प्यार , सम्भोग ओर धोखा 16

आज भी भाई की Antarvasna बेचलर पार्टी Kamukta है जिसका सारा इंतजाम मुजे ही करना था मगर कोई और भी था जो आज का कुछ इंतजाम कर रहा था । भानुप्रताप – फ़ोन पे क्या प्रोग्राम है आज का मौका है आज तो आज ही काम खत्म करदो ।

??? – मालिक आज विशाल की बेचलर पार्टी है घर से दूर पूरी रात के लिए ओर आपको तो पता ही है कि ऐसी पार्टी क्या क्या होता है बस आप ऐसी नागिन का इंतजाम करो जिसका काटा पानी भी ना मांगे जगह में बताऊंगी लेकिन ये काम मे नही कर सकती आपका काम होने के लिए मेरा विश्वास की गुड बुक्स में होना जरूरी है ।

भानुप्रताप – ठीक है में शाम को एक नागिन भेज रहा हु जिसका भेद किसी के पास नही है ये उसका पहला काम होगा फ्रेश तो किसी को शक भी नही होगा बस गम उसकी एंट्री का ध्यान रखना ओर जगह क्या वो पता करके मुजे बताओ आज रात विश्वास की आखिरी रात होगी ।

??? – जी मालिक ।

में अपने कमरे से तयार होके नीचे आया और सबके साथ कमरे में आके बैठ गया और आज के प्लान की बात चीत करने लगे आज क्या करना है कैसे करना है पिता जी ने आज की हमे छूट देदी थी के जाओ बच्चों जिलों अपनी जिंदगी सिर्फ आज रात ये स्पेशल भाई के लिए था क्योंकि 2 दिन बाद तो उनकी आज़ादी छीनने वाली है नाइ भाभी जो आने वाली है । मेने ओर भाई ने आज रात का प्लान बनाया और एक 5 स्टार होटल बुक कर लिया वहां का हाल ओर 20 कमरे में भाई और उनके कुछ दोस्त और भाई ने शराब और शबाब दोनों का इंतजाम कर रखा था 20 लड़को के हिसाब से 18 लड़कियो का इंतजाम कर रखा था ओर एक कटीली नचनिया का भी ओर डी जे ओर खाने पीने का इंतजाम किया गया था । फिर हम अपना प्लान की हम कह जा रहे है पूरे परिवार को बताई ओर में फिर अपने कमरे में चला गया बाद में डिसाइड हुआ के जास्मिन ओर डॉक्टर कावेरी भी हमारे साथ जाएगी मेरी सुरक्षा के लिए । इधर में अपने कमरे में बोर हो रहा था तो सोचा अपनी नई गर्लफ्रैंड के कमरे में चला जाए फिर में चला गया रश्मि के कमरे में वहां पोहुचे तो देखा रूम में कोई नही है और बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आई तो मुजे लगा रश्मि नह रही होगी तो मैने सोचा उसे सरप्राइज दु ओर में वही बैठ गया थोड़ी देर बाद दरवाजा खुला बाथ रूम का ओर मेरी आँखें खुली की खुली रह गयी एक बेहद ही सेक्सी लड़की निकल के सामने आई और में देखता ही रह गया बूब्स पे टॉवल बंधे हुए झंगो तक ही था और में आंख फाडे ही उसे देखता रहा । उसकी आवाज से मेरा ध्यान टूटा ।

राधीका – अरे विश्वास भाई तुम यहाँ ।

विश्वास – ओह आई एम सॉरी राधीका मुजे नही पता था के ये तुम्हारा रूम है मुजे लगा यहां रश्मि दीदी होंगी में तो उनसे मिलने आया था ।

राधीका दीदी काफी रिलेक्स थी जैसे कुछ हुआ ही ना हो ।

राधीका – अरे ये कमरा रश्मि दी का ही है में तो यहां नहाने आई थी मेरे कमरे में गरम पानी नही आ रहा था तो विश्वास दी तो बाहर गयी है ।

