मेरे बॉयफ्रेंड ने रिस्क लिया 2

उस दोस्त के साथ कुछ कर जाना चाहती थी! अब मैंने उस दोस्त को दिन में फ़ोन किया और घर आने को कहा! Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta Sex Kahani Indian Sex Chudai

वो 10 मिनट्स में मेरे सामने था! मैंने दरवाजा बंद किया और उसका हाथ पकड़कर अपने कमरे में ले आयी! और कहा कि, मैं तुमसे प्यार करने लगी हूँ! वो फिर मुस्कराया, लेकिन आज मुझे उसकी वो मुस्कराहट अच्छी नहीं लग रही थी और मैने उसे अपने बिस्तर पर लेटाकर उसे किस करना शुरू कर दिया! मैं उत्तेजित थी, मुझे वो अपना लगता था! धीरे धीरे हम दोनों एक दुसरे को किस करते हुए, एक दुसरे का मजा ले रहे थे! हम दोनों 2 बार मग्न हुए और अपनी प्यास बुझायी! मैं खुश थी, दिन के 4 बज चुके थे कि, अचानक दरवाजे की घंटी बजी! पता चलने पर कि, मेरे माता पिता जी वापस आ चुके हैं! और हम दोनों को अकेले घर पर देखकर, क्या कहेंगे? मैं डर गयी!

उसने मुझे ढांढस बंधाया और मेरी जीन्स और पेन्ट निकलाने को कहा! उसने फटाफट एक जीन्स को दूसरी से बांधकर, रस्सी बनाई और खिड़की से लटका कर, दुसरे माले से नीचे उतर गया! मैं उसे देखती ही रह गयी! उसका ये साहस देखकर मैं दंग थी! यह मेरे बॉयफ्रेंड का रिस्क था, जो उसने मुझे बचाने के लिए किया था! इतनी उपर से उतरना शायद हर किसी के बस की बात नहीं! उस दिन के बाद मैंने, अपने उस दोस्त का नाम रिस्की बॉयफ्रेंड रख दिया! आज भी मेरा रिस्की बॉयफ्रेंड मेरे लिये किसी भी रिस्क के लिए तैयार रहता है!