डॉक्टर ने लगाया गांड में चमड़े का इंजेक्शन

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम नगमा है मेरी उम्र 24 साल की है और मैं जम्मू की रहने वाली हूँ. और मेरे उस्न का परिचय आपको देती हूँ मेरा रंग गोरा है, मेरी लम्बाई 5.7” है, मेरे गाल गोरे और नरम है और मेरे होंठ लाल और रसीले है. दोस्तों मेरे बब्स 32” साइज़ के है, मेरी कमर 28” की है, और मेरी गोल चिकनी भरी हुई और जवान टाइट गांड 34” की है।

दोस्तों, आज तक मैंने कामलीला डॉट कॉम पर बहुत सारी सेक्सी कहानियाँ पढ़ी वो सभी मुझे बहुत मस्त मजेदार लगी और उन कहानियों से मुझे बहुत कुछ सीखने को भी मिला। मैंने एक डॉक्टर के साथ ठीक वैसे ही बहुत बार अलग-अलग तरह से चुदाई के मज़े लिए और हम दोनों बड़े खुश हुए, लेकिन आज मैं पहली बार अपनी भी एक सच्ची घटना को लिखने जा रही हूँ। हाँ तो दोस्तों इस कातिल जवानी और खूबसूरत बदन के कारण मेरे साथ भी एक बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी घटना घटी थी दोस्तों मैं अपनी इस कहानी में आज आप सभी को मेरे साथ कैसे और क्या क्या हुआ, वो सब मैं आज कामलीला डॉट कॉम के माध्यम से आप सभी के सामने लेकर हाज़िर हुई हूँ. और मुझे उम्मीद है कि यह आप लोगों को जरुर पसंद आएगी।

हाँ तो दोस्तों यह बात आज से 8 महीने पहले की है, तब मुझको अपने परिवार के साथ कहीं बाहर जाना था लेकिन मेरा मन जाने का नहीं था. तो मैंने हमेशा की तरह ही बहाना किया कि, मेरी तबियत ठीक नहीं है. लेकिन मैंने कुछ ज्यादा ओवर एक्टिंग कर ली थी जिससे मेरी मम्मी डर गई थी. और फिर वह मुझसे बोली कि, चलो डॉक्टर के पास चलते है. लेकिन फिर मैंने उनको समझाने की बहुत कोशिश करी लेकिन वह नहीं मानी थी. और मैं भी कुछ नहीं कर सकी थी क्योंकि मैंने झूठ जो बोला था. और फिर मैं डॉक्टर के पास जाने को राज़ी हो गई थी. और फिर मुझको डॉक्टर के पास ले जाने के बाद मैं मेरी मम्मी से बोली कि, मम्मी आप लोग जाओ आप को देर हो जाएगी. मैं अब डॉक्टर को दिखाकर घर चली जाऊँगी, आप लोग मेरी बिलकुल भी चिन्ता मत करो. और फिर किसी तरह से मैंने अपने घर वालों को पटाकर डॉक्टर के यहाँ से भेज दिया था. लेकिन मेरा नाम मरीजों के नंबर की लिस्ट लिख लिया था. और फिर मैंने कम्पाऊंडर से पूछा तो उसने बताया कि, मेरा नंबर सबसे आखिर में है. और फिर मैंने सोचा कि, अब यहाँ से वापस भी नहीं जा सकते. इसलिए मैं वहीँ बैठी रही थी. और वहाँ पर किसी को भी नहीं लग रहा था कि, मैं बीमार हूँ. क्योंकि मैं तो बड़े आराम से घूम रही थी, और मेरे कपड़ों से भी क्योंकि मैंने शॉर्ट्स पहन रखा था जो नीचे तक आता है, और ऊपर से गहरे गले का बिना बाहँ का टॉप. तो फिर वहाँ पर बैठे सब लोग मेरी चिकनी टाँगों को और मेरी बाहँ को और मेरे जवान गले के पास देखे जा रहे थे. जिसमें से मेरे बब्स हल्के से दिख रहे थे. और फिर धीरे-धीरे लोग कम होते गए, और फिर सिर्फ मैं ही बची थी. और फिर डॉक्टर ने मुझको अन्दर बुलाया और फिर उसने मुझसे पूछा क्या हुआ है आपको? तो फिर मैंने जो अपनी मम्मी को बताया था वही सब मैंने उनको भी बता दिया था. उनको मेरी नब्ज देखकर शक आया होगा. और फिर वह मेरी नब्ज और मेरी जवानी को देखे जा रहा था. वह डॉक्टर बहुत ही स्मार्ट था. वह करीब 30-32 साल का जवान डॉक्टर था. और फिर उसने मुझको एक टेबल पर लेटने को कहा. और फिर मैं टेबल पर लेट गई थी. और फिर उसने स्ठेतेस्कोप निकाला और फिर वह मुझको चेक करने लगा. वह मेरी छाती पर चेक करने लगा. वह जानबूझकर वहाँ पर दबा-दबाकर देख रहा था. और उसके ऐसा करने से मुझको भी मज़ा आ रहा था. और फिर वह थोड़ा ऊपर गले के पास चेक करने लगा. और फिर उसने उसके हाथ से चेक किया और वह जानबूझकर अपने हाथ को मेरे गले पर घुमाने लग गया था।

