मेरी सेक्सी बीवी का जवाब नहीं

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम तनुज है, Antarvasna मेरी उम्र 32 साल की है और मैं बिहार का रहने वाला हूँ. दोस्तों मैं कामलीला डॉट कॉम का आप सभी की तरह एक नियमित पाठक हूँ, और आज मैं भी आप सभी के लिये मेरे जीवन के कुछ यादगार पलों को कहानी के रूप में लेकर आया हूँ. और मेरी यह कहानी बिल्कुल सच्ची है।

अब मैं आप सभी का ज्यादा समय ना लेते हुए सीधे आज की अपनी कहानी को शुरू करता हूँ जो कुछ इस तरह से है। दोस्तों यह कहानी मेरी और मेरी बीवी के साथ बिताई एक रात की कहानी है। दोस्तों मैं अपनी बीवी से बहुत प्यार करता हूँ, और हमारी शादी को हुए 4-5 साल हो चुके है, लेकिन हमारा प्यार एकदूसरे के लिए समय के साथ और भी ज़्यादा बढ़ गया है। आप यह कहानी कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

मेरी बीवी का नाम हिना है, और हम दोनों ने ही लव मैरिज करी है वह एक मुस्लिम परिवार से है और मैं एक हिंदू परिवार से हूँ. हमारे घर वाले हमारे इस रिश्ते से बहुत नाराज़ थे इसलिये हम दोनों ने भागकर शादी कर ली थी और हम दोनों ही शादी के बाद दिल्ली आ गये थे. और यहाँ आकर मैं एक शॉपिंग मॉल में एक कपड़ों के शोरूम पर काम करता हूँ और हमारी जिन्दगी बिल्कुल ठीक-ठाक चल रही है। दोस्तों मेरी इस कहानी में ऐसी कोई झूँठी बात नहीं है, यह केवल एक सामान्य रात की बात है, जिसको मैं आप सभी के सामने एक कहानी के रूप में लेकर आने की कोशिश कर रहा हूँ जो हम दोनों ने एकसाथ गुजारी थी।

दोस्तों मेरी बीवी हिना की उम्र 28 साल की है, उसके बब्स 34” की साइज़ के है और उसकी कमर 30” की साइज़ की है और उसकी सेक्सी गांड की साइज़ 36” की है, दोस्तों वह बड़ी ही गजब की चुदकक्ड़ और बड़ी सेक्सी है, उसकी नशीली आँखें, गोरा बदन और गुलाबी होंठ. वह नियमित रूप से अपने पूरे शरीर का बहुत ख्याल रखती है और मेरी खावहिश के मुताबिक वह अपनी पूरी बॉडी के बालों को साफ़ रखती है क्योंकि मुझको उसकी साफ़ और चिकनी बगलों से उसके बदन की मादक सी खुशबू को सूंघना और उसके जिस्म को चाटना बहुत ही अच्छा लगता है. दोस्तों हम दोनों ही बहुत खुलकर चुदाई करते है।

दोस्तों मैं पिछले साल अपने शोरूम के किसी काम से 1 हफ्ते के लिये लुधियाना गया हुआ था, और मुझसे मेरी बीवी की जुदाई बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं हो पा रही थी. और उसका भी मेरे बिना यही हाल था. इसलिये हम दोनों फोन पर ही सेक्स करते हुए अपने मिलन का इंतज़ार कर रहे थे. मैं ट्रेन से वापस आया तो रात के 11 बज रहे थे, और मैंने रेल्वे स्टेशन से अपनी बीवी को फोन किया और कहा कि मैं आ गया हूँ, तो वह मुझसे बड़े ही सेक्सी अंदाज़ में बोली कि तो फिर जल्दी घर आ जाओ ना अब मुझसे भी सब्र नहीं हो रहा है।

