पति ने जॉब बचाने के लिए मेरी चूत

शादी के बाद Antarvasna के पहले 2 साल में तो सब कुछ ही नार्मल था. जब मेरी शादी हुई तब मैं 23 साल की हे. हम लोग एक बेडरूम वाले अपार्टमेंट में रहते थे. जीवन सादा लेकिन सुन्दर था. मेरे हसबंड सेल्स रेप का काम करते हे. बहुत टाइम के बाद एक वीकेंड पर उन्हें मेरे पास बैठने का टाइम मिला था. मैं भी बड़ी खुश थी और पति के लिए उनकी फेवरिट डिश बना रही थी. रात को करीब 8 बजे पति अपने बॉस के साथ आये. वैसे मेरे पति ने बताया नहीं था की बॉस आ रहे हे!

मैं किचन में खाना बना रही थी. पति ने मुझे लिविंग रूम में बुलाया और अपने बॉस से मेरा इंट्रो करवाया. वैसे बॉस को मैंने पहले देखा था. लेकिन हमारा फोर्मल इंट्रो नहीं हुआ था कभी. कम्पनी के एकाद फंक्शन में भी मैं उनसे मिली थी. पति ने कहा तुम यहाँ बैठो मैं देखता हु किचन को. मुझे थोड़ा सा अजीब लगा की ये ऐसा क्यूँ कह रहे हे.

पति के जाने के बाद उन्के पति ने मेरे साथ नार्मल बातचीत की कुछ देर. मैं भी कैसुअल बातें कर रही थी. और फीर वो अपनी आँखों से मेरी बॉडी के एक एक इंच को जैसे चेक करने लगा था. मुझे थोडा असहज फिल हुआ. मैं उस वक्त लेगिंग और टी शर्ट में थी. और पसीना भी हुआ था मुझे थोडा सा.

मैंने एक्सक्यूसमी कहा और मैं किचन में चली गई. पति ने कहा क्या हुआ? तो मैंने उन्हें कहा की मैं आप के बॉस के साथ कम्फर्टेबल फिल नहीं कर रही थी. और मैंने उन्हें बताया की कैसे उनका पति मुझे चेक आउट कर रहा था. हम दोनों की बात कोई भी लिविंग रूम में बैठ के सुन सकता था क्यूंकि हमारा घर छोटा सा ही तो था.

और फिर मेरे पति ने जो कहा उसको सुन के मेरा मुहं खुला के खुला ही रहा गया. वो बोले की बॉस तुम्हे पसंद करते हे!!!

मैंने कहा, क्या!!!

पति ने कहा, डार्लिंग एक बात कहूँ मेरी जॉब खतरे में हे.

मैं: तो क्या?

पति: और इस समय केवल तुम ही मेरी मदद कर सकती हो!

और मैं समझ चुकी थी की मेरा पति मेरे से क्या करवाना चाहता था. मैंने कहा, वैसे तो तुम मेरे ऊपर बहुत शक करते हो.

पति: डार्लिंग प्लीज़ मना मत करना मेरी जॉब का सवाल हे. और ये चीटिंग नहीं हे क्यूंकि तुम्हे और मुझे ये पता हे.

मैंने ना कहा. पति ने जिद्द सी की और बोले केवल एक बार बॉस को खुश कर दो तो मेरी जॉब बची रहेगी. पति की बात से मैं सहमत नहीं थी लेकिन कोई चारा भी तो नहीं था मेरे पास. इरादा तो नहीं था लेकिन मुझे हां कहना ही पड़ा.

पति मुझे ले के लिविंग रूम में आ गए. वहां पर उसका बॉस बैठ के व्हिस्की पी रहा था. उसने मुझे वहसी नजरों से उपर से निचे तक देखा. मेरे पति ने उसे अपनी आँखों से कुछ सिग्नल दिया. वो मेरे पास अपनी गिलास और बोतल ले के आ गया. मैं शर्मा के बेडरूम में भाग गई.

मैं अभी भी सहमी हुई थी और वो मेरे पीछे पीछे बेडरूम में भी आ गया. उसने टेबल के ऊपर अपनी गिलास और बोतल को रख दी. और उसने दरवाजे को लोक कर दिया. मैं कंफ्यूज थी और कांप रही थी. वो बेडरूम के काऊच के ऊपर मेरे पास बैठ गया. उसने मुझे पास में बैठने के लिए कहा. लेकिन मैं उसके पास नहीं बैठी. अब की उसने एक रौबदार आवाज में हुक्म दिया जैसे बैठने के लिए. मैं घबराते हुए उसके पास बैठी.

