आंटी की चूत का बुलावा

हेलो दोस्तो, मेरा नाम नितिन है. आप लोग शायद मुझे जानते हैं इसके पहले वाली मेरी दोनों स्टोरी के लिए मुझे बहुत मेल मिले उसके लिए थैंक यू, ऐसे ही मेल भेजते रहना मुझे.. अब स्टोरी प्यार आता हूं. मेरी उम्र १९ साल है और मैं बहुत ही स्मार्ट और गुड लुकिंग लड़का हूं. मुझे बड़ी उम्र वाली सारी औरतें अच्छी लगती है. मेरे लंड का साइज ६.५ इंच है.

यह घटना ३ साल पहले की है, जब मेरे घर वालों ने मेरी पढ़ाई की चिंता करते हुए मेरा ट्यूशन लगा दिया था. मैं पहले कुछ दिन गया वहां तो सब कुछ ठीक था. पर कुछ दिन बाद वह सर मुझ पर बहुत गुस्सा करने लगे. मुझे वह पसंद नहीं थे. तो एक दिन मेरा जब मेरा टेस्ट था और मैं कुछ पढ़ नहीं पाया था इसलिए मैं ट्यूशन गया ही नहीं उस दिन. और सर के घर से थोड़ी दूर पर एक बाजार था वहीं पर घूम रहा था.

उसके अगले दिन भी नहीं गया. तो सर ने कॉल किया मुझे तो मैंने उन्हें कहा कि मैं उनसे नहीं पढूंगा और ट्यूशन छोड़ दिया. पर मैं अपने घरवालों को तो बता नहीं सकता था यह बात. तो में टयूशन के दिन घर से निकलता और उसी बाजार के आसपास घूम के घर वापिस आ जाता और जब महीना खत्म होता तो ट्यूशन फी भी रख लेता.

मुझे यह करने में बहुत मजा आया एक महीना एक बार में घर में ब्लू फिल्म देख रहा था और तभी हमार रूम में घुस गई मैंने कंप्यूटर बंद कर दिया वह देख नहीं पाई अम्मा ने कहा कि तेरा ट्यूशन है जाएगा तब तो मैं उस टाइम बहुत गर्म था और चोदने का मन कर रहा था मैं कपड़े पहन कर घर से निकल गया और लड़कियां देखने लगा सोच रहा था जो मिल जाए तो छोड़ दूंगा

मैं फिर बाजार में घूमने लगा और एक सब्जी की दुकान पर एक आंटी को देखा बिलकुल हॉट उम्र ज्यादा थी पर पूरी रांड लग रही थी, उसने साड़ी पहन रखी थी मैं उसके पास गया और नींबू का दाम पूछने के बहाने छूने लगा. वह बड़े अजीब ढंग से मुझे देख रही थी, मैंने हाथ हटा लिया फिर वहां से चली गई और मैं उसका पीछा करने लगा. थोड़ी देर बाद भीड़ के कारण वह कहीं चली गई और मैं देख नहीं पाया.

अगले दिन भी मैं वहां गया पर वह पूरे बाजार में कहीं दिखी नहीं. मैं उदास होकर घर आ गया और उसके बारे में सोचने लगा. तिन दिन बाद में वह आंटी उसी सब्जी की दुकान पर खड़े होकर इधर उधर देख रही थी. मैं खुश होकर वहां गया और सब्जी वाले को कहा कि कद्दू कितने का है और वह हंसने लगी और वहां से जाने लगी. मैं भी उसके पीछे जाने लगा. वो थोड़ा थोड़ा पीछे मुड़कर मुझे देख रही थी और मैं भी उसके पीछे पीछे चले जा रहा था, और उसकी गांड देखकर सोच रहा था काश मुझे मिल जाए? वह थोड़ी देर बाद वह बाजार से निकल गई और मैं भी निकल गया.

