अबला नारी का पहली बार 3

जबरदस्ती नहीं की थी, वो हम दोनों की चाह थी, तभी हुआ Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai मैंने अपने आप को संभाला और अपनी कार से वापस आ गयी! मैं रात भर नहीं सो पायी, और सोचती रही कि, क्या मैंने कुछ गलत किया है? क्या मैंने अपने पति धोखा दिया है?

सुबह हुई, मैंने एक SMS रवि को किया और पुछा कि, रात को उसने मेरे अंदर तो स्रावित (डिस्चार्ज) नहीं किया? क्यूंकि नशे में उसने कंडोम (गर्भ निरोधक) नहीं लगाया था! उसने कहा नहीं, उसने योनि के बाहर ही स्रावित किया था! मुझे शान्ति पड़ी! और अब मुझे अपने से घ्रणा हूने लगी! मैंने सब कुछ भुलाने की कोशिश की, जिसमे मुझे करीब एक महिना लगा! इस बीच रवि के भी फ़ोन आये लेकिन, मैंने उससे बात नहीं की! शायद वो भी समझ गया था!

मुझ अबला नारी से एक जो पाप हो चूका था, मैं उसका प्राश्चित करना चाहती थी! मैंने अपना बिज़नस बंद किया, और एक अच्छी गृहणी की तरह घर पर ही रहकर काम करना शुरू किया! अब मैं अपने पति की देखभाल करती हूँ, उनके बिज़नस में उनका हाथ बटाती हूँ! अब हम दोनों के बीच कोई लड़ाई झगडा भी नहीं होता! हम दोनों अब प्यार से अपनी ज़िन्दगी जी रहे हैं! क्यूंकि मैं उन लम्हों को, जिसने एक अबला नारी यानी मुझे, और मेरी ज़िन्दगी को ही बदल दिया, भूल जाना चाहती हूँ!