उसने अपने हाथ को मेरे कंध के ऊपर रखा और बोला, देखो मेरे से को-ऑपरेट करो और मैं तुम्हे और तुम्हारे पति को बहुत फायदा दूंगा. मैं एक शब्द भी नहीं बोली. फिर उसने मुझे बताया की कैसे मैं उसे बहुत पसंद थी जब उसने मुझे पहली बार देखा था. और उसने तो ये भी कहा की तुम्हारी ब्यूटी के तो हमारी कम्पनी में और भी दीवाने हे.

मैं अभी भी सहमी हुई थी. उसने मुझे ड्रिंक ऑफर की. मैं मना किया लेकिन उसने शराब फ़ोर्स से मेरे मुहं में डाली. फिर उसने गिलास को मेज पर रख दिया और मुझे हग कर लिया. उसने मुझे काऊच के हेंडरेस्ट के ऊपर बिठाया और मेरे चहरे के ऊपर किस करने लगा. उसके हाथ मेरे बूब्स को मसल रहे थे. उसने मुझे कहा की तुम्हारे बूब्स सच में बहुत ही सेक्सी हे.

मैं अपनी आँखे बांध कर दी. उसने मेरी ब्ल्यू टी शर्ट को निकाली और फ्लोर के ऊपर फेंक दी. अब मैं सिर्फ ब्रा और लेगिंग में थी. वो मेरी बॉडी को डेक के एकदम से खुश हो गया. उसने मुझे पूछा की तुम्हारी ब्रा की साइज़ क्या हे? मैं अब भी कुछ नहीं बोली. उसने मेरी कमर के ऊपर पिंच कर ली और बोला मैं तुम्हारे साथ गन्दी बातें करना चाहता हूँ. मैंने कहा, 32B. उसके चहरे पर गन्दी सी स्माइल आ गई मेरे मुहं से सुन के.

वो मेरे होंठो को चूमने लगा और ब्रा एके ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाने लगा था. बहुत सारी किस करने के बाद उसने मुझे साँस लेने दी और वो फिर से व्हिस्की पिने लगा. उसने मुझे कहा की जाओ लिवींग रूम में मेरा सिगरेट का पेकेट रह गया हे वो ले के आओ. मैं उठी और अपनी टी शर्ट पहनने के लिए उसे उठाने लगी तो वो बोला अरे बाद में आ के उसे उतारनी हे हे तो पहनती क्यूँ हो ऐसे ही जाओ ना!

अपनी लाइफ में पहली बार मैं अपने पति के सामने न्यूड जाने में डर रही थी. मैं जब लिविंग रूम में गई तो मुझे ऐसे देख के मेरा पति भी शोक में था. उसने पूछा की क्या हुआ? मैंने कहा तुमने मेरे साथ ऐसा क्यूँ किया? उसने ये सुनते ही अपने मुहं को दूसरी तरफ घुमा लिया. मैं एकदम बेचारी सी बन के रह गई थी. मैंने सिगरेट का पेकेट लिया और बेडरूम में चली गई.

अब मैंने सोचा की जब मेरा पति ही इतना बड़ा भांड हे फिर मैं क्यूँ रोऊ! मैंने अपने आंसू पोंछ लिया और सोचा की अब तो मैं पराये मर्दों से चुदुंगी बेखौफ! और जैसे ही मेरे दिल और दिमाग में ये सोच आई तो मेरे अन्दर का डर जैसे हवा बन के उड़ गया.

मैंने दरवाजे को बंद किया. कमरे की ट्यूब लाईट को बंद कर के मैंने छोटी नाईट लेम्प जला दी. मैं चाहती थी की मेरी चुदाई की आवाजे मेरा पति सुने और उसे पता चले सब कुछ जो इस कमरे में हो वो.

मैंने सिगरेट का पेकेट बॉस को दिया. उसने मुझे कहा की यहाँ मेरे पास बैठो. लेकिन मैं सीधे ही उसकी गोदी में बैठ गई. ये देख के उसकी ख़ुशी का ठिकाना ही नहीं था! मैंने अपने हाथ को उज्सके कंधे के ऊपर रख दिया. वो मेरे चहरे के चूमने लगा और मेरे बूब्स को दबाने लगा. फिर उसने मुझे छोड़ा और सिगरेट पिने लगा. मैंने बोतल उठा के थोड़ी निट व्हिस्की पी ली. मैंने उसके पेक से एक सिगरेट भी खिंची और उसे सुलगा के पीने लगी. मैंने पहले कभी सिगरेट नहीं पी थी इसलिए थोड़ी खांसी हुई मुझे.

