अनजान भाभी की चूत फट गयी जबरदस्त चुदाई

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम अभिषेक है, मेरी उम्र 23 साल की है. और मैं सूरत का रहने वाला हूँ. मैं अपनी एक कहानी लेकर आया हूँ जिसमें मैं आज आप सभी कामलीला डॉट कॉम के चाहने वालों को बताने वाला हूँ की कैसे मैंने शिप्रा भाभी की जमकर चुदाई करी थी। दोस्तों मैं सबसे पहले आप सभी को मेरी शिप्रा भाभी के बारे में बता देना चाहता हूँ. वह दिखने में दूध जैसी गोरी है और अगर उसके बब्स को कोई एकबार देख ले तो वह तो उनका दीवाना ही हो जाए, उनके फिगर का साइज़ 34-30-36 एकदम कमाल का साइज़ है।

दोस्तों यह उन दिनों की बात है जब मैं कॉलेज में पढ़ता था. और मैं उसको बहुत ही ज्यादा पसन्द करता था. दोस्तों आप तो जानते ही हो कि, लड़कों की आदत तो लड़कियों का रोज ही पीछा करने की होती है. ऐसे ही मैं भी मेरे कॉलेज की एक लड़की को बहुत पसन्द करता था और फिर मैंने भी हिम्मत करके उसको एक दिन बोल ही दिया. लेकिन उसने मुझको मना कर दिया और फिर मेरा तो दिल ही टूट गया था. और फिर मैं तो अपना मुहँ लटकाकर लोकल रेल्वे स्टेशन पर बैठा था कि, तभी एक आवाज़ आई, हैल्लो और फिर जैसे ही मैंने अपना सिर ऊपर किया तो उसको देखते ही मेरा लंड उसको सलामी देने लग गया था. दोस्तों क्या माल थी वह, गुलाबी नेट वाली ड्रेस, जिसमें से उसकी ब्रा और बड़े-बड़े बब्स बाहर आने के लिये बड़े बैताब थे. और फिर तो मेरे मुहँ में भी पानी आ गया था और मैं तो उसमें ही कहीं खो गया था जैसे. और तभी उसने मुझको दुबारा से हैल्लो कहा तो मैं होश में आया. और फिर उसने कहा कि, हैल्लो मेरा नाम शिप्रा है तो फिर मैंने भी कहा कि, मेरा नाम अभिषेक है. और फिर उसने मुझसे कहा कि, मैं आपको यहाँ पर रोज ही देखती हूँ, अब मेरी तो उसके मुहँ से यह सब सुनकर जैसे कोई लॉटरी ही लग गई थी।

और फिर मैंने उनसे कहा कि, मैं भी आपको रोज ही देखता हूँ. और फिर उसने मुझसे कहा कि, मैं तो अपने बच्चे को छोड़ने के लिये आती हूँ, और मैं यहीं पास ही के एक फ्लेट में रहती हूँ. और अगर आप बुरा ना मानो तो क्या आप मेरे साथ कॉफी पीने चलोगे? और फिर मैं तो यह सुनकर एकदम से बहुत खुश हो गया था. और अब तो मैं उसकी जमकर चुदाई करना चाहता था. और फिर मैं उसके साथ बड़ी खुशी-खुशी चला गया था. और फिर अब हम दोनों ही उनकी कार में थे और फिर उसने मुझे पानी पीने को दिया तो मैंने वह पी लिया था. और फिर मैं उसके बब्स को देखने लग गया था, और फिर उसने मुझे उसको देखते हुए देख लिया था. और तब वह पानी पी रही थी तो उसके हाथ से कुछ पानी उसके पेट पर भी गिर गया था. और फिर उसने एक और सेक्सी सी मुस्कान देते हुए मुझसे कहा कि, इसको साफ कर दो मैं गाडी चला रही हूँ। और फिर मैं टिश्यू पेपर लेकर उस पानी को साफ करने जा रहा था, तो फिर वह मुझसे बोली कि, टिश्यू पेपर से नहीं अपनी जीभ से साफ़ करो ना।

