चाची का नाजायज बेटा

हेलो दोस्तों, मेरा नाम आशीष है. मैं २५ साल का हूं, दिखने में बहुत हैंडसम हु, मुझ पर बहुत सारी लड़कियां मरती हैं, मेरा लंड लेने के लिए वह बेक़रार रहती है, मेरा लंड ७ इंच लंबा है और २ इंच मोटा है. हिंदी सेक्स स्टोरी तब की है जब मेरे चाचा और चाची की शादी हुई थी.

मैं आप को अपनी चाची के बारे में बता देता हूं, मेरी चाची जी अब ४० साल की है, उन के चार बच्चे हैं और वह मेरे चाचा जी के साथ जीरकपुर में रहती है और मैं भी पास ही मोहाली में रहता हूं.

जब मैं १५ साल का था तब मेरे चाचा चाची की शादी हुई थी, मैं अपने चाचा चाची की शादी में बहुत मजे किया था और बहुत ही नाचा था और उन के साथ फोटो भी खिंचवाए थे. शादी के एक साल बाद मेरी चाची ने बहुत सुंदर लड़की को जन्म दिया और अगले ३ साल बाद एक और लड़की को जन्म दिया तब मैं करीब १८ साल का था.

चाची और मेरी खूब बनती थी, हम एक दूसरे से बहुत मजाक किया करते थे और कभी कभी चाची मेरी शादी के नाम से मुझे चिडाती थी.

हम एक दूसरे को सब बता देते थे और चाची मुझे लड़कियों के नाम से छेडती थी. एक दिन चाची ने कहा तुम्हारे चाचा जी लड़का चाहते हैं और हम को दो बार लड़की ही हुई है.

मैंने कहा : चाचा जी कर लो अच्छे से.

चाची ने ड्रामा करते हुए कहा : क्या कर ले तेरे चाचा जी?

मैंने कहा : वही जो पहली दो लड़कियों पर किया था.

चाची ने कहा : तुम्हें पता है यह सब??

मैंने कहा : हां, मुझे पता है.

चाची ने कहां : तुम्हें सब आता है?

अब हम दोनों एक दूसरे से एडल्ट बातें भी करने लग गए, उस टाइम चाची ३२ साल की थी और बहुत मस्त फिगर की थी, उस का बहुत मस्त फिगर ३६-३०-३४ हे. वह एकदम गोरी चिट्टी थी, जब वह ब्रा नहीं पहनती थी तब उन के मैंगो जैसे बूब्स उछल कर बाहर आ जाते थे और उनकी निपल गुलाबजामुन जैसे थे.

चाची जब मुझसे पूछती कि तुझे अच्छी तरह करना आता है??

मैंने कहा : हां, जैसे वीडियो में करते हैं वैसे मुझे आता हे.

चाची ने पूछा : कौन सी वीडियो?

फिर मैंने चाची को फोन में एक छोटी सी वीडियो दिखाइ जिस में लड़का लड़की लिप किस करते हैं और लड़का उसके बूब्स को दबाता है.

चाची शरमाते हुए बोली : शरारती,.. तुम यह सब देखते हो?

मैंने कहा : हां, क्या आपने कभी देखी नहीं क्या?

चाची मुस्कुराते हुए बोली : हां, देखि है, तुम्हारे भैया लाए थे.

मैंने कहा : कौन सी वाली??

चाची मुझे रूम में ले गई और मेरे हाथ में वीडियो थमा कर मेरे साथ लंड चूत के बारे में बातें करने लगी.

अब चाची ने टीवी में ब्लू फिल्म लगा दी और हम दोनों बैठ कर देखने लग गए. चाची के साथ यह फिल्म देखने से मेरा मूड खराब हो रहा था और मेरा मन चाची को चोदने का कर रहा था, पर में डर के मारे कुछ नहीं कर पा रहा था. फिल्म में फकिंग सिन देख कर मेरा लंड चूत के लिए तड़प उठा, मैंने बहुत मुश्किल से कंट्रोल किया.

अब मैं वहां से अगले दिन मोहाली गया और चाचा ने पीछे से चाची की रोज चुदाई कि जिससे चाची फिर से प्रेग्नेंट हो गई और कुछ महीने के बाद उस ने फिर से लड़की को जन्म दिया.

अब मैं और मेरे पापा उन्हें बधाई देने गए लेकिन पापा वापस चले गए और मैं वहीं रह गया.

उन की तीसरी बेटी बहुत क्यूट थी और उस के गाल गोलगप्पे जैसे थे.

चाचा जी भी काम पर चले गए, अब वहां पर चाची और में थे, उन के बच्चे भी स्कूल चले गए थे.

चाची ने कहा : देख आशीष इस बार भी लड़की हुई, काश मुझे लड़का होने का कोई रास्ता मिल जाए..

अब मेरी छोटी सी बहन को भूख लग रही थी इसलिए चाची ने उसे अपनी गोदी में लिया और कमीज ऊपर कर के उस को दूध पिलाने लगी, वाह क्या बोल थे उन के? मेंगो जैसे और निपल तो मानो काला जामुन हो, मन कर रहा था चूस लू.

उस के एक हफ्ते बाद मैं अपने चाची के घर फिरसे चला गया, और वहां से आते ही मुझे महसूस हुआ कि चाची के बिना मेरा लंड नहीं रह सकता, बस एक बार उन को चोदने का मौका मिल जाए तो मेरे मन की आग शांत हो जाए और मेरे लंड की प्यास बुझ जाए.