विश्वास – ठीक है में चलता हूं ।

राधीका – क्यो में बहन नही हु क्या थोड़ा समय मेरे साथ भी बिता सकते हो ।

फिर दीदी अपने अंडर गारमेंट्स ओर एक पैकेट शायद जो कल लाई थी कपड़े वो थे और बाथ रूम में फिर से चले गई ओर में बेड पे उनका इंतजार करने लगा फिर कुछ देर में राधीका बाहर निकल के आई और में देखता का देखता ही रह गया दीदी एक क्रॉप टॉप ओर टाइट फिट जीन्स में थी उनको देख के में मदहोश हो गया था मगर मेने कंट्रोल रखा ।

राधीका – क्या हुआ भाई अच्छी नही लग रही क्या । ऐसे क्या देख रहे हो ।

विश्वास – दीदी पहले से कही ज्यादा सूंदर लग रही हो ऐसे ही रहा करो न क्या वो पुराने जमाने के सूट सलवार पेहेन के रखती हो ।

विश्वास – अरे वह दीदी क्या खुशबू आ रही ह अपने से कोनसा इत्र इस्तेमाल करती हो आप ।

राधीका – शर्मा के बोली थैंक्स भाई मगर में कोई इत्र इस्तेमाल नही करती ये खुशबू कुदरती है और हे भी या नही पता नही आज से पहले क्योंकि किसी ने कहा ही नही तुम हो जो ये कह रहे हो ।

विश्वास – नही दी आ रही है पास जाओ तो ओर अति है ।

फेर कुछ देर युही बाते करते हुए हमें दोपहर हो गयी फिर मुजे एक कॉल आया और में बाहर चला गया होटल के सारे इंतजाम देखे और शाम की तयारी करने लगा शाम को 7 बजे मैं जास्मिन भाई और कावेरी हम सब होटल के लिए निकल पड़े वहां जाके जास्मिन ने मेरे रूम में रूम नंबर 11 में कैमरे लगा दिए और कावेरी अपने साथ हर तरह के एन्टी डॉट लाई हुई थी क्योंकि जास्मिन को शक था के कुछ हो सकता है तो सब रांगे हाथो पकड़ने का फैसला किया तो हमने एंट्रेंस पे किसी की रोका नही सब जो भी इन्विटेड थे और जो लडकिय थी सब होटल पोहच चुकी थी आज रात रंगीन होने वाली थी ये तो पता है मुजे फेर पार्टी शुरू हुई धीरे धीरे रंग जमने लगा शराब और शबाब अपने जोरो पे था सब एन्जॉय कर रहे थे अपने अपने लिए एक एक पार्टनर चुन ली थी सिर्फ भाई और में ही खाली हाथ थे भाई तो दो चार जाम लगा रहे थे मगर में तो वो भी नही करता हु तो बस सबको इंजॉय करते देख रहा था और कहता भी क्या भाई से की मुजे भी लड़की चाहिए फेर वहां नचनिया का डांस हुआ वो मुह छुपाए डांस कर रही थी मगर उसकी आंखें नशीली थी और कमर बिल्कुल नागिन थी वो जो अपनी आंखों से सब को मार रही थी एक बार को सब अपनी अपनी बंदिया छोड़ के सब उसके साथ झूम उठे मगर वो कहते है ना जो शुरू हुआ है उसे खत्म भी होना पड़ता है । तो ऐसे ही उस नागिन का भी डांस खत्म हो गया जाते जाते हमे उसके चेहरे की भी झलक मिल गयी फिर हम सबने खाना खाया और फिर सभी अपने अपने रूम में चले गए भाई और मेरे रूम में कोई नही होना था बाकी के रूम में जिसमे भाई के दोस्त थे सब अपनी अपनी लड़की लेके चले गए में थक हार के अपने रूम में आया तो अंदर का माहौल देख कर फुला ना समाया कैंडल लाइट में गुलाब की खुशबू ऐसा लग रहा था शादी भाई की है और सुहाग रात मेरी ओर जैसे ही मेरे नजर मेरे बेड पे पड़ी तो वहां एक अप्सरा लेती हुई थी दूसरी तरफ मुह करके ।