और फिर उसने एक मुस्कान दी तो मैंने उससे कहा कि, अभी नहीं घर पर सब करूँगा. और फिर वह भी यह सुनकर हँसने लगी और फिर उसने मुझसे कहा कि, तुम तो एकदम बदमाश हो. और फिर इतने में हम उसके घर पर पहुँच गये. और फिर उसने मुझसे कहा कि, मैं थोड़ा फ्रेश होकर आती हूँ. और उसने मुझसे पूछा कि, क्या तुम बियर पीते हो? तो मैंने भी कहा कि, हाँ पी लेता हूँ कभी-कभी. तो फिर उसने मुझे 500 का एक नोट दिया और फिर वह मुझसे बोली कि, ठीक है तो फिर जाओ और मेरे लिए भी ले आना और साथ में सिगरेट भी लेते हुए आना. और फिर मैंने मन ही मन में सोचा कि, साली यह तो एकदम बिंदास सामान है जो बियर और सिगरेट भी पीती है. और फिर मैं दुकान से बियर, सिगरेट और एक कॉडम का पैकेट भी ले आया. उसके बाद मैंने शिप्रा के घर पहुँचकर दरवाजे की घन्टी बजाई तो शिप्रा ने दरवाजा खोला तो, उसको देखते ही मेरे तो होश ही उड़ गये थे।

उसने एक जालीदार नाइटी बिना अन्दर ब्रा के ही पहनी हुई थी और उसने एक पतली सी डोरी वाली काले रंग की पैन्टी भी पहनी हुई थी. अब तो मैं उसको उस रूप में देखकर एकदम पागल सा हो गया था. और फिर मेरा तो मन बहुत करने लगा कि, इसको अभी चोद दूँ. लेकिन अभी तो बहुत कुछ होना बाकी था. और तभी उसने मुझसे कहा कि, हैल्लो, तो फिर मैं भी होश में आया और फिर उसने मुझसे कहा कि, चलो कुछ खाते है. और फिर हम सोफे के ऊपर बैठकर बियर पीने लगे. और फिर उसने मुझसे मेरे बारे में पूछा तो, मैंने उसको बताया कि, मैं एक कॉलेज स्टूडेंट हूँ और मैं एक साधारण परिवार से हूँ. तो फिर उसने मुझसे कहा कि, तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है? तो मैंने उसको बताया कि, नहीं गर्लफ्रेंड बनाने में तो पैसे लगते है. तो फिर वह हँसने लगी और कहने लगी कि, पैसे कैसे?

और फिर मैंने उससे कहा कि, गर्लफ्रेंड तो बना लो, लेकिन फिर उनको खिलाओ पिलाओ और उतना पैसे मेरे पास नहीं है. और फिर मैंने उससे यह भी कहा कि, मैं जिसके पीछे इतने दिनों से था उसने भी मुझको मना कर दिया था तो मेरा दिल टूट गया था. तो फिर वह मेरी बात पर हँसने लगी. और फिर वह मेरे पास आकर बैठ गई थी और तब मेरे तो पसीने ही छूट गये थे. दोस्तों पहली बार कोई लड़की मेरे बगल में बैठी थी. मैं तो उसके जिस्म से आती हुई खुशबू से ही पागल सा हो रहा था. और फिर उसने मुस्कुराते हुए मेरी तरफ देखकर कहा कि, मैं तुम्हारी दोनों ही कमियों को पूरी कर दूँगी, एक तो चूत की और दूसरी पैसों की. और फिर यह कहते हुए वह मेरे ऊपर एकदम से टूट पड़ी थी। और वह मुझे चूमते हुए पागलों की तरह किस करने लग गई थी. तो फिर मैंने भी उसको अपने गले से लगा लिया था और फिर मैं भी उसको चूमने लग गया था. अब वह मेरे होठों को चूमती जा रही थी और मैं उसकी नाइटी को उतारकर उसके बब्स को दबाए जा रहा था. और फिर उसने मेरी भी पेन्ट को उतारा तो मेरा तनतनाता हुआ लंड एकदम से खड़ा हो गया था. और फिर तो वह भी मेरे लंड को देखकर खुशी से उछल पड़ी थी. और फिर उसने मुझसे कहा कि, मैं ऐसे ही खड़े और बड़े लंड की बहुत दीवानी हूँ।

और फिर मैंने उससे पूछा कि, आपने अभी तक कितनों के लंड लिए है? तो उसने मुझको कहा कि, तुम इस महीने में पहले हो. और फिर उसने मुझसे कहा कि, मुझको सेक्सी फिल्मो की तरह चुदवाना है. तो फिर मैंने भी उससे कहा कि, चुदवा लो आज तुमको जैसे भी चुदवाना है। दोस्तों ये कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

