फ़ेसबुक वाली गर्लफ्रेंड की होटल में चुदाई

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम Antarvasna सचिन है और मेरी उम्र 24 साल की है. मैं मुंबई का रहने वाला हूँ. दोस्तों कामलीला डॉट कॉम वेबसाइट पर मैं भी आप सभी की तरह सेक्सी कहानियाँ पढ़ता आ रहा हूँ. और आज मैंने भी अपने साथ हुई एक चुदाई से भरी हुई घटना को इस वेबसाइट के माध्यम से आप सभी के सामने रखने का एक छोटा सा प्रयास किया है. और मैं आशा करता हूँ कि, आप सभी को मेरा यह प्रयास जरूर पसन्द आएगा।

दोस्तों मेरी यह चुदाई की बात आज से 1 साल पहले और उस दिन की है जब मैंने मेरे ही शहर की अपनी एक फ़ेसबुक वाली फ्रेंड को अपने घर में बुलाकर उसके साथ चुदाई करी थी. हाँ तो दोस्तों यह वाकया हुआ ऐसे था कि, मुझको अपने पढ़ाई लिखाई के काम से थोड़ी फुर्सत मिल गई थी. तो मैं फ़ेसबुक पर अपडेटेड रहने लगा था तो अचानक से मेरे फेसबुक अकाऊंट के सजेशन्स बॉक्स में मैंने एक लड़की का नाम देखा तो मुझको उसके नाम से ही उससे बात करने की इच्छा हुई तो मैंने भी उसको फ्रेंड-रिक्वेस्ट ना भेजते हुए सीधे ही मैसेज भेज दिया था. दोस्तों वैसे उसका नाम स्वाति था. और फिर करीब 2-3 घंटे के बाद उसका जवाब आया कि, हाय, तुम कौन हो? तो मैंने जवाब दिया कि, मेरा नाम सचिन है. तो फिर वह मुझसे बोली कि, ठीक है. और फिर उसका कोई जवाब नहीं आया तो मैंने सोचा कि, क्या यार यह तो मुझसे बात ही नहीं करना चाहती है शायद. और फिर मैंने उसको वापस 1 सप्ताह के बाद उसको मैसेज किया और पूछा कि, तुम कैसी हो? तो उसका जवाब आया कि, आपका मैसेज आने के बाद तो मैं और भी अच्छी हो गई हूँ. और फिर उसका जवाब सुनकर मैं थोड़ा खुश हुआ और फिर तो ऐसे ही हमारी बात शुरू हो गई थी उसने बोला कि, मैं ग्रेजुएट हूँ और मैं गुजरात में ही पली बड़ी हुई हूँ, मैंने मेरी सारी पढ़ाई वहाँ से ही करी है. लेकिन अब मैं अपने परिवार के साथ मुंबई में शिफ्ट हो गई हूँ. और इसी वहज से मेरा यहाँ पर कोई दोस्त भी नहीं है और मैं यहाँ पर खुद को बहुत अकेली महसूस कर रही हूँ. तो फिर मैंने भी मौका देखकर उससे तुरन्त ही पूछ लिया कि, क्या हम दोनों दोस्त बन सकते है? तो उसने भी मुझको हाँ बोल दिया तो मैं बहुत खुश हो गया था. और फिर तो हम रोज ही बात करने लग गए थे, और हम दोनों ही बहुत करीबी दोस्त बनने लग गए थे. और हम फिर एकदूसरे की सब पर्सनल बातें भी शेयर करने लग गए थे. और फिर ऐसे ही एक दिन उसने मुझसे पूछा कि, तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या? तो फिर मैंने भी उसको बोला कि, गर्लफ्रेंड होती तो मैं तेरे साथ थोड़े ही इतनी बात करता और वह भी इतनी देर तक. तो फिर वह मुझसे बोली कि, ठीक है. और फिर तो मैंने भी उसको पूछा कि, तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है तो वह बोली कि, मेरा तो कोई फ्रेंड ही नहीं था तो बॉयफ्रेंड कैसे होगा? और फिर मैंने उसको बोला कि, ठीक है. और फिर मैंने मन ही मन सोचा कि, चलो अपना चान्स तो पक्का है यार. दोस्तों मुझको माफ़ करना मैं आप सभी को उसके बारे में तो बताना ही भूल गया कि, वह आखिर दिखती कैसी है? हाँ तो दोस्तों, वह दिखने में तो एक सामान्य लड़की है और उसके फिगर का साइज़ 32-28-34 का है वह दिखने में बहुत ही कमाल की लगती है फिगर से. और फिर एक दिन दोपहर में हम दोनों ही बात कर रहे थे तो मैंने उसके साथ थोड़ा मस्ती मजाक शुरू कर दिया था और मैं उससे कहने लग गया था कि, यार तुम तो बहुत ही खूबसूरत हो और जिस किसी को भी तुम मिल जाओगी उसको तो और कुछ भी नहीं चाहिए होगा… तो फिर वह मुझसे बोली कि, यार मज़ाक मत कर सच बता. तो फिर मैंने उसको बोला कि, सच ही तो बता रहा हूँ, तुम मुझको सच में बहुत ज्यादा पसन्द हो. तो फिर वह मुझसे बोली कि, चलो मिलते है. तो फिर मैंने भी उसको हाँ कर दी थी क्योंकि हम नज़दीक ही थे और मिल भी सकते थे, तो फिर हम दोनों ने अगले दिन मिलने का प्लान बनाया।

