भाभी ने की हर ख्वाहिश पूरी

अब आगे….
दूसरे दिन जब मेरी antarvasna आँखे खुली तो kamukta भाभी अपने आपको रेड़ी कर रही थी… मैंने उसे इस हाल में देखा… भाभी ने भी आईने से मुझे देखा…भाभी: देख क्या रहा है… चल बाँध दे न…
मैं: भोसडीकि, तुजे अभी नंगी ही करना है मुझे… माँ चुदवाने जा… ऐसे ही खुली रहने दे…
भाभी: अरे तो फिर निपल से ये सरक जाती है…
मैं: तो रहने दे न…
भाभी: चल ठीक है…
मैं: कल तू और केविन किस लेवल पर पहोच गए थे? बताना
भाभी: जा तू फ्रेश हो के आ बाद में बात करेंगे…

मैं जब बाहर निकल के आया भाभी… क्लिप्स ले के आई थी… कपडे सुखाने के लिये… और सामने लैपटॉप था… जहा सब सेटिंग कर के रख्खी थी.. हम ऑनलाइन होने वाले थे?

मैं: ये क्या कर रही है?
भाभी: तुम सब लोगो को ट्रेनिंग देनी है…
मैं: तो सब को बुला ले न?
भाभी: नहीं अब सब लोग आप मुझे तेरे बर्थडे के दिन ही चोदोगे…
मैं: मैं भी?
भाभी: अरे तू तो चोद लेना… मुझे उस दिन दो जन तो ऐसे चाहिए तो मुझे अच्छे से पैल सके… वर्ना मज़ा कहा आएगा मुझे… तू सच कह रहा था… मुझे जितने भी मिले लण्ड कम पड़ेंगे… हा हा हा….
मैं: हा हा हा… मादरचोद तुजे सच में कम पड़ेंगे… और… और मिलने का प्रबंध हम करने वाले है… कहके मैंने उसके स्तन पर चिमटी काटी…
भाभी: आउच… चल बता क्या रिटर्न गिफ्ट दिलवा रहा हे मुझसे?
मैं: रंडी तेरे बदन से बोल… पर पहले ये बता के तूने ये चारो लोगो का स्वागत कैसे किया था…
भाभी: वो सस्पेंस है…
मैं: (भाभी के स्तन पर चमात मार के) साली रंडी, मैंने तुजे लण्ड दिलवाये है… बोल भोसडीकि…
भाभी: आ…. ह धीरे…
मैं: कुतिया तुजे और मारने का मन होता है…
भाभी: यही सेक्स का दूसरा लेवल है… चल तुजे तो बताउंगी के चारो को कैसे मिली थी….

भाभी ने अपना फोन निकाला और मुझे दिखाया….

भाभी: कुमार को मैं कुछ ऐसे मिली थी…

राजू को कुछ ऐसे…

और सचिन को कुछ ऐसे…

मैं: और केविन को?
भाभी: हमारी बात पहले से हो चुकी थी… वो ऑलरेडी रंडियो को मिल चूका है… तो ये सब उनके लिए पहली बार नहीं था… तो हमने दूसरा लेवल तब ही बना लिया था… उसने मुझे इस हाल में पहली बार इस्तेमाल किया…

मैं: वाह… क्या बात है… किसको क्या क्या पसंद आया तुझमे?
भाभी: सचिन और कुमार को मेरी गांड, राजू को मेरी चूत और केविन मेरे निपल के पीछे पड़ा था जब से मैंने उनको… वो न… एक ही निप्पल चूसे जा रहा था… जैसे मैंने उनको दूसरे के लिए न्योता दिया के वो समज गया के मुझे निप्पल से कोई खेले तो पसन्द आता है…
मैं: ह्म्म्म चलो अब रिटर्न गिफ्ट का भी देख ले?
भाभी: हा दे….