और फिर उसने मेरा लंड अपने मुहँ में ले लिया था और फिर वह उसको बड़े ही प्यार से चूसने लग गई थी. वह तो मुझको एकदम प्यासी लग रही थी और वह एकदम किसी रंडी के जैसे ही मेरे लंड को चूस रही थी. और फिर मेरे से भी सहा नहीं गया और 5 मिनट में ही मैंने अपना सारा माल उसके मुहँ में ही छोड़ दिया था. और वह तो मेरा सारा का सारा ही माल पी गई थी. और फिर उसने मेरे लंड को भी बड़े ही प्यार से चाट-चाटकर साफ़ कर दिया था। और फिर मैंने उसको खड़ा करके उसकी नाइटी को उसके बदन से दूर कर दिया था. दोस्तों उसके बदन से उसकी नाइटी हटते ही मैंने देखा कि, क्या मस्त गोरे और बड़े बब्स थे उसके. मैंने जो सोचा था उससे भी जबरदस्त थे उसके बब्स कसम से. दोस्तों और फिर मैं तो अब सातवें आसमान पर था और फिर मैं उसके बब्स पर कूद पड़ा था. और मैं उसके बब्स को खूब ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा था, और उसके बब्स के निप्पल को भी चूसने लग गया था. और फिर तो वह भी पागलों की तरह चिल्लाने लगी थी आहहह… आहहह… आहहह… और फिर वह मुझसे बोली कि, जानेमन थोड़ा धीरे से करो ना. तो फिर मैंने उससे कहा कि, जानेमन अब तो कुछ भी धीरे से नहीं होगा. और फिर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था. और वह फिर से मेरे लंड को अपने मुहँ में लेकर चूसने लग गई थी. और फिर उसने मुझको उसकी चूत को चाटने के लिये कहा. दोस्तों मैंने उस दिन से पहले कभी भी किसी की चूत को नहीं चाटा था, लेकिन मेरे उस पहले सेक्स की मदहोशी में मैंने उसकी चूत को चाटना भी चालू कर दिया था. पहले तो मुझे सब कुछ थोड़ा अजीब सा लगा लेकिन फिर उसकी चूत के नमकीन पानी को चाटने का मुझे मज़ा आने लगा था. और दूसरी तरफ से वह भी मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा के मज़े ले रही थी।

और फिर हम दोनों ही 69 की पोज़िशन में आ गये थे. और मेरा पूरा का पूरा ही लंड उसके मुहँ में और उसकी पूरी चूत मेरे मुहँ में थी. और फिर हम बहुत देर तक एक-दूसरे को चूसते और चाटते रहे और हम चूसते-चूसते झड़ गये थे. और हमको ऐसा करते हुए लगभग 40 मिनट से भी ज़्यादा का समय हो गया था और उसका पूरा बेड ही गन्दा भी हो गया था. और फिर उसने मुझसे कहा कि, चलो अब इसको अन्दर भी डालो ना।

और फिर मैं उसकी दोनों टाँगों के बीच में आया और मैंने उसकी टाँगों को फैलाया और फिर मैंने अपने लंड पर कंडोम चढ़ाया और फिर उसकी चूत में एकदम से डाल दिया था. उसकी चूत एकदम गीली हो रही थी और मेरा लंड फक की आवाज़ के साथ पूरा ही उसकी चूत के अन्दर समा गया था. और फिर मैंने उसको अपने गले से लगा लिया था और वह भी मेरी पीठ पर अपने नाख़ून गड़ा रही थी. और फिर मैंने कस-कसकर उसकी चूत को ऐसे चोदा कि वह भी मेरी उस जबरदस्त चुदाई से बड़ी खुश होकर अपनी गांड को उठाकर उत्तेजना में आकर मुझको मारने लग गई थी. और मैं भी शिप्रा भाभी कि जमकर चुदाई कर रहा था। और शिप्रा बोल रही थी की धीरे से करो ना प्लीज क्या तुम मेरी चूत को फाड़ ही डालोगे क्या? और फिर मैं उनकी चूत में अपने लंड से तेज़-तेज़ झटके मारने लगा जिससे शिप्रा को भी मज़ा आने लगा और फिर शिप्रा भाभी को मैंने पूरे 25 मिनट तक चोदा और अपना सारा पानी उसकी चूत में ही निकाल दिया था. और फिर हम दोनों ही लेटे-लेटे एक-दूसरे को किस करते रहे. और फिर 30 मिनट के बाद वह खड़ी हुई और उसने अपनी नाइटी पहनते हुए मुझको 1000 रूपये का नोट देते हुए मुझसे बोली कि, आते रहना।

और फिर वहाँ से आने से पहले मैंने उससे कहा कि मैं अपने कॉलेज के बाहर ही रहता हूँ कौने वाली दुकान पर. और जब भी आपका मन करे मुझको वहाँ से बुला लेना. और फिर मैंने उसके दिये हुए वह पैसे अपनी जेब में रखे और कपड़े पहनकर मैं उसके घर से निकल आया. और अब तो मेरा वह चुदाई का नया धन्धा बहुत ही अच्छा चल रहा है।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!