प्यार , सम्भोग ओर धोखा 8

सुबह उठके में नहाया antarvasna धोया ओर उठ कर पिता जी को कॉल किया । पिताजी – हेलो विश्वास – पिताजी प्रणाम आप आ रहे है ना । पिताजी – हाँ मेरे बच्चे आ रहा हु कोई और काम है… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 7

रात को मैने पिता जी antarvasna से बात की सारी इन्फॉर्मेशन ली और कल की तैयारी करने लगा प्रोजेक्ट बनाने लगा क्या होगा कैसे होगा आसान भाषा मे ताकि में गांव को समझा सकू । मेने पिता जी से वेदिका… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 6

अगले दिन में उठा antarvasna और तयार होके नीचे kamukta आया तो माँ आरती की थाल लिए मेरा इंतजार कर रही थी । उनकी आंखें तरस गयी थी मुजे ऐसे देखने के लिए उन्होंने मेरी आरती उतारी ओर फेर हम… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 5

तो आज थी मेरे जन्मदिन antarvasna की बोहुत बड़ी पार्टी जिसमे शहर के नामी गिनामी लोग आ रहे थे ये पहली बार था के इतना बड़ा आयोजन किया जा रहा था मेरे लिए क्योंकि मेरे पिता जी को अब समज… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 4

तो आज हम बात करते antarvasna है मेरी 7 दिन का दर्दनाक उपचार करा के मुजे ओर मेरे डॉक्टर और फैमिली को कुछ अच्छा होने की उम्मीद है वैसे में आप लोगो को कुछ जरूरी बता दु की उस फैमिली… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 3

मेरे ठीक होने antarvasna से पहले में आप लोगो को अपने परिवार की दुश्मनी की दास्तान बताना चाहता हु ये सब शुरू हुआ मेरे दादा जी के मोत के बाद हमारे झगड़े बोहुत होने लगे प्रोपेर्टी को लेकर हमारे बोहुत… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 2

अब आते है अपने antarvasna परिवार पे जो इतिहास kamukta नही था मेरे दादा ओर दादी की तरह मेरे दादा जी ने अपने सभी बछो की शादी कराई ओर मेरे पिताजी की 2 शादी हुई उनकी पहली पत्नी रहस्यमयी तरीके… Read the rest

प्यार , सम्भोग ओर धोखा 1

आज मेरे सभी antarvasna दुश्मन खत्म हो चुके हैं मगर फिर भी जीवन म बोहुत उथल पुथल है क्योंकि जिनको खोया वो भी अपने है और जिनको खत्म किया वो भी अपने है कहने को एक परिवार मगर सब एक… Read the rest

मैं बना मेरी बीवी का ग़ुलाम 2

हमारे ट्रैवलिंग एजेंट antarvasna ने हमारे लिए गाइड को बुला दिया | उसका नाम इरफ़ान था,उसकी बॉडी पूरी तरह फिट थी,हाइट 6 फ़ीट की होगी,दिखने में पूरी तरह मॉडल लग रहा था | उसने बड़े ही अदब से हमे सलाम… Read the rest

मंगलसूत्र (एक लघु-कथा) 15

मैं उत्तर में बस antarvasna मुस्कुराया, और अंजुली में पानी भर कर अल्का के ऊपर फेंकने लगा। अल्का भी अपनी शर्म छोड़ कर मेरे साथ खेल में शामिल हो गई। कुछ ही पलों में हम दोनों पूरी तरह से भीग… Read the rest