कुछ टाइम बाद में चाची के घर फिर से चला गया चाची मुझे देखकर बहुत खुश हो गई अब मैं और चाची बहुत मजाक करते थे और एक साथ बैठ कर ब्लू फिल्म भी देखते थे, जिस से मेरा मन चाची को चोदने का कर रहा था और मैं अपने आप पर जैसे तैसे कंट्रोल कर रहा था.

मैंने चाची के बाथरूम के दरवाजे में होल कर दी जिस से मैं भाभी को नहाते हुए देख सकता था क्या कमाल की लगती थी चाची नहाते हुए, मन करता था अंदर जा कर ही चोद डालू.

एक दिन में और चाची ब्लू फिल्म देख रहे थे तभी चाची मेरे करीब आने लग गई उन्होंने अपना हाथ मेरी टांगों पर रखा जिस से मेरे पूरे शरीर में करंट सा हो गया. चाची मेरी टांगों से हाथ चलाते हुए मेरे लंड की तरफ ले आई, जिस से लंड पूरा खड़ा हो गया और चाची ने पजामे के ऊपर से ही अपने हाथों में पकड़ लिया.

मैंने कहा कि चाची यह आप क्या कर रहे हो?

चाची ने कहा : आशीष मैं बहुत परेशान हूं और उधर तुम्हारे चाचा जी भी. हम दोनों चाहते हैं कि एक लड़का हो जाए पर हर बार लड़की हो रही है, तुम ही बताओ मैं क्या करुं? जिससे मुझे इस बार लड़का हो जाए.

तुम्हें पता है रात को तुम्हारे चाचा जी ने मुझे बहुत बुरी तरह चोदा और अपना सारा माल अंदर निकाल लिया इसी उम्मीद में कि अब शायद लड़का हो जाए.

पर मुझे पता है इस बार भी लड़की होनी है इसलिए मैंने आई पिल की गोली खा ली है.

मैंने कहा : इस में मैं क्या कर सकता हूं चाची?

उस ने कहा : तुम मुझे चोद दो शायद तुम्हारे पानी से इस बार लड़का हो जाए.

मैं मन ही मन बहुत खुश हुआ कि अब तो चाची की चूत पर मेरे लंड का स्टेम्प लग जाएगा.

मैंने कहा : अगर ऐसा ना हुआ तो?

चाची ने कहा देख आशीष अगर ना हुआ तो किसी को क्या पता चलना है? नाम तो तुम्हारे चाचा जी का ही आएगा और तुम्हारा खून भी एक हे, तो रिपोर्ट तो तेरे चाचा जी को ही बाप साबित करेगी.

मैं थोड़ी देर तक सोचने लगा फिर मैंने कहा ठीक है चाची.

चाची जी मेरी बात सुन कर बहुत खुश हुई और मुझे मेरे सिर पर किस कर लिया अब दोनों बिस्तर पर आ गए और अपने सारे कपड़े उतार दिए, चाची अब मेरे सामने बिल्कुल नंगी हुई थी और उनका की बूब्स, चूत, गांड मुझे घायल कर रहे थे. मेरा मन कर रहा था की उन को अभी पूरा का चबा डालू.

अब में और चाची सेक्स करने के लिए तैयार थे, मैंने कभी सेक्स नहीं किया था इसलिए चाची ने मुझे बेड पर लिटा कर मेरे ऊपर आ गई और मुझे अपनी जीभ से चाटने लग गई और अपने बूब्स मेरे मुह के उपर रख लिए जिसे मैं मुंह में डाल कर चूसने लगा, अब में उस के निप्पल को मुह में ले कर दूध पीने लगा, चाची को भी मजा आ रहा था वह औउ ये ओह हही ययय गाफ़ इह अ एस्स ययय इह अहह बस्स इई इओ ओह्ह्ह ऊऔउ गरम हो कर मादक आवाजें निकाल रही थी.

अब चाची मेरी टांगों में जा कर मेरे लंड को हाथ में ले लिया और ऊपर नीचे करने लगी, मुझे बहुत मजा आने लग गया और मेरा तना हुआ लंड उन के मुंह में जाने लगा और जाते ही लंड पागल हो गया.

अब चाची ने मेरे लंड पर चूत सेट किया चूत को लंड में समा दिया और मेरे ऊपर बैठ कर ऊपर नीचे होने लग गई, जिस से मेरा लंड भी बहुत खुश हुआ और उन की चूत चोदता रहा. चाची के बूब्स को हाथ में पकड़ कर दबाता और उन की गांड में उंगली डाल कर ऊपर नीचे भी करता जिस से चाची को बहुत मजा आने लग गया था.

कमरे में चुदाई की आवाज गूंज रही थी और चाची भी मजे में आऔउ ओऊ अह्ह्ह ओह हां हय्य्य हो हां अम्म्म ह होऊ अहह हू ओह हहह आवाजें निकाल रही थी. थोड़ी देर बाद मेरे लंड ने चूत में बहुत बारिश की वर्षा कर दी जिससे चाची बहुत खुश हुई.

मैं थक चुका था इसलिए चाची अब मेरे ऊपर से उठी और मुझे एक लंबी किस कर के मुझे बाहों में भर लिया.

अब चाची प्रेग्नेंट हो गई है और उन्होंने बहुत सुंदर लड़की को जन्म दिया, मैं बाप बन चुका था और मोना चाची मेरी रखेल बन गई थी.

अब जब भी मेरा मन करता था मैं अपनी रखेल मोना चाची के पास जाता था और उसे खूब जोर से चोद के खुश कर देता था.