और फिर जब मैं अपने घर पर पहुँचा और दरवाजे की घन्टी बजाई तो हिना ने ही दरवाज़ा खोला. दोस्तों उस समय उसने एक गुलाबी रंग की सिल्क की नाईटी पहन रखी थी जिसमें से उसकी गांड का उभार और उसकी पैन्टी की लाइन साफ़ दिखाई दे रही थी, और बिना ब्रा के उसके बब्स का उभार और उसके खड़े निप्पल भी उसकी नाईटी में से साफ़ दिख रहे थे। एक हफ्ते की जुदाई के बाद जब मैंने उसको अपने सामने इस रूप में देखा तो मैं तो मदहोश सा हो गया और उसको अपनी बाहों में भरकर उसके होठों को चूमने लगा था. और फिर हिना ने मुझको खुद से अलग करते हुए कहा कि, जाओ पहले जाकर नहा लो। और फिर मैं फटाफट 10-15 मिनट के अन्दर नहाकर बिल्कुल नंगा ही बाथरूम से बाहर आया तो हिना ने दो ठण्डी बीयर की बोतलें फ्रीज़ से बाहर निकाल रखी थी. और फिर वह मेरी गोद में आकर बैठ गई और बीयर पीने लगी, और बीच-बीच में वह एक घूँट अपने मुहँ में भरकर उसको मेरे मुहँ में भी डाल रही थी. और फिर मैं भी एक बीयर का घूँट अपने मुहँ में लेता और फिर उसको हिना के मुहँ में डाल देता था. और नीचे से मेरा लंड उसकी चिकनी गांड की गरमी पाकर के रोड के जैसा सख्त हो गया था. और हम दोनों ही एकदूसरे को हल्के-हल्के हाथों से सहलाते भी जा रहे थे. और फिर मैंने उसकी नाईटी को उतार दिया था और फिर मैं उसके बब्स को चूसने लगा था। तो फिर उसने हल्के से उम्म्म्ममम करके एक सिसकारी भरी।

तो फिर मैंने उसको कहा कि, मेरी जान मुझको वहाँ पर तुम्हारी बहुत याद आई थी. और फिर वह अपनी जीभ से मेरे गाल को चाटने लगी थी, तो फिर मैं भी ज़ोर-ज़ोर से हिना के बब्स को चूसने लग गया था, और मैं मेरे एक हाथ से उसके मुलायम और चिकने कूल्हों को भी मसल रहा था. और फिर मेरी ऊँगलियाँ उसकी गीली और चिकनी चूत से खेलने लगी थी. उसने अपनी चूत के बालों को साफ़ कर रखा था। और फिर मैंने हिना को अपनी गोद में उठाकर बेड पर लेटा दिया और फिर मैंने उसकी पैन्टी को भी उतार दिया था. और फिर उसने भी अपनी दोनों टाँगों को हवा में फैला दिया था और उसकी मखमली चूत में से उसका रस निकलकर उसकी गांड के गुलाबी छेद की तरफ जा रहा था. तो फिर मैंने भी बिना देर किए हुए ही अपना मुहँ उसकी चूत में घुसाकर अपनी जीभ से उसकी चूत को एक कुत्ते की तरह जल्दी-जल्दी से चाटने लगा था, और मेरी जीभ से मैं उसकी चूत की गलियों में अपनी मंज़िल को तलाश करने लग गया था. और वह भी अपनी गांड को उठा-उठाकर अपनी चूत को मेरे मुहँ में घुसाने की कोशिश करने लगी थी. और मैं भी उसकी चूत का सारा रस चूसने लगा था. और फिर कुछ ही देर के बाद हिना का शरीर अचानक से अकड़ गया और वह मेरे मुहँ में ही झड़ गई थी।

और फिर मैंने उसकी सेक्सी गांड को थोड़ा सा उठाकर उसके छेद में अपनी जीभ को डालकर उसको चाटने लगा. दोस्तों यह मेरी बीवी का सबसे पसंदीदा सेक्स स्पॉट है. और फिर मैं उसकी गांड के गुलाबी छेद को चाट-चाटकर उसके मजे लेने लगा था. और फिर वह भी मेरे लंड को चाटने लगी थी वह बड़े ही प्यार से मेरे लंड को अपने होंठों से चूम और चाट रही थी. पहले तो उसने मेरे लंड के ऊपर बहुत सारा थूँक लगाकर चमका दिया था और फिर वह मेरे लंड को अपने मुहँ में लेकर लोलीपॉप की तरह चूसने लगी थी. मेरे लंड को चूसते समय मेरी नंगी बीवी मुझको कसम से इतनी सेक्सी लग रही थी कि आपको क्या बताऊँ। और फिर मैं उठकर अपनी बीवी के चेहरे के सामने आया और फिर मैंने अपना लंड पूरी तरह से उसके मुहँ में घुसा दिया था, और फिर मैं उसके मुहँ को ही चूत के जैसे चोदने लगा था तो वह छटपटाने लगी थी. और उसके मुहँ में से गूं… गूं…. की आवाज़ आने लगी थी।