वह रिक्शा स्टैंड के पास खड़ी होकर मुझे देखने लगी मैं भी वहीं चला गया. थोड़ी देर में वो रिक्शा में बैठकर जाने लगी, तो मैं भी अपनी साइकिल लेकर उनका पीछा करने लगा. थोड़ी दूर जाने के बाद वह एक तालाब के पास उतर गई. मैं भी वहीं पहुंच गया.

उस समय शाम का टाइम था, तो ज्यादा लोग नहीं थे. वहां मैं उस आंटी के सामने गया तो वह बोली कबसे मेरे पीछे क्यों पड़ा है तू? मैंने कहा ऐसे ही मेरी मर्जी. फिर वह जाने लगी और मैं वहीं रुका रहा. एक गली में मुड़ते समय उन्होंने इशारा करके मुझे बुलाया तो जल्दी से वहां गया, तो बोली मेरे घर तक यह सामान ले चलोगे? मैंने हां कर दिया.

उनके घर पहुंचकर मैंने साइकिल से सामान उतार के गेट पर खड़ा था, उन्होंने मुझे अंदर बुलाया में गया अंदर, उन्होंने पानी दिया और कहा बैठ जाओ. मैंने बैठ कर पानी पी रहा था, वह कपड़े बदलने चली गई मैं उस टाइम कुछ गलत नहीं सोच रहा था, थोड़ी देर बाद वह एक स्लीवलेस नाइटी पहन के आई. उसे देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया उसी टाइम वह मेरे से बात करने लगी. मैंने पूछा कि आपके साथ और कौन रहता है?

तो वो बोली कि उनके हस्बैंड मर चुके हैं. और उनका कोई बच्चा भी नहीं है. इसलिए अकेली रहती है. मुझे बहुत अजीब लगा. मैंने उनसे पूछा आपका कोई बच्चा क्यों नहीं है? तो वह दुखी होकर बोली कि ऐसे ही, मेरा लंड कुछ ज्यादा ही खड़ा था. तो वह उसे दिख गया तो बोली तुम मेरा पीछा क्यों कर रहे थे? मैं थोड़ा हिचकीचाकर बोला कि ऐसे ही, आप अच्छी लगी मुझे. वह बोली हां जवानी में होता है ऐसा. में शरमा गया, वह बोली जींस में क्या हुआ है तुम्हारे??

मैंने कहा कुछ नहीं, वह बोली जा के टॉयलेट करके आ जाओ. मुझे समझ आ गया कि उन्हें मेरा तना हुआ लंड दिख गया है. मैं टॉयलेट में गया और मुठ मारने लगा. मेरा इतना सारा वीर्य कभी नहीं निकला था, और मैंने उसे धोया नहीं और वैसे ही बाहर आ गया मेरी चड्डी में पूरा लगा हुआ था, उसके कारण उसकी महक आ रही थी. मैं आंटी की साइड में जाकर बैठ गया वो बोली टॉयलेट करने में इतना टाइम कैसे लग गया? मैंने कहा ऐसे ही.

तो उन्हें शायद महक आ गई, उन्होंने कहा यह महक कहां से आ रही है? मैंने कहा पता नहीं. फिर वह बोली की शायद पेंट से आ रही है, उतारो. तो मैं डर गया और बोला नहीं तो वहां कुछ नहीं है. वह गुस्से में बोली उतार जल्दी से. मैं डर गया और पेंट उतार दिया. वह अंडरवेअर सूंघ के बोली यह तो कुछ और ही है मैंने कहा क्या? वह बोली मेरे साथ आओ मैं डर गया था कि किसी को बताना दे. वो मुझे बाथरूम में ले गई और बोली इसे भी उतारो मैं डर के बोला नहीं.

वह गुस्से से बोली उतार जल्दी. मैंने डरते डरते उतार दिया, वह भी मेरा लंड देखकर चौंक गई और बोली इतना बड़ा कैसे? मैंने कहा वह वैसा ही है. वह उसने हाथ में लेकर हिलाने लगी मुझे बहुत मजा आ रहा था. वह बोली मेरे पती का तो छोटा था. इसलिए मुझे कभी मजा नहीं मिला. मैंने कहा मेरा वाला मजा देगा आपको पूरा. वो हँसने लगी और लंड को लेकर चूसने लगी. मुझे बड़ा मजा आ रहा था.