और मेरी आधी छाती खुली थी और वह वहाँ पर मेरे दोनों बब्स के बीच में भी अपना हाथ घुमाने लग गया था. और फिर वह मुझसे बोला कि, आपको तो बहुत तेज बुखार है, आपको तो इंजेक्शन लगाना पड़ेगा, इसलिए आप थोड़ा उल्टा होकर लेट जाइए. और फिर मैं उल्टा होकर लेट गई थी. और फिर मेरी उभरी हुई गांड को देखकर शायद वह चौंक गया था. क्योंकि उसने मेरी गांड को सहलाया और थोड़ा सा दबाया था. और फिर वह मुझसे बोला कि, मैं इंजेक्शन लाता हूँ तब तक आप ऐसे ही लेटी रहो. और फिर वह बाहर गया और फिर मुझको बाहर का दरवाजा बन्द करने की आवाज़ आई. और फिर उस डॉक्टर और उसके कम्पाऊंडर की आवाज़ आई. वह लोग धीरे-धीरे कुछ बात कर रहे थे. और फिर मैंने देखा कि, वह दोनों ही अन्दर आ गए थे. दोस्तों वह कम्पाऊंडर भी ठीक ठाक था. वह भी लगभग 34-35 साल का था. फिर डॉक्टर उससे बोला कि, इंजेक्शन लाओ. और फिर कम्पाऊंडर बोला कि, हाँ सर यह लीजिए. और फिर डॉक्टर मेरी कमर की तरफ आया. और उसने मेरी शॉर्ट्स को थोड़ा नीचे सरका दिया था. तो फिर मैं उनसे बोली कि, आप यह क्या कर रहे हो? तो वह बोला कि, इंजेक्शन कूल्हे पर ही देना है. तो फिर मैं उनको ठीक है बोली और चुप रही. और फिर डॉक्टर ने मेरी शॉर्ट्स नीचे मेरे घुटनों तक खींच ली थी. और फिर उसने मेरा टॉप थोड़ा ऊपर सरका दिया था. और फिर वह मेरी कमर पर हाथ फेरने लग गया था. और फिर उसने मेरी पैन्टी में अपनी ऊँगली डाल दी थी और फिर उसने उसको भी नीचे सरका दिया था. और फिर उसने उसको थोड़ी नीचे सरकाकर मेरी गांड पर फिर से अपना हाथ फेरा. और अब मेरी आधी गांड उसके सामने खुली हुई थी. और फिर वह थोड़ी देर के लिये पीछे गया लेकिन मुझको पता ही नहीं लगा कि वह कहाँ गया था।

