीरे से अपने होंठो को उसकी चूत पर लगा के चूसा. सबाना मुझे देख रही थी. नुसरत ने मेरे माथ को खिंच के चूत में घुसेड़ा. मैंने अपनी जबान को बहार निकाली और उसकी गीली हुई चूत को चाटने लगा. नुसरत बेकाबू घोड़े के जैसे सिसकियाँ उठी. मैंने अपने एक हाथ को ऊपर कर के उसके मम्मे दबाये. वो खुद भी अपने एक हाथ से दुसरे बूब को दबाने लगी और उसके मुहं से सिसकियों पर सिसकियाँ निकल पड़ी.

उधर मेरी बीवी को अब हनीफ ने शोवर के निचे ही घोड़ी बना दिया था. और अपने चूत से निकले हुए लंड को उसने सबाना को चूसने के लिए दे दिया. सबाना ने लंड को पूरा मुहं में डाला और चूसने लगी. हनीफ ने मुझे देख के आँख मारी और हाथ से मस्त का साइन बना के बताया की मेरी बीवी चुदवाने में अच्छी थी. मैं नुसरत के बूब्स मसलते हुए अब चूत की दरार में अपनी जबान पूरी डाल दी. इस सेक्सी भाभी की चूत अन्दर से एकदम गीली थी. और गर्मी भी बहुत थी उसके अन्दर.

मैंने चाट चाट के नुसरत के बूब्स मसले. वो आह आह करते हुए अपनी गांड हिला के मेरे मुहं में अपनी चूत को घिस रही थी. उसने कुछ दिन पहले ही शेव की थी शायद. उसकी चूत के अन्दर हलके हलके उगे हुए बाल नजरों से नहीं दीखते थे लेकिन जबान के ऊपर छोटे छोटे कांटो के जैसे घिस रहे थे. मैंने बूब के ऊपर से हाथ हटा के नुसरत की गांड पकड़ ली. और उसे दबाते हुए उसकी चूत चूमने लगा. नुसरत सातवें आसामान पर थी अपनी चूत को इतने मजे से चटवा के.

उधर हनीफ ने मेरी बीवी की गांड को अपने दोनों हाथ से खोला और उसके ऊपर वहां पड़े हुए साबुन से घिसने लगा. सबाना की गांड के ऊपर मस्त झाग होने लगा था. सबाना की गांड पर हनीफ अपनी दो ऊँगली से घिसने लगा. थोड़ी ही देर में वहां पर एकदम से बहुत सब झाग बन गया. मेरा दिल जोर जोर से धडक उठा, क्या मैं वही सोच रहा था जो हनीफ के मन में था! क्या हनीफ का इरादा मेरी बीवी की गांड मारने का था!

सबाना आराम से मस्तिया रही थी और हनीफ ने अपने लंड को बीवी की गांड पर लगा दिया. हनीफ को देख के सबाना जैसे चौंक गई थी. उसने ना में मुंडी हिलाई लेकिन उतने में तो हनीफ ने अपने लंड को धक्का लगा दिया. साबुन ने लंड को बड़े ही मजे से मेरी वाइफ की गांड में फिसला दिया. सबाना की आह सुन के एक पल के लिए नुसरत भी बाथटब से उपर हो गई. फिर उसने देखा की हनीफ गांड मार रहा हे तो वो वापसटब में बैठ गई.

मैंने भी अब सबाना और हनीफ के ऊपर से नजरें हटा दी. सबाना की सिसकियाँ एक मिनिट तक दर्द भरी सी थी. लेकिन फिर उसके अन्दर धीरे धीरे प्लेजर यानि की मजा मिलने लगा. और वो भी अपनी गांड हिलाने लगी थी. नुसरत भी फुल चुदाई हो गई थी और उसकी चूत में भी लंड देने का वक्त आ गया था.

मैंने उसे कहा: भाभी आप ऊपर आ जाओ मेरी.

और ये कह के मैं उठा. नुसरत भी बाथटब से बहार निकली. मैं खड़े लंड के साथ टब में बैठा. नुसरत ने कोक को खोला और टब में पानी कम कर दिया. अब मेरे टट्टे पानी में भीगे हुए थे लेकिन लंड बहार था. फिर वो अपनी चूत को खोल के लंड के ऊपर आ बैठी. और एक मिनिट भी कम समय में वो अपनी बड़ी गांड को मेरे लंड के ऊपर धक्के दे दे के मारने लगी. मैंने भी नुसरत के बड़े बम्स अपने हाथ में पकड़ लिये और उसे निचे से ठोकने लगा. पानी की छपाटो के साथ इस सेक्सी देसी वाइफ की मस्त चुदाई हो रही थी. पानी क्यूँ कम किया था उसने वो मुझे अभी पता चला. अगर अभी उतना ही पानी होता तो वो उछल उछल के बहार आता.