भाभी ने सबकी ख्वाहिश पढ़ी… फिर बोली…

भाभी: निप्पल पर रिंग?
मैं: हा ये तेरा पसंदीदा होगा…
भाभी: ह्म्म्म्म बस बीवी बनना?
मैं: ये छोटी बात है?
भाभी: अरे क्या उसमे… बन जाउगी…
मैं: तो तो हम भी बनायेगे…
भाभी: देखेंगे… वाह बहोत सारे लण्ड बाहर.. और ओह माय गॉड… केविन तो डील्स के लिए बोल रहा है… हमारे १०%? ये भी सौदा बुरा नहीं है वैसे… निप्पल कैसे चुंदवाउ? वो तो बहोत की कठिन काम है… और कैसे… किस तरह से… चलो न ऑनलाइन सब होंगे तब बात करते है…
मैं: भैया को क्या बोलेंगे?
भाभी: वो सब छोड़ दे… उसे भी मज़ा आता ही है… तो ये सब उनके लिए बोनस है…
मैं: ओके… तो बोल सबको ऑनलाइन आने को….

मेसेज में सब को ऑनलाइन आने को बोला और भाभी ने अपना मेरे बर्थडे वाले दिन का प्रोग्राम बताया… जो उसने जट से रेड़ी कर लिया था…

भाभी: हैल्लो….

सब ने उसे है रंडी कह के बुलाया…

भाभी: देखो…
केविन: ब्रा पीछे खुली रख्खी लगती है… तेरी चूंचियां दिखा के बात कर…
भाभी: हा ओके…

भाभीने ब्रा की परत निचे के निप्पल दिखे ऐसे एडजस्ट किया…

भाभी: चलो… तो हम समीर के बर्थडे वाले दिन क्या करेगे? जो एक्सपर्ट लेवल है… उसकी टैनिंग दूंगी… अब मैं और केविन ही बोलेंगे… बाकि सुनो… और समीर को मौका मिलेगा लाइव ट्रेनिंग का… तो सबसे पहले आपको मज़ा आया चोदने का?

सब हां बोले…

भाभी: तो अब आप सब का बिस्तर मैंने गर्म किया है… तो मुझे महसूस हुआ के ये तो ठीक है हर कोई करता है… असली मज़ा उसे बरकरार रखने में है… तो अब पहले तो आब सब लोग वायेग्रा लेकर आना उसदिन… कोई मुझे जल्दी जड़ने वाला नहीं चाहिए… एक लड़की को चोदने के लिए… चार मस्त जगह है मर्द के पास पर कोई उसे एक्सप्लोर नही करता.. अगर लण्ड कहीं घुस के बैठ जाता है… इसीलिए मुझे ज्यादा लण्ड चाहिए… ताकि दूसरे मर्द मेरे अलग अलग अंग से खेले… पहला भाग है.. स्तन, दूसरा है चूत, तीसरी मेरी गांड और चौथा मेरा मुह… ये चारो भाग को टॉर्चर करना भी आना चाहिए… उसके लिए लड़की के हाव भाव देखना चाहिए…
केविन: लड़की को मज़ा आये तब तक उसे टॉर्चर करो फिर जैसे हाव भाव चेंज होने को आए उसके बाद जब ये दर्द तक पहोंचे तब तक उसे टॉर्चर करना चाहिए…
भाभी: ह्म्म्म्म
मैं: भाभी अगर हम सब एकसाथ आप पर चढ़ जायेगे तो पांचवा क्या करे गा?
भाभी: इसलिए तब मैं आपके लिए ट्रिपल पेनेट्रेशन करुँगी… तो चूत या गांड मैं दो लौड़े ले लुंगी..
मैं: ह्म्म्म

अब भाभी ने क्या क्या समजाया वो मैं आपको जब हुआ उसी दिन बताऊंगा… बर्थडे के दिन… इस बिच भाभी ने चार दिन में भाभी पर भारी पड़ने वाला एक मस्त एक्पर्ट बना दिया… अब हमारा प्लान क्या था बिर्थडे के दिन? क्योकि सब को रिटर्न गिफ्ट भी तो देना था…

सुबह भैया जैसे ही बाहर जाएंगे.. सब लोग हमारे घर आयंगे और… प्लान… अब अगले उपडेट मैं… वो भी अभी क्यों बताऊ?