मैंने अब अपनी टांगो को खोली. उसने मुझे बिस्तर के ऊपर डाला और वो मेरे ऊपर आ गया. मैं हंस रही थी और कह रही थी ताकि मेरा पति सुन सके. मैंने उसके शर्ट के बटन खोले और उसकी छाती को चूमने लगी और उसकी निपल्स को दबाई. उसने मेरे बूब्स दबाये और वो मेरी निपल्स को प्यार करने लगा. वो मेरे बूब्स को पागल कुत्ते के जैसे खा रहा था एक के बाद एक.

वो मेरे ऊपर ही था और उसने मेरी लेगिंग निकालनी चाहि. मैंने उसकी मदद की उसे निकालने में. फिर मैंने पेंटी भी निकलवा दी. वो मेरी बाल वाली चूत को देख के खुश हो गया. मैं पिछली बार दो हफ्ते पहले झांट बनाई थी. उसने बिना कुछ कहे ही अपने होंठो को मेरी फांको पर लगा के किस कर ली. मेरे मुहं से एकदम जोर की मोअन निकल पड़ी. मैंने उसका माथा पकड़ा हुआ था. अपनी आँखे बंद कर के मैं चुसवा रही थी. उसने भी अपनी जबान को जितना अन्दर कर सकता था उतना अन्दर कर के मजा दिया. मेरे पति को ये सब करना नहीं आता था.

फिर वो बिस्तर से खड़ा हुआ. और मुझे उसने अपनी पेंट खोलने के लिए कहा. मैंने उसकी पेंट के बटन को खोला. उसकी पेंट में उसका लंड एकदम खड़ा हुआ था जो अंडरवेर में दिख रहा था. मैंने लंड को अंडरवेर के ऊपर से ही किस करना चालू कर दिया. जब मैं ये कर रही थी तब उसका लंड और भी कडक और लम्बा होने लगा था. और उसकी नौक चड्डी के ऊपर से बहार भी आ गई. मैंने अपनी जबान से उसको हलके से किस दे दी और उसका पूरा बदन हिल गया.

फिर मैंने उसके लंड को बहार निकाली. लंड के ऊपर की चमड़ी को हटा दी और उसे परेशान करने लगी. मैं अपनी जबान को उसके लंड के ऊपर घुमा रही थी. लेकिन मैंने उसे अभी ब्लोवजोब देना चालु नहीं किया था. मैं चाहती थी की वो भी मोअन करे! और मेरे ऐसा करने से वो भी मोअन करने लगा. और जब मैंने उसके बॉल्स को जोर से दबाए तो उसकी चीख ही निकल गई.

उसने मुझे बेड की एज की तरफ धक्का दिया. और अपने लंड के ऊपर कंडोम लगा लिया. फिर वो मेरे होंठो को चूसने के लिए आया घुसाने से पहले. मैंने उसे अपनी बाहों में भर लिया और कहा की आज मैं तुम्हारी ही हूँ डार्लिंग! उसने चहरे पर एक मस्त स्माइल आ गई. उसने मेरी टांगो को अपने कंधो के ऊपर रख दी और अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया.

मैं मोअन कर रही थी और उसके लंड घुसाने का काम तेजी पर था. धीरे धीरे कर के उसने पूरा घुसा ही दिया. मैं भी मजे से अपनी गांड को हिला के उसे चोदने दे रही थी. पांच मिनिट में तो वो पसीने में लथपथ हो गया था मुझे चोदते हुए.

फिर उसने मुझे डौगी स्टाइल में लिटाया और पीछे आ गया. मुझे भी इस पोज़ में मजा आता हे क्यूंकि लंड अंदर तक जाता था. मैं भी भूल गई थी की मैं किसी और की पत्नी थी क्यूंकि बॉस का लंड सच में मनमोहक था. बॉस ने लंड घुसा के मुझे मस्ती से चोदा और बूब्स भी मसले.

उसके बाद एक बार फिर से वो मिशनरी पोज के लिए बोला. अब की उसके झटके एकदम तेज थे और चूत में डीप तक जा रहे थे. उसकी और मेरी सब एनर्जी जैसे खत्म हो गई थी. मैंने उसे कहा की लाओ लंड चूस के पानी निकलवा देती हूँ. ये सुन के तो वो और भी खुश हो गया. मैंने उसके लंड के ऊपर से कंडोम निकाल के अपने मुहं में डाल के मस्त चूसा और पानी छुड़ा दिया उसका.

उसने मुझे इंसिस्ट किया वीर्य खाने के लिए और मैं उसके सब वीर्य को स्वेलो कर गई. मैंने जब खिड़की पर नजरे लगाईं तो देखा की मेरा पति वहां से देख रहा था की मैं उसके बॉस की आइटम बन के चुदवा रही थी. लेकिन अब पछताए क्या होऊ जब लंड से चुद गई चूत!