और फिर अचानक से मुझे महसूस हुआ मेरी पैन्टी भी मेरे घुटनों तक किसी ने नीचे सरका दी थी. और फिर मैं उठकर देखने लगी तो मेरी पीठ पर किसी का हाथ पड़ा और उसने मुझे दबाया. और फिर मैंने सामने देखा तो मेरे सामने वह कम्पाऊंडर पूरा नंगा खड़ा था और उसका बालों वाला लंड एकदम टाइट होकर मेरे चेहरे के सामने लटक रहा था. और फिर मैं कुछ बोलती उतने में ही मेरे बदन पर किसी का वजन पड़ा. और मेरे गुब्बारे जैसी गांड को किसी ने दबाया और फिर फैला दिया था और फिर मेरी गांड के छेद पर ठंडा-ठंडा कुछ लगा दिया था. और फिर उस डॉक्टर की आवाज़ आई, और उसने मुझसे कहा कि, मैडम अब मैं इंजेक्शन लगा रहा हूँ. और फिर ज़ोर से एक धक्का लगाते हुए वह डॉक्टर मेरे ऊपर गिर गया था. और उसका लंड मेरी चिकनी जवान गांड के छेद को चीरता हुआ अन्दर तक फिसलता हुआ चला गया था. और उससे होने वाले दर्द से मैं ज़ोर से आआआ! और फिर मेरा मुहँ खुलते ही सामने खड़े नंगे कम्पाऊंडर ने उसका काला बालों वाला लंड मेरे मुहँ में ठूस दिया था. और अब मैं पीछे से गांड मरवा रही थी और आगे से मुहँ. और मेरे मुहँ से ऊऊऊ… की आवाज़ कर रही थी. और फिर अब मुझको भी मज़ा आ रहा था. और मैं अपनी गांड को उछाल-उछालकर उस डॉक्टर का पूरा साथ दे रही थी. और मैं उस कम्पाऊंडर का लंड भी मजे से चूस रही थी। दोस्तों ये कहानी आप कामलीला डॉटकॉम पर पढ़ रहे है।

और वह डॉक्टर अपने कम्पाऊंडर से बोल रहा था कि, ऐसी गांड तो मैंने आज तक किसी भी लड़की की नहीं देखी है. क्या मक्खन गांड है डार्लिंग तुम्हारी तो. और फिर वह कम्पाऊंडर भी बोला कि, मेरा लंड भी ऐसा आज तक किसी ने नहीं चूसा था. चूस रंडी और चूस, और फिर ऐसा कहते-कहते वह मेरे मुहँ में ही झड़ गया था. और फिर मैंने उसका सारा पानी पी लिया था. और फिर वह एक तरफ हो गया था. और फिर मेरा टॉप उसने ऊपर से खींचकर निकाल दिया था. और फिर डॉक्टर ने मेरी ब्रा को भी निकालकर फैंक दिया था. और फिर मेरे बब्स उछलकर बाहर आ गए थे. और फिर उस डॉक्टर ने नीचे से हाथ डालकर मेरे बब्स को दबाना शुरू कर दिया था. और साथ ही वह मेरी गर्दन पर और मेरे गाल पर भी किस कर रहा था. और मेरी सेक्सी आवाज़ से वह और भी उत्तेजित होता जा रहा था. और फिर वह कुछ ही देर के बाद मेरी गांड में ही झड़ गया था. और फिर मेरी गांड में से पच-पच की आवाज़ आने लग गई थी. और फिर तब तक वह कम्पाऊंडर फिर से जोश में आ गया था. और फिर उसने मेरी शॉर्ट्स और मेरी पैन्टी को मेरे घुटनों से भी निकाल दिया था. और अब मैं 24 साल की जवान लड़की उन दोनों के सामने पूरी तरह से नंगी थी. और फिर डॉक्टर मेरे ऊपर से उठ गया था. और तब उस कम्पाऊंडर ने ज़ोर से मेरी गोरी-गोल गांड को दबाया, और मारने भी लग गया था. और मेरी सेक्सी चिल्लाने की आवाज़ से उसको और भी जोश आ रहा था. और फिर वह भी मेरे ऊपर चढ़ गया था. और फिर उसने अपना लंड एक ही झटके में मेरी गांड के अन्दर तक डाल दिया था।