और फिर हम दोनों इस सोच में पड़ गये थे कि, हम दोनों आखिर मिलेंगे कहाँ? क्योंकि मुझको तो उसके साथ जो कुछ करना था वह पार्क में या कहीं और नहीं कर सकता था. तो फिर मैंने उसको पूछा कि, तुम कहाँ पर मिल सकती हो? तो फिर वह बोली कि, मुझको यहाँ के बारे में ज़्यादा कुछ पता नहीं है, मुझको तो तुम ही बताओ कि, हम कहाँ पर मिलेगें? तो फिर मैंने उसको बोला कि, किसी होटल में चलते है, वहाँ पर हम आराम से बात भी कर सकते है और कोई हमको परेशान भी नहीं करेगा. तो फिर उसने मुझसे पूछा कि, जगह तो सुरक्षित ही है ना? तो फिर मैंने उसको बोला कि, हाँ एकदम सुरक्षित है. तो फिर वह मुझसे बोली कि, ठीक है और कल तुम मुझको मेरे घर के पास से पिकअप कर लेना दोपहर में 2.30 बजे. तो फिर मैंने उसको बोला कि, ठीक है. और फिर अगले दिन 2.15 बजे मैं उसको लेने के लिए पहुँच गया था. और फिर वह आई और हम दोनों होटल के लिए निकल गये थे. और फिर हम दोनों होटल में पहुँचकर मेरे पहले से ही बुक किये हुए कमरे में चले गये थे।

और फिर मैंने कमरे में जाते ही उसको सीधा अपनी बाहों में भर लिया था तो वह मुझसे बोली कि, अरे! इतनी भी जल्दी क्या है पहले हम आराम से बैठकर कुछ बातें तो कर लें. तो फिर मैंने उसको बोला कि, ठीक है. और फिर हम दोनों बैठकर बातें करने लग गए थे और इसी बीच मैंने कमरे से फोन करके दो गिलास कोल्डड्रिंक मँगवा ली थी और फिर हमने यहाँ वहाँ की बातें करी और साथ ही हम दोनों टीवी भी देख रहे थे जिसपर एक फिल्म आ रही थी और उस फिल्म में बीच में ही एक किस वाला सीन आया तो मैं उसको देखकर थोड़ा उत्तेजित हो गया था. और फिर मैंने स्वाति की तरफ देखा तो वह शरम से नीचे देखने लग गई थी. और फिर मैंने उसका हाथ अपने हाथ में लिया और बोला कि, तुम आज कितनी अच्छी लग रही हो, तुम मुझको बहुत पसन्द हो. तो फिर उसने भी मुझको कहा कि, तुम भी मुझको बहुत अच्छे लगते हो. और फिर मैंने तुरन्त ही उसके गाल पर एक किस कर दिया था तो उसने भी मुझको एक शरारती सी मुस्कान दी थी. और फिर मैंने भी थोड़ा आगे बढ़ते हुए हिम्मत करके उसके होठों पर एक किस कर दी थी. और उसको किस करते-करते ही मैं उसके ऊपर आ गया था और फिर करीब 10-15 मिनट तक हमने किस किया था. और फिर मैंने उसका एक बब्स दबाना शुरू कर दिया था. और जिससे वह भी धीरे-धीरे गरम हो रही थी और फिर कुछ ही देर में वह पूरे जोश में आ गई थी और वह मुझसे बोल रही थी कि, आहहह… अयाया… इस्स्स्स… और जोर से दबाओ आहहह… और फिर मैंने उसका टॉप निकाल दिया था तो उसने उसके नीचे एक काले रंग की ब्रा पहन रखी थी. और फिर मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके बब्स को काटा तो वह दर्द से जोर से चिल्लाई आईईई… जरा धीरे करो ना. तो फिर मैंने उसकी ब्रा को भी खोल दिया था. दोस्तों उत्तेजना में उसके बब्स की निप्पल एकदम टाइट हो चुकी थी. और इधर मेरा लंड भी उसकी जवानी को सलामी दे रहा था. और फिर उसने मेरी शर्ट के बटन खोलकर मेरी पेन्ट को भी निकाल दिया था और फिर मुझको लग रहा था कि, वह मुझको सेक्स करने के लिए बुला रही है. और फिर मैंने भी उसकी जीन्स निकाल दी थी और उसके साथ ही उसकी पैन्टी भी निकाल दी थी. और फिर दोस्तों अब हम दोनों ही पूरी तरह से नंगे थे।