गुड बहुत अच्छी तरह चूस रही थी और थोड़ी देर बाद मेरा बहुत सारा सीमेन निकल गया और लंड झूल गया. वह मुझे बेडरूम ले गई और मेरा टी शर्ट उतार दिया और फिर लीप कीस करना स्टार्ट कर दिया. हमने ५ मिनट किस के बाद मैंने उन का नाइटी उतार दिया और देखा उन्होंने पेंटि नहीं पहनी थी और चूत पर बहुत बाल थे, मैं उनके पास गया और ब्रा का हुक खोल दिया और उनके ४२के बूब्स बाहर आ गए. मैं राइट वाले को दबाने लगा और लेफ्ट वाले को जोर जोर से चूस रहा था.

वह आह्ह अह औउ हहह होह्ह हह कर रही थी और अपने चूत के साथ खेल रही थी मैंने करीब ३० मिनट बूब्स चुसे, उसके बाद उसके चूत के बाल थोड़े साइड कीये और पिंक कलर की चूत में जैसे ही मुह लगाया वह उछल गई और में चुसने लगा. थोड़ी देर बाद उनका नमकीन पानी आ गया और मैं सारा पि गया. फिर अपना लंड चूसने को कहा और वो चूसने लगी. थोड़ी देर बाद लंड खड़ा हो गया वह बोली १५ साल से नहीं चूदी हूं अब चोद बहन चोद.

में लंड चूत के छेद पर ले गया और जोर से धक्का दिया, वह चिल्ला उठी आह्ह अह्ह्ह औऊ हहह हहह रुक जा कुत्ते धीरे से डाल, १५ साल बाद जा रहा है, मैं रूक गया और उन के बूब्स को दबाने लगा. जब वह शांत हुई तो एक और जोर का झटका दिया और तिन इंच अंदर चला गया, उनकी चीख निकल गई उईइ माँ फट गई मेरी चूत. में धीरे धीरे लंड और डालने लगा वह रो रही थी पर मैं रुका नहीं. मैं लंड अंदर बाहर करने लगा.

५ मिनट बाद वो शांत हुई और मेरे धक्के की स्पीड ज्यादा हो गई और उन्हें भी मजा आने लगा और वह औउ ईई एय्स्स्स औऊ सस यया यू इई और मारो करने लगी, पूरे रूम में ठप ठप छप छप होने लगा. ४० मिनट तक बिना रुके चोदने के बाद में जड गया. उसके बीच वो चार बार जड चुकी थी. और उनकी बॉडी ढीली पड़ चुकी थी.

मैंने लास्ट के १० धक्के इतनी जोर से दीए की बेड भी हिलने लगा और मैंने माल अंदर ही छोड़ दिया, और वहीं पर लेट गया. फिर हम दोनों उठे और एक साथ नहाए वह बोली कि आज बहुत मजा आया और चुदाई का असली सुख आज मिला. मैं लेट हो रहा था तो मैंने कहा कि मैं घर जा रहा हूं. उन्होंने अपना नाम भारती बताया और अपना नंबर दिया. फिर मैंने उन्हें एक किस दिया और कपड़े पहन कर घर आ गया. उसके बाद हमने बहुत बार चुदाई की..

“आंटी की चूत का बुलावा” पर एक उत्तर

  1. I am a callboy agr koi aesi unsatisfied bhabhi aunty ya housewife jinke husband bahar rahte h ya vo unko satisfied nahi krte h to vo lady mujhe mail ya contact kare m aapko full satisfied karunga m aapki chut or gand pura andar tk chatunga jeeb se phir apne Lund se chudai karunga meri service bahut jayada best h or safe h 07060966176

टिप्पणिया बंद कर दी गयी है।