दोस्तों उस समय मुझको बहुत अच्छा लग रहा था. और मुझको अब दर्द भी नहीं हो रहा था क्योंकि डॉक्टर ने पहले ही मेरी गांड के छेद को चोद-चोदकर बड़ा कर दिया था. और फिर मैं उससे बोली कि, ज़ोर से चोदो अंकल, मुझको अपनी ही बीवी समझकर चोदो. और फिर वह भी मुझसे बोला कि, हाँ मेरी रंडी छीनाल. और फिर मैंने डॉक्टर को अपने पास बुलाया, और फिर मैंने उससे कहा कि, मुझको तुम्हारा लंड भी चूसना है, क्योंकि उसका लंड सच में मुझको चूसना था. क्योंकि उसका लंड बहुत मस्त था क्योंकि उसपर एक भी बाल नहीं था. और फिर मेरे मुहँ में लेते ही उसका लंड फिर से टाइट हो गया था. और उधर वह कम्पाऊंडर मेरी गांड में ज़ोर से झड़ गया था. और अब मेरी गांड बहुत दर्द कर रही थी, क्योंकि एक के बाद एक उन दोनों ने मिलकर मुझको चोदा था. और फिर मैंने उस डॉक्टर का लंड चाट-चाटकर पूरी तरह से साफ कर दिया था. और फिर वह डॉक्टर मेरे मुहँ में ही झड़ गया था. और मैंने उसका पानी भी पी लिया था. और फिर मैं उसका लंड मेरे चेहरे पर रगड़ने लग गई थी. और फिर मैं सीधी हुई और फिर मैंने मेरे बब्स और चूत के दर्शन उनको दिए. तो फिर वह दोनों उनको देखकर एकदम पागल हो गए थे. और फिर वह दोनों मुझको चाटने और चूमने लग गए थे. और फिर मेरे बब्स तो उन्होनें रसगुल्ले की तरह चूसे. और मैं मैं आहहह… उफ्फ्फ… ऐसी आवाज़ करती जा रही थी. और फिर डॉक्टर ने मेरे होंठ भी चूसे थे. और फिर उन दोनों ने बारी-बारी से मेरी चिकनी और बिना बालों वाली चूत भी चूसी थी. दोस्तों उस समय मुझको इतना मजा आया कि, मैं बता ही नहीं सकती हूँ. मुझको तो उस पल किसी जन्नत का एहसास हुआ था. और मैं उस दिन कम से कम 10 बार तो झड़ी थी. और उन दोनों ने मेरा सारा रस पी लिया था. और फिर पहले डॉक्टर मेरे ऊपर चढ़ा और फिर वह बहुत ही प्यार से मेरी चूत को चोदने लग गया था. वह मेरे होठों को अपने होठों में दबाते हुए और मेरे बब्स को भी दबाते हुए मेरे गालों को और गले को चूमते हुए वह मुझको चोद रहा था।

और फिर मैं उस डॉक्टर से बोली कि, आई.लव.यू. मेरे राजा. तुम मुझको अपनी पत्नी की तरह चोदो. और फिर 10-15 मिनट के बाद वह और मैं हम दोनों ही एक साथ झड़ गए थे. और वह मेरी चूत में ही झड़ गया था. और उस समय मुझको भी बहुत मज़ा आया था उसके साथ. और मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो चुकी थी. और मुझको अब और सेक्स नहीं करना था. उस डॉक्टर के साथ मुझको बहुत मज़ा आया था. लेकिन अभी वह कम्पाऊंडर भी था. और फिर डॉक्टर के उठने के बाद वह भी जल्दी से मुझपर चढ़ गया था. और फिर वह तो किसी जानवर की तरह ज़ोर-ज़ोर से मुझको चोदने लग गया था. और अब मैं संतुष्टि से ज्यादा दर्द से ही चिल्ला रही थी. और फिर वह भी थोड़ी देर में ही मेरी चूत में ही झड़ गया था. और वह वहीँ मेरे ऊपर ही लेट गया था. और फिर वह दोनों उठकर खुद को साफ़ करने चले गए थे. और फिर वह दोनों कुछ देर के बाद वापस आए और फिर वह दोनों मुझसे बोले कि, आज तो बहुत मज़ा आया, आज का तो दिन बन गया, तुम रोज ही यहाँ पर आया करो. और फिर मैं उठी और मैं अभी भी नंगी ही थी. और फिर मैं उनके सामने वैसे ही उठी अपनी चिकनी छाती और गांड और चूत को उनको दिखाते हुए।

और डॉक्टर ने तभी मुझको गले से लगाकर पीछे से मेरी गांड को दबाते हुए बोला कि हाय! इस चिकनी और जवान गांड पर हमारा इंजेक्शन कैसा लगा? तो फिर मैंने भी बोला कि, बहुत अच्छा ऐसा इंजेक्शन तो मैं बार-बार लगवाना चाहूँगी. और फिर मैं अपने कपड़े उठाकर बाथरूम में गई. और फिर मैं खुद को साफ़ करके बाहर आई. और फिर हम लोग वहाँ से निकल गए थे. और फिर कम्पाऊंडर ने क्लिनिक बंद किया और वह अपने घर पर चला गया था और फिर उस डॉक्टर ने मुझको भी उनकी गाड़ी से मेरे घर पर छोड़ दिया था।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!