और फिर मैंने उसकी कुँवारी चूत को अपनी ऊँगली से रगड़ना शुरू किया तो वह आहहह… इस्सस… कर रही थी और साथ ही मैं उसके बब्स को भी चूस रहा था. और फिर मैंने अपना लंड उसके हाथ में दे दिया तो वह मुझसे बोली कि, यह तो कितना बड़ा है मुझको तो इससे बहुत दर्द होगा. तो फिर मैंने उसको बोला कि, कुछ नहीं होगा मेरी जान मैं हूँ ना तुम्हारे पास में. और फिर उसने एक प्यारी सी मुस्कान दी. और फिर मैंने उसको बोला कि, इसको अपने मुहँ में ले लो और चूसो ताकि सेक्स करने में और मज़ा आए. लेकिन वह मना करने लगी और कहने लगी कि, मुझको यह सब बिलकुल भी अच्छा नहीं लगता है. तो फिर मैंने उसको बोला कि, एक बार कोशिश तो करो. तो फिर उसने बोला कि, ठीक है।

और फिर हम दोनों ही 69 की पोजीशन में आ गए थे और उसने पहले अपनी जीभ से मेरे लंड को छुआ तो उसको वह अच्छा लगा. और फिर उसने उसको धीरे-धीरे चूसना शुरू किया और फिर वह उसको करीब 15-20 मिनट तक चूसती रही. और मैं भी उसकी मखमली चूत को बड़े ही प्यार से चूस रहा था और फिर जब मेरा निकलने वाला था तो मैंने उसको बोला कि, रुक जा मेरा निकल रहा है. और फिर मैंने मेरा पूरा माल उसके बब्स पर ही डाल दिया था. और फिर हम दोनों एकदूसरे से चिपककर ऐसे ही सो गये थे और फिर 10 मिनट के बाद उसने फिर से मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर हिलाना शुरू किया और उसने उसको फिर से खड़ा कर दिया था. दोस्तों ये कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

और फिर मैं उसके ऊपर आ गया था और मैंने उसकी चिकनी चूत में अपना लंड डाला लेकिन उसकी चूत इतनी टाइट थी कि, वह जा ही नहीं पा रहा था. और फिर मैंने थोड़ी और कोशिश करी तो वह थोड़ा सा ही अन्दर गया था कि, वह जोर-जोर से चिल्लाने लगी तो मैं रुक गया था. और फिर थोड़ी देर रुकने के बाद एक ही झटके में मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया था. और साथ ही मैं उसको किस भी करने लग गया था ताकि वह ज़्यादा चिल्ला ना सके. और फिर मैं उसकी चूत में धीरे-धीरे धक्के लगाने लगा. और फिर थोड़ी ही देर के बाद जब उसका दर्द कुछ कम हुआ तो वह भी मेरा पूरा साथ देने लग गई थी और उसको भी अब चुदाई का पूरा मज़ा आ रहा था. दोस्तों वह पूरा कमरा उसकी मादक आवाजों से गूँज रहा था आहहह… इस्सस…. करो और करो. और फिर करीब 15-20 मिनट के बाद में मैं उसकी चूत में ही झड़ गया था और फिर इतने में ही वह भी झड़ गई थी. और फिर हम दोनों साथ में नहाने भी गये थे. और फिर 2-3 घन्टे के बाद हम वहाँ से चले आए थे और रास्ते में मैंने उसको एक दर्द कम होने की गोली और एक आई.पिल की गोली भी दिलवा दी थी।

दोस्तों उस दिन के बाद तो हमको अब जब भी मौका मिलता है हम खूब जमकर चुदाई करते है।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!