सुहाने सफ़र मे 1

हेलो दोस्तों, यह मेरी पहली कहानी है यह Antarvasna वो घटना हे जो मेरे साथ एक बस मे सर्दी के समय हुई. अगर इसमें मेरे से कोई ग़लती हो जाए या आपको पसंद ना आए तो मेरी पहली कहानी होने के कारण मुझे माफ़ कर दीजियेगा

पहले में आपको अपने बारे मे बता दूँ मेरा नाम राजेश है मेरी उम्र 28 है और मेरी अभी हाल मे ही शादी हुई है मेरी हाइट 6’1″ है. मेरे लंड का साइज़ 7″ है इसका उपर वाला टोपा लाल दिखता है में दिखने मे सही हूँ! में जौनपुर उ.प्र. का रहने वाला हूँ! में एक प्राइवेट कंपनी मे अच्छी पोस्ट पर जॉब करता हूँ!

में जौनपुर से सिंगरौली जाने के लिए वाराणसी वाली बस से जाता हूँ ये घटना अक्टूबर 2014 की है. जब दशहरे की लंबी छुट्टी के बाद में जौनपुर से सिंगरौली जा रहा था. फेस्टिवल के बाद बस मे बहुत भीड़ थी बड़ी मुश्किल से मुझे बस मे सीट मिली मेरे बगल मे खिड़की साइड पर एक आदमी जो देखने मे 45 का लग रहा था बैठा था ! में गेलरी की सीट पर था. मेरे बगल दूसरी ओर एक खूबसूरत सी महिला जिसकी उम्र 30 होगी. और खिड़की वाली साइड मे उसके दो जुड़वा बच्चे जो 5 साल के थे वो बैठे थे! जो आदमी मेरे बगल मे बैठा था वो उस औरत का पति था. उसके साथ भी एक 3 साल का लड़का था एक बुड्डे दादा जी मेरे पास आ गये. बस मे सीट ना होने के कारण वो मेरी सीट के पास खड़े हो गये!

मैने अपनी सीट उनको दे दी और में खड़ा हो गया. दादाजी मुझे आशीर्वाद देने लगे में मुस्कुराने लगा और मेरे बगल वाली भाभी ने भी मेरे को देखकर स्माइल पास की. तब मेरी नज़र पहली बार उनसे मिली हम दोनो मुस्कुराये थे. उन्होने अपने बच्चों को खिसका कर सीट का थोड़ा सा पार्ट मुझे ऑफर किया ! पर मैने कहा की नही आपको दिक्कत होगी और में उनके बगल में खड़ा हो गया!

में उसके बगल से उसकी बॉडी का जायज़ा लेने लगा वो लगभग 5’4″ लंबी भरे हुए जिस्म की औरत थी. उसके बब्स और कूल्हे काफ़ी बड़े बड़े थे. उसने थोडा बड़े गले का कुर्ता पहना हुआ था. जिसमे से उसकी बब्स की लाइन काफ़ी गहराई तक दिखाई दे रही थी. साथ मे ही उसकी ब्लेक कलर की ब्रा और उसमे एक छोटा पर्स भी फंसा हुआ दिखाई दे रहा था. में खड़े होकर उसके बदन निहार रहा था साथ-ही मे उसके पति की नज़र से भी बच रहा था!

अचानक उसकी नज़र उपर उठी तो उसने मुझे उसके बब्स को घूरते हुए पाया. मैने तुरंत अपनी नज़रे वहाँ से हटा ली वो मेरी इस हरकत से मुस्कुरा उठी. उसने अपने बब्स की ओर देखा मुझे लगा की वो अब दुपट्टे से इनको ढक लेगी लेकिन उसने उनको वैसा ही रखा ! अब में फिर से उसके बब्स को देखने लगा ! वो भी बीच बीच मे मुझे देखकर मुस्कुराने लगी. उसको भी मेरा उसके बदन की देखना अच्छा लग रहा था ! ऐसा होने पर मेरी हिम्मत बढ़ गयी. अब में भी कभी कभी उसको स्माइल पास करने लगा ! बस अब ऐसे रोड पर आ गई थी जिस पर काम चल रहा था !

जिस वजह से बस मे झटके लगने लगे. में अब उसकी कमर को अपने पैर से टच कर रहा था वो भी अपनी तरफ से मेरे पैरों पर दबाव बना रही थी. तभी अचानक वो अपना बेग निकालने के लिए खड़ी हो गई तो उसका बेग मेरे सामने आ गया बेग भारी था तो मैने उसकी मदद के लिए पूछा तो उसने कहाँ की यह बेग उतार दीजिए. मैने उसके पति की ओर देखा तो वो सो रहा था ! शाम हो गई थी ! बाहर अंधेरा था बस के अंदर भी लाइट नहीं जल रही थी ! अब मैने पहली बार उसके कूल्हों को देखा वो एकदम गोल गोल दो बड़े तरबूज़ जेसे थे. यह देखकर मेरा लंड टाइट हो गया. मेरा लंड उसके कुल्हों मे रगड़ने लगा में भी दबाव दे कर उसके कूल्हों को लंड से दबाने लगा ! उसने कुछ नही कहा वो आराम से अपना सामान बेग से निकाल रही थी !

में उसके कुल्हों पर अपने लंड का दबाव दे रहा था. अब उसने अपना बेग वापस रखने को बोला और एक सेक्सी सी स्माइल दी और आँखो से मेरे को अपने पति की ओर इशारा किया में समझ गया की वो डर रही है. मैने बेग उपर रखते समय उसके हाथ, कमर, चुचे और गांड को सहलाया उसने कुछ नही बोला !

अब मैने उसको पूछा की क्या में उसकी सीट पर बैठ सकता हूँ तो वो हसने लगी और बोला की में तो आपको कब से कह रही थी बैठने के लिए. में भी हंसते हुए उसके बगल मे बैठ गया ओर उसके बच्चे को अपने गोद मे बिठा लिया ! अब मेरी कोहनी उसके बब्स को टच हो रही थी और मैने अपना एक हाथ उसकी जांघ पर रख दिया. उसने मेरी ओर देखा ओर मुस्कुराने लगी! उसने मेरा नाम पूछा और फिर मैने उसका उसने अपना नाम रुखसार बताया में अब उसकी जांघ को सहला रहा था मेरा हाथ उपर बढ़ने लगा तो उसने अपने हाथ से उसको रोक दीया. अब मैने अपने टिकट पर अपना मोबाईल नंबर लिख कर उसके पास गिरा दिया तो उसने कहा की आपका टिकट गिर गया तो मैने बोला की नही यह आपका है तो उसने टिकट को देखा पीछे की तरफ मेरा नंबर लिखा था वो मुस्कुरा दी और उसे अपने पर्स मे रख लिया और स्माइल दी!

अब उसका स्टॉप आने वाला था वो बस स्टॉप से पहले ही उतर गयी और में वहाँ से आगे सिंगरौली के लिए चल दिया. उसके उतरने के एक घंटे बाद मेरे मोबाईल पर एक फोन आया. और बोला में रुखसार हूँ… में आपको एक दो दिन मे कॉल करूँगी आप प्लीज़ मुझे इस नंबर पर कॉल मत करना…

आगे इस कहानी मे क्या हुआ में आप सब को जरुर बताऊंगा. मुझे उसके फोन का इंतजार है..

धन्यवाद प्यारे पाठकों !!