हनीफ की स्पीड अब एकदम बढ़ गई थी. वो सिर्फ सुपाडे को अन्दर रख के बाकि के लंड को बहार निकाल रहा था. और फिर एकदम झटके से वापस अपने लंड को गांड में घुसेड देता था. सबाना किसी पोर्नस्टार के जैसे चीख रही थी. पर वो गांड को मजे से हिला भी रही थी. इसका मतलब की वो गांड सेक्स एन्जॉय कर रही थी.

नुसरत के बूब्स हवा में उछल रहे थे मैंने उन्हें अपने हाथ से दबोच लिया और उन्हें मसलने लगा. नुसरत की सेक्सी चूत में मेरा पूरा लंड घुस के बहार आता था और वो मस्ती में उछल उछल के लंड को ले रही थी.

तभी हनीफ के मुहं से जोर जोर की सिस्कारियां निकल चली. उसने लंड को बहार निकाला और सबाना की गांड के छेद के ऊपर घिसने और रगड़ने लगा. साथ में वो अपने लंड को हिला भी रहा था. इधर मेरा और नुसरत भाभी का काम एक पल के लिए भी नहीं अटका था.

हनीफ के लंड से एकदम गाढ़ी मलाई निकल चली. और उसेने सब पानी मेरी बीवी की गांड के छेद पर ही निकाला. एक एक बूंद को उसने निचोड़ के निकाली. तभी सबाना ने पाद मारी और उसकी गांड से हवा निकल गई जो सेक्स की वजह से भर गई थी. उस पाद के साथ हनीफ के वीर्य के बबल्स भी ऊपर आ गए. हनीफ ने शावर के अन्दर अपने लंड को साफ़ किया. और फिर फव्वारे को सबाना के ऊपर किया. सबाना ने अपनी चूत और गांड को साफ़ किया. पानी को बदन से नितार के वो दोनों कमरे में चले गए.

अब नुसरत भाभी ने भी अपने झटके और तेज कर दिए थे. मैंने भी गांड में पेलने को सोच रखा था कब से. और नुसरत भाभी की गांड हे भी इतनी सेक्सी की उसे देख के किसी का भी उसमे लंड देने को मन हो जाए.

मैंने उसे कहा: अब चलो घोड़ी बनो मैं गांड मारूंगा.

नुसरत भाभी बाथटब में मेरे लिए घोड़ी बनी. और मैंने उसे थोड़ा लंड चुसाया. वहां पर शेम्पू पड़ा हुआ था वो मैंने अपने लंड के ऊपर लिया और कुछ भाभी की गांड पर भी लगाया. फिर मैंने लंड को एसहोल पर रख के धक्का लगा दिया. भाभी की गांड में लंड आराम से बिना किसी परेशानी के घुस गया. और वो अपनी गांड को मेरे लंड के ऊपर मार भी रही थी. मैंने धक्के लगा के लंड को हिला रहा था गांड में.

पुरे पांच मिनिट तक मैंने जोर जोर से भाभी की गांड मारी. और फिर मेरा भी छुट गया. मैंने अपने लंड को जब गांड से निकाला तो नुसरत ने उसे अपने मुहं में ले के साफ़ कर दिया. मैंने उसकी गांड पर और चूत पर हाथ फेर के आफ्टरप्ले दिया. फिर वो खड़ी हो गई. हम दोनों ने लिप किस किया. और वो मेरे लंड को पकड़ के मुझे शोवर के निचे ले गई. मैंने शावर लेते हुए नुसरत भाभी के बूब्स चुसे और उसकी चूत पर हाथ फेरा. उसको भी बड़ा मजा आया और उसको चुदाई का संतोष भी मिला. नाहा के जब हम लोग बहार आये तो हनीफ की गोदी में सबाना नंगी बैठी हुई थी.

हनीफ बोला: दोस्तों आज कोई कपडे नहीं पहनेगा, जिसे जिसका मन हो वैसे सेक्स करेगा.

सबाना: मैं नुसरत की चाटूंगी!

नुसरत बोली: और मैं मोहसिन का लंड फिर से अपनी गांड में लुंगी.

मैंने कहा: चलो वो सब होता रहेगा, भूख लगी हे कुछ मंगवाते हे.

हमने खाना ऑर्डर किया जिसे मैंने तोवेल पहन के बहार से ही ले लिया. खाने के बाद भी हम लोगों ने अपना काम चालु कर दिया. दोस्तों मेरे लिए गोवा के ये टूर एक यादगार सफ़र रहा मेरी जिन्दगी का. क्यूंकि इसमें मैंने सबाना और नुसरत दोनों के साथ बहुत बार सेक्स किया. और टूर से वापस आने के बाद मेरी और सबाना की सेक्स लाइफ और भी रंगीन हो चुकी थी. सबाना हनीफ से सेक्स की बहुत सब नयी हरकतें सीखी थी और वो अब बिंदास्त सी हो गई थी. नुसरत और हनीफ के घर आज भी हम कभी कभी जाते हे, ऑफ़ कोर्स वाइफ स्वेपिंग के लिए ही!