क्योंकि वह बड़ी ही मुश्किल से ही मेरे लंड के ऊपर के हिस्से को मुँह में ले पा रही थी. और मैं उसके सिर को अपने लंड पर दबा रहा था, और फिर इस तरह से मैं उसके मुँह में अपने लंड को अन्दर-बाहर करने लगा था. और फिर जिससे मेरी बीवी का बदन भी पूरी तरह से गरम हो गया था. और 10-15 मिनट तक उसके मुँह को चोदने के बाद मेरा लंड भी फिर झटके खाने लग गया था. और फिर मैंने उसके बालों को पकड़कर अपना सारा गरमा-गरम माल उसके मुहँ में ही डाल दिया था. और मेरी बीवी ने भी एक भूखी बिल्ली की तरह मेरा सारा माल चाट-चाटकर साफ़ कर दिया था, और फिर उसने अपने होंठों पर अपनी जीभ को फेरते हुए मुझसे कहा कि उम्म्म… आज तो बहुत मज़ा आया मेरी जान. और फिर वह अपनी पोज़िशन बदलकर मेरे बगल में आकर लेट गई थी. और फिर वह अपनी गीली चूत को मेरे लंड पर रगड़ने लगी थी. और फिर करीब 10-15 मिनट तक ऐसा करने के बाद मेरे लंड में फिर से जान आने लगी थी. मेरे लंड के फिर से खड़े होने के बाद हिना मुझसे कहने लगी कि, जान अब मुझको और मत तडपाओ अब तो अपना लंड डाल दो मेरी इस प्यासी चूत के अन्दर अब मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा है. और फिर उसने खुद ही मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर अपनी चूत के छेद के ऊपर टिकाया, और फिर ज़ोर से एक धक्का दिया तो, मेरा लंड सर्रर्रर… से सरसरते हुए उसकी गीली चूत में एक फच की आवाज के साथ घुस गया था। और फिर उसके बाद वह अपनी गांड को उठाकर मेरे लंड से अपनी चूत को मिलाने के लिए धक्के लगाने लगी थी।

और फिर मैं भी उसके कूल्हों को पकड़कर तेज-तेज धक्का मारने लगा था. और मेरे हर धक्के के जवाब में वह भी अपनी चूत को मेरे लंड से और भी चिपका रही थी. और वह पूरा कमरा ही हम दोनों की चुदाई की खुशबू से महक रहा था. इस्स्स्स…. मेरी जान तुम इसी तरह से अपने लंड से मुझे चोदते रहो और रूको मत आहहह… मैं तुम्हारी दीवानी हूँ मेरे राजा. और मैं भी उसकी चुदाई करते समय उसके होठों को चूम रहा था और वह भी अपने थूँक को मेरे मुहँ में डाल रही थी. और मुझको भी सेक्स में ऐसा करना बहुत पसन्द है. और अब वह मेरे बिल्कुल पास ही थी और मैं भी उसके…

और वह हमारी उस जंगली चुदाई के बीच में मेरे कन्धों पर अपने नाखून गड़ा रही थी. और फिर उसने अपनी गांड को उठाकर मेरे लंड को एकदम से रोक दिया था. और उसकी चूत फिर से मेरे लंड को तलाश करने लग गई थी. और फिर 5 मिनट के बाद ही मेरे लंड ने मेरी बीवी की चूत में अपना गरम लावा उगलना शुरू कर दिया था. और फिर उसने मेरे कान में मुझसे कहा कि तुम्हारी हर एक बूँद मेरी चूत के अन्दर ही जानी चाहिये।

और फिर मेरे लंड ने अपना सारा गरम लावा उसकी एक हफ्ते से भूखी चूत में वही उगल दिया था. और फिर हम दोनों ही निढाल होकर गिर पड़े थे. और फिर पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों को ही नींद आ गई थी।

हाँ तो दोस्तों यह थी मेरी सेक्सी बीवी के साथ मेरी एक रात की बात।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!