मेरी और मेरी कुतिया किरण चोपड़ा की सेक्स

किरण: गोरी, स्लिम, फिगर 34-30-32, छोटी चुचिया, चिकनी टाइट चूत, गोल चूतड़

बारिश के दिनों की बात है घर मे अकेला था और अपनी गर्लफ्रैंड से बाते कर रहा था, बाते करते करते टॉपिक सेक्स पर आ गया ओर फेर मेरा मूड बन गया।
आगे की बात यू हुई….
र: आज बारिश में रोमांस हो जाये?
क: पागल।
(उसको अपने घर लाया और थोड़ी देर बात करने के बाद उसको अपने दूसरे घर ले गया जो एक सुनसान जगह पे हमेसा बंद रहता था। )
(घर मे आते ही मेने दरवाजा लॉक कर दिया और किरण की kiss लेना सुरु कर दिया फेर धीरे-धीरे उसके कपड़े उतार दिए)
(मन भर के उसकी चूची ओर चूत को चाटने के बाद में उसको घर के चोक में लेके गया जहाँ पे छत नही थी और नीचे मिट्टी, घर काफी सालो से बंद रहने से उसकी मिट्टी बहोत जादा गंदी, काली ओर खराब भी हो गयी थी। तेज़ बारिश होने से वहां चिकनी कीचड़ भी बन गयी थी)

र: डार्लिंग आ जाओ कीचड़ में मस्ती करेंगे
क: नही वो गंदी है, washroom में करेंगे

र: गंदे होने में ही तोह मजा है, वाशरूम में तोह हर बार करते है।
क: नही नही में नही करूँगी

र: (जबरदस्ती हाथ पकड़ कर उसको उल्टा करके कीचड़ ने गिरा दी, उसकी चुचिया कीचड़ में डूब गई)
क: राहुल ये क्या किया तूने….

र: में ये बहोत टाइम से ये करना चाहता था तेरे साथ, तुजे ऐसी गंदी कीचड़ में नंगी करके डुबोना चाहता था तेरी चूची ओर चूत को।
क: राहुल अब तूने कर लिया न अब प्लीज यह से चल

र: अभी तो आये है पूरी रात इशी खीचड़ में मस्ती करेंगे आज
क: पूरी रात?? पागल है क्या?

र: चुप ओर मुजे काम करने दे
(इतना कह कर उसको सीधा किया, उसकी चूत में अपना लंड डाला ओर उसकी चुचियो के ऊपर खीचड़ डाल कर भिचने लग गया।

(थोड़ी देर बाद उसकी चूची टाइट ओर निप्पल खड़े हो गए, में समज गया ये गरम हो गयी)

(अब चुचियो के ऊपर ओर जादा कीचड़ डालने लगा)

क: aahhh राहुल और जादा dirty कर
र: क्यों तुजे तो पसंद नही था ये सब

क: अब मजा आ रहा है, प्लीज कर।। चुचियो को ओर जादा dirty कर
र:

भाग-I समाप्त
[to be continued…]

दोस्तो अगर आप इस कहानी को आगे भी पढ़ना चाहते है तो रिप्लाई करे।।।
धन्यवाद।।