विश्वास – कोन कोन हो तुम ओर यहां क्या कर रही हो ।

जैसे ही वो मेरी तरफ मुड़ी मेरी ऊपर की सांस ऊपर ओर नीचे की सांस नीचे रह गयी ये वो ही नागिन थी जिसने अपने डांस से ही कई लड़को का ऑर्गेसम हो गया था मुजे लगा भाई ने मेरे लिए स्पेशल इंतेजाम किये है अखिम में भी तो मर्द बन गया हूं आज रात ये मेरी ही है ।

विश्वास – सुनो नाम क्या है तुम्हारा ।

??? – में बिंदु प्यार से जो मर्जी बुलालो मगर सिर्फ आज रात के लिए ।

विश्वास – क्यों कही जा रही हो क्या तुम आज रात के बाद अरे तुम्हे दीवाना बना दूंगा एक रात में ही तुम बार बार आओगी मेरे पास ।

बिंदु – बातो के ही शेर हो क्या कब से टाइम खराब किये जा रहे हो रात बोहुत छोटी है और काम बोहुत बड़ा करना है तो शुरू करे ।

मेने हाँ में गर्दन हिला के जवाब दिया और झट से बिस्तर पे जा पाहुचा ओर जैसे ही उस पर से चादर हटाई एक बोहुत ही कड़क तराशा हुआ कामुक जिस्म था और मेरा लंड उसको सलामी दी रहा था मेने भी जल्दी से अपने सारे कपड़े उतारे ओर उसके होंठो से होंठ जोड़ दिया और 15 मिनट तक उसके होंठ चूस रहा था फिर में उसके बूब्स पे टूट पड़ा और निप्पल्स हो चूसने लगा दबाने लगा दबा दबा के बूब्स लाल कर दिए थे फिर हम 69 की पोजीशन में आ गए वो मेरा लंड चूस रही थी और में उसकी कवारी चुत चूस रहा था चाट रहा था और वो तड़प उठी और अंदर डालने के लिए कहने लगी और मैने उसको कुतिया बना के उसकी चुत पे अपना लैंड टिकाया ओर एक धक्का मारा और टोपा चुत में उतार दिया जो उसकी सील तोड़ता हुआ अंदर चला गया और वो तिलमिला उठी में कुछ देर रुक रहा फेर मेने एक जोरदार धक्का लगाया और अपना आधा लुंड उसकी चुत में उतार दिया और धक्का मरता गया आधा घंटा चोदता रहा फेर एक जोरदार धक्का मारा और पूरा उसके अंदर उतार दिया और एक घंटे तक चोदता रहा फेर में उसी में झड़ गया फिर हम सारी रात चुदाई करते रहे और फर्म सुबह 4 बजे सो गए और फिर मुजे सोते हुए कुछ चुभा ओर सुबह 8 बजे मेरी आँख खुली तो सर में बोहुत तेज़ दर्द हो रहा था और आस पास कमरे में जास्मिन कावेरी ओर भाई था और में नग्न अवस्था मे लेटा हुआ था चादर ढका हुआ था ।

भाई – क्या हुआ था कल रात यहां ।

विश्वास – भाई बिंदु कहा है वो थी काल मेरे साथ ।

भाई – कोन बिंदु ।

विश्वास – भाई अपने ही तो कल रात मेरे कमरे में भेजी थी मेरे लिए ।

भाई – नही मेने किसी को नही बेजा में ऐसा क्यों करूँगा भाई वो तो तुम्हे मारने आई थी और अपना काम करके चली गयी थी भाग गई साली । वो तो कावेरी ने सही समय पे एंटी डॉट देखे तुम्हारी जान बचाई है जल्दी से तयार हो जाओ घर जाना है सब वैट कर रहे है और उस बिंदु को में देख लूंगा ।

विश्वास – नही भाई अब ये खेल मेरा है मुजे अपने हिसाब से खेलने दो उस बिंदु को जाने दो वो जहा जा रही है जास्मिन उसपे नजर रखो ओर मुजे पल